महर्षि नारद जयंती पर पत्रकार संगोष्ठी सम्पन्न sampann Aajtak24 News


महर्षि नारद जयंती पर पत्रकार संगोष्ठी सम्पन्न sampann Aajtak24 News 

बड़वानी - विश्व संवाद केन्द्र जिला बड़वानी के तत्वावधान में प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी नारद जयंती पर पत्रकार, पत्र लेखक एवं साहित्य अनुरागियो की संयुक्त गोष्ठी का आयोजन बड़वानी नगर स्थित वैष्णवी एमिनेंट विद्यालय में किया गया। इस आयोजन में मंचासीन अतिथियों में मुख्य वक्ता डॉक्टर अनिल पाटीदार, विभाग प्रचार प्रमुख एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे श्री अजय गुप्त एवं प्रेस क्लब अध्यक्ष प्रवीण सोनी उपस्थित थे, सर्वप्रथम अतिथियो के द्वारा महर्षि नारदजी के चित्र पर माल्यापर्ण एवं दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया, तत्पश्चात अतिथियो का स्वगात श्रीफल भेंट कर किया गया, अतिथियो का परिचय दीपक जैमन ने प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता डॉक्टर पाटीदार ने महर्षि नारदजी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उन्हे सृष्टि का प्रथम पत्रकार बताया , वे तीनो लोक में विचरण करते थे एवं ब्रम्हा, विष्णु एवं महेश के प्रत्यक्ष सम्पर्क मंें रहते थे, साथ ही  ब्रम्हाजी के वे मानसपुत्र भी माने जाते है, उन्हे सभी वेदो एवं पुराणो का ज्ञान था, जिसके कारण उनके द्वारा सम्पूर्ण सृष्टि में सूचनाओ का आदान-प्रदान किया जाता था एवं लोक कल्यााण हेतु सतत प्रयास किये जाते थे, वर्तमान समय में भी पत्रकारिता के तीन प्रमुख उद्देश्य है, ज्ञान, सूचना एवं मनोरंजन, जिसके माध्यम से पत्रकारिता प्रिन्ट, इलेक्टानिक एवं सोषल मीडिया के स्वरूप में की जाती है, इसलिये पत्रकारो ने नारदजी की भॉति पत्रकारिता करना चाहिये उनके हर कार्य में लोक कल्याण, जन कल्याण होना चाहिये। सत्य को उजागर कने वाली एवं बिना पक्षपात के पत्रकारिता की जाना चाहिये। तथ्यो से भंली-भॅंति अवगत होने के बाद ही यथा स्वरूप में ही समाचारो का प्रसार होना चाहिये। उन्हाने अनेक उदाहरणो के माध्यम से पत्रकारिता के इतिहास एवं वर्तमान स्वरूप पर प्रकाष डाला। इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे श्री अजय गुप्ता, प्रेस क्लब अध्यक्ष प्रवीण सोनी, रूपेश दवाने, नवनीत रावल एवं  शिवपालसिंह सिसौदिया ने अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम में आभार प्रदर्शन विजय यादव ने व्यक्त किया। कार्यक्रम  का संचालन राजेश राठौड़ ने किया, कार्यक्रम में बड़ी संख्या में पत्रकार बंधु, पत्र लेखक एवं साहित्य अनुरागी उपस्थित थे। 



maharshi naarad jayantee par patrakaar sangoshthee sampann
badavaanee - vishv sanvaad kendr jila badavaanee ke tatvaavadhaan mein prativarshaanusaar is varsh bhee naarad jayantee par patrakaar, patr lekhak evan saahity anuraagiyo kee sanyukt goshthee ka aayojan badavaanee nagar sthit vaishnavee eminent vidyaalay mein kiya gaya. is aayojan mein manchaaseen atithiyon mein mukhy vakta doktar anil paateedaar, vibhaag prachaar pramukh evan kaaryakram kee adhyakshata kar rahe shree ajay gupt evan pres klab adhyaksh praveen sonee upasthit the, sarvapratham atithiyo ke dvaara maharshi naaradajee ke chitr par maalyaaparn evan deep prajjavalit kar kaaryakram ka shubhaarambh kiya gaya, tatpashchaat atithiyo ka svagaat shreephal bhent kar kiya gaya, atithiyo ka parichay deepak jaiman ne prastut kiya. kaaryakram ke mukhy vakta doktar paateedaar ne maharshi naaradajee ke jeevan par prakaash daalate hue unhe srshti ka pratham patrakaar bataaya , ve teeno lok mein vicharan karate the evan bramha, vishnu evan mahesh ke pratyaksh sampark manen rahate the, saath hee bramhaajee ke ve maanasaputr bhee maane jaate hai, unhe sabhee vedo evan puraano ka gyaan tha, jisake kaaran unake dvaara sampoorn srshti mein soochanao ka aadaan-pradaan kiya jaata tha evan lok kalyaaaan hetu satat prayaas kiye jaate the, vartamaan samay mein bhee patrakaarita ke teen pramukh uddeshy hai, gyaan, soochana evan manoranjan, jisake maadhyam se patrakaarita print, ilektaanik evan soshal meediya ke svaroop mein kee jaatee hai, isaliye patrakaaro ne naaradajee kee bhoti patrakaarita karana chaahiye unake har kaary mein lok kalyaan, jan kalyaan hona chaahiye. saty ko ujaagar kane vaalee evan bina pakshapaat ke patrakaarita kee jaana chaahiye. tathyo se bhanlee-bhainti avagat hone ke baad hee yatha svaroop mein hee samaachaaro ka prasaar hona chaahiye. unhaane anek udaaharano ke maadhyam se patrakaarita ke itihaas evan vartamaan svaroop par prakaash daala. is avasar par kaaryakram kee adhyakshata kar rahe shree ajay gupta, pres klab adhyaksh praveen sonee, roopesh davaane, navaneet raaval evan shivapaalasinh sisaudiya ne apane vichaar vyakt kiye. kaaryakram mein aabhaar pradarshan vijay yaadav ne vyakt kiya. kaaryakram ka sanchaalan raajesh raathaud ne kiya, kaaryakram mein badee sankhya mein patrakaar bandhu, patr lekhak evan saahity anuraagee upasthit the.

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News