नीट परीक्षा की तैयारी में मदद करने प्रशासन कर रहा समन्वित प्रयास prayas Aajtak24 News

 

नीट परीक्षा की तैयारी में मदद करने प्रशासन कर रहा समन्वित प्रयास prayas Aajtak24 News 

सरगुजा - कलेक्टर श्री विलास भोसकर के नेतृत्व में अभिनव पहल स्वरूप जिले में नीट की तैयारी की निःशुल्क आवासीय कोचिंग की शुरुआत 28 मार्च से हो रही है। इसके साथ ही 1 अप्रैल से जिले के सातों विकासखंड से चयनित कुल 35 स्कूलों में उत्कृष्ट क्लासेस शुरू होंगी। जिले के कक्षा 12वीं में पढ़ने वाले और नीट परीक्षा में सम्मिलित हो रहे छात्र-छात्राओं की परीक्षा की तैयारी में मदद करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा निःशुल्क नीट कोचिंग की यह पहल की गई है। नीट निःशुल्क आवासीय कोचिंग हेतु अब तक 100 बच्चों का रजिस्ट्रेशन किया गया। नीट कोचिंग एवं उत्कर्ष क्लासेस के सफल संचालन के लिए बुधवार को कलेक्टर ने मल्टीपरपज स्कूल सभाकक्ष में आयोजित बैठक में शिक्षकों का हौसला बढ़ाया। कलेक्टर श्री भोसकर ने इस अवसर पर कहा कि जिला प्रशासन का प्रयास है कि आदिवासी बहुल सरगुजा जिले के बच्चों को नीट जैसी परीक्षा की तैयारी करने में किसी तरह की दिक्कत का सामना ना करना पड़े, विशेष करके निर्धन, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के बच्चों को पढ़ाई में अतिरिक्त मदद मिल सके। इसके लिए ही प्रशासन द्वारा निःशुल्क आवासीय कोचिंग की सुविधा शुरू की जा रही है। अब तक सौ बच्चों ने रजिस्ट्रेशन कराया है, यदि कुछ बच्चे भी चयनित होते हैं, तो हमारी मेहनत सफल होगी। इसी तरह ग्रीष्मकालीन अवकाश में उत्कर्ष क्लासेस शुरू की जा रही है। जिले में 35 स्कूल चयनित किए गए हैं जहां इस सत्र में 10वीं और 12वीं में पढ़ने वाले बच्चों के लिए गणित, विज्ञान, जीव विज्ञान, रसायन, भौतिकी और अंग्रेजी का अध्यापन किया जायेगा जिससे वे अगली कक्षा के लिए अग्रिम रूप से तैयार रहें। बच्चों की मदद करने के लिए अपना सहयोग करें। आपका बहुमूल्य समय बच्चों की जिंदगी संवार सकता है। उन्होंने कहा कि एक कलेक्टर होने के नाते आज प्रोफेशनल लाइफ में जहां हैं, उसके लिए आप ही की तरह एक शिक्षक ने सपोर्ट किया है, तब इस पद पर पहुंचे हैं। एक बच्चे को हम बाहरी रूप से संवार सकते हैं पर शिक्षक ही बच्चों को अंदर से संवारते हैं। एक शिक्षक में इतनी ताकत होती है कि वे बच्चे के भविष्य को बना सकते हैं। उन्होंने शिक्षकों से स्वेच्छा से काम में योगदान देने कहा।  



Administration is making coordinated efforts to help in preparation for NEET exam

Surguja - As an innovative initiative under the leadership of Collector Shri Vilas Bhoskar, free residential coaching for NEET preparation is starting in the district from March 28. Along with this, excellent classes will start in a total of 35 schools selected from the seven development blocks of the district from April 1. This initiative of free NEET coaching has been taken by the district administration to help the students studying in class 12th of the district and appearing in the NEET exam in their preparation for the exam. So far 100 children have been registered for NEET free residential coaching. For the successful conduct of NEET coaching and Utkarsh classes, the Collector encouraged the teachers in a meeting held in the Multipurpose School auditorium on Wednesday. Collector Shri Bhoskar said on this occasion that the district administration is trying to ensure that the children of tribal dominated Surguja district do not face any problem in preparing for exams like NEET, especially the children of poor and economically weaker sections. Can get additional help in studies. For this, the administration is starting the facility of free residential coaching. Till now, hundred children have registered, if some children are also selected, then our hard work will be successful. Similarly, Utkarsh classes are being started during summer vacations. 35 schools have been selected in the district where in this session, Mathematics, Science, Biology, Chemistry, Physics and English will be taught to the children studying in class 10th and 12th so that they can be prepared in advance for the next class. Do your part to help children. Your valuable time can improve the lives of children. He said that being a collector, where I am today in my professional life, I have reached this position because a teacher like you has supported me. We can groom a child externally but it is the teachers who groom children from within. A teacher has so much power that they can shape the future of the child. He asked the teachers to contribute to the work voluntarily.

Comments

Popular posts from this blog

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News

कुल देवी देवताओं के प्रताप से होती है गांव की समृद्धि smradhi Aajtak24 News