दमोह के इतिहास में पहली बार एक साथ दोनों घुटनों का सफल प्रत्यारोपण संपन्न sampann Aajtak24 News

 

दमोह के इतिहास में पहली बार एक साथ दोनों घुटनों का सफल प्रत्यारोपण संपन्न sampann Aajtak24 News 

दमोह - जिले में पहली बार किसी मरीज़ का एक साथ एक समय में दोनों घुटनों का री रिप्लेसमेंट दोनों पैरों के घुटना जोड़ प्रत्यारोपण हुआ है  नगर के श्रीवास्तव कॉलोनी निवासी बुजुर्ग महिला आशा खत्री जो पैरों में घुटनों के दर्द से परेशान थी। जिन्हें चलने फिरने में काफी दिक्कत हुआ करती थी  दोनों घुटनों का एक साथ एक समय में टोटल रिप्लेसमेंट घुटनों का प्रत्यारोपण किया गया। यह जटिल सर्जरी दमोह के मिशन अस्पताल में संपन्न हुई जहाँ डॉ तन्मय दुआ द्वारा यह ऑपरेशन किया गया। इससे पहले जिले में कभी भी दोनों घुटनों का प्रत्यारोपण एक साथ नहीं किया गया। यह पहली ऐसी सर्जरी है जो सफलतापूर्वक एक साथ एक समय में महिला के दोनों घुटने बदले गये ऑपरेशन के चार दिन बाद ही महिला मरीज  चलने फिरने लगी। महिला के परिजनों ने ऑपरेशन सफल होने पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि इससे पहले हमनें कई बड़े महानगरों मे जाकर देखा  अपोलो अस्पताल में भी माँ का इलाज कराया उन सबसे बेहतर तो सुविधाएं  हमारे दमोह जिले के मिशन अस्पताल में ही उपलब्ध हैं। धन्यवाद करते है यहां के डॉक्टर और स्टॉ‍फ मैनेजमेंट का।  गौरतलब है कि इससे पहले हडडी रोग से जुड़े कई बड़े ऑपरेशन मिशन अस्पताल में संपन्न हुए हैं। जिले में पहली बार घुटने के दूरबीन पद्धति द्वारा लीगामेंट  6 सर्जरी हो चुकी हैं। इसके अलावा टोटल री रिप्लेसमेंट कूल्हा का प्रत्याेरोपण पूर्ण पहली बार यहीं हुआ जो सफलतापूर्वक किये गए।


damoh ke itihaas mein pahalee baar ek saath donon ghutanon ka saphal pratyaaropan sampann
damoh - jile mein pahalee baar kisee mareez ka ek saath ek samay mein donon ghutanon ka ree riplesament donon pairon ke ghutana jod pratyaaropan hua hai nagar ke shreevaastav kolonee nivaasee bujurg mahila aasha khatree jo pairon mein ghutanon ke dard se pareshaan thee. jinhen chalane phirane mein kaaphee dikkat hua karatee thee donon ghutanon ka ek saath ek samay mein total riplesament ghutanon ka pratyaaropan kiya gaya. yah jatil sarjaree damoh ke mishan aspataal mein sampann huee jahaan do tanmay dua dvaara yah opareshan kiya gaya. isase pahale jile mein kabhee bhee donon ghutanon ka pratyaaropan ek saath nahin kiya gaya. yah pahalee aisee sarjaree hai jo saphalataapoorvak ek saath ek samay mein mahila ke donon ghutane badale gaye opareshan ke chaar din baad hee mahila mareej chalane phirane lagee. mahila ke parijanon ne opareshan saphal hone par prasannata jaahir karate hue kaha ki isase pahale hamanen kaee bade mahaanagaron me jaakar dekha apolo aspataal mein bhee maan ka ilaaj karaaya un sabase behatar to suvidhaen hamaare damoh jile ke mishan aspataal mein hee upalabdh hain. dhanyavaad karate hai yahaan ke doktar aur sto‍ph mainejament ka. gauratalab hai ki isase pahale hadadee rog se jude kaee bade opareshan mishan aspataal mein sampann hue hain. jile mein pahalee baar ghutane ke doorabeen paddhati dvaara leegaament 6 sarjaree ho chukee hain. isake alaava total ree riplesament koolha ka pratyaaeropan poorn pahalee baar yaheen hua jo saphalataapoorvak kiye gae.

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News