स्वच्छता में अव्वल आने वाली ग्राम पंचायत को सांसद निधि से 11 लाख रुपये का पुरस्कार दिया जायेगा - सांसद श्री फिरोजिया | Swachchta maim awwal ane wali gram panchayat ko sansad nidhi se 11 lakh rupye ka puraskar diya jaega

स्वच्छता में अव्वल आने वाली ग्राम पंचायत को सांसद निधि से 11 लाख रुपये का पुरस्कार दिया जायेगा - सांसद श्री फिरोजिया

गांधी जयन्ती पर स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्तर्गत स्वच्छ भारत दिवस पर जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजित

स्वच्छता में अव्वल आने वाली ग्राम पंचायत को सांसद निधि से 11 लाख रुपये का पुरस्कार दिया जायेगा - सांसद श्री फिरोजिया

उज्जैन (रोशन पंकज) - शनिवार को गांधी जयन्ती के उपलक्ष्य में सिंहस्थ मेला कार्यालय के सभाकक्ष में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्तर्गत स्वच्छ भारत दिवस के अवसर पर जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर सांसद श्री अनिल फिरोजिया, जिला पंचायत के अध्यक्ष श्री करण कुमारिया, उपाध्यक्ष श्री मदनलाल चौहान, कलेक्टर श्री आशीष सिंह, सीईओ जिला पंचायत सुश्री अंकिता धाकरे, श्रीमती कीर्ति मिश्रा, श्रीमती कविता उपाध्याय एवं अन्य अधिकारीगण तथा विभिन्न ग्राम पंचायतों के सचिव और प्रधान मौजूद थे।

स्वच्छता में अव्वल आने वाली ग्राम पंचायत को सांसद निधि से 11 लाख रुपये का पुरस्कार दिया जायेगा - सांसद श्री फिरोजिया

​इस दौरान सांसद श्री अनिल फिरोजिया ने कहा कि गांधी जयन्ती के अवसर पर शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी नागरिकों में स्वच्छता की आदत डाली जाना जरूरी है। स्वच्छता के प्रति लोग जागरूक हो रहे हैं। सांसद ने घोषणा की कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत जो भी ग्राम पंचायत अव्वल आयेगी, उसे सांसद निधि से 11 लाख रुपये का पुरस्कार दिया जायेगा। दूसरे स्थान पर आने वाली पंचायत को पांच लाख रुपये और तीसरे स्थान पर आने वाली पंचायत को तीन लाख रुपये का पुरस्कार दिया जायेगा। इसके अलावा सांसद द्वारा व्यक्तिगत रूप से भी स्वच्छता में पहले नम्बर पर आने वाली पंचायत को एक लाख रुपये का पुरस्कार दिया जायेगा। सांसद ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत ग्राम पंचायतों में समय-समय पर स्वच्छता के क्षेत्र में प्रतियोगिता आयोजित की जाये।


​कार्यक्रम में पॉवर पाइन्ट प्रजेंटेशन के माध्यम से जिला पंचायत सीईओ सुश्री अंकिता धाकरे द्वारा जानकारी दी गई कि यदि गांव में 100 से अधिक परिवार है तो वहां कम से कम एक कार्यशील सामुदायिक स्वच्छता परिसर मौजूद है, जिसमें पुरूषों व महिलाओं के लिये अलग-अलग शौचालय मौजूद है। ओडीएफ प्लस ग्रामों में महिला समूहों की भी विशेष सहभागिता रही है।


​ग्राम सभाओं द्वारा स्वच्छता पर समय-समय पर संवाद कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं। साथ ही क्षमतावर्धन कार्यक्रम भी आयोजित किये जाते हैं। कचरा गाड़ी के माध्यम से कचरा कलेक्शन किया जाता है तथा श्रमदान के माध्यम से नालियों की सफाई व अन्य स्वच्छता अभियान चलाये जाते हैं। नाडेप और परम्परागत गुढ़ों का ग्रीन नेट से कवर कर खाद बनाने की प्रक्रिया भी गांव में की जा रही है। सेग्रीगेशन शेड बनाये गये हैं। स्वच्छता रथ के माध्यम से ग्रामीणजनों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता फैलाई जा रही है। इसके अलावा वृक्षारोपण और दीवार लेखन का कार्यक्रम भी आयोजित किया जाता है।


​बैठक में स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्वच्छता पर आधारित वीडियो भी अतिथियों द्वारा लांच किया गया। विभिन्न ग्राम पंचायतों के प्रधान और सचिव ने स्वच्छता अभियान के अनुभव साझा किये कि कैसे उन्होंने अपने ग्राम पंचायत को ओडीएफ बनाया। उन्होंने बताया कि पंचायत द्वारा प्लास्टिक कूड़ा इकट्ठा करने के लिये गांव में एक स्थान निर्धारित किया गया है। महिदपुर की ग्राम पंचायत के जीआरएस ने बताया कि उन्होंने पहले छोटे-छोटे गांव का चयन किया। वहां के निवासियों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया और ग्रामीणजनों ने व्यक्तिगत रूप से नाडेप बनाना प्रारम्भ किया। हर घर के सामने डस्टबीन लगाये गये।


​इसके पश्चात अतिथियों द्वारा ओडीएफ प्लस ग्राम पंचायतों के पंचायत स्तरीय अमले को सम्मानित किया गया। इसमें जनपद पंचायत बड़नगर की ग्राम पंचायत रणवा, किलोली, रूनिजा, बलेड़ी, नारेलाकला, जनपद पंचायत तराना की सामानेरा, इटावा, इलमखेड़ी, पाट, पारसोली, जनपद पंचायत महिदपुर की हिंगोनिया, बैजनाथ, गेलाखेड़ी, निपानिया राजू, जनपद पंचायत घट्टिया की पान बड़ोदिया, भीलखेड़ा, धुलेटिया, कमेड़, घट्टिया, जनपद पंचायत उज्जैन की दताना, टकवासा, बोमार, खजुरिया रेहवारी, दाऊदखेड़ी और जनपद पंचायत खाचरौद की लुसड़ावन, नायन, नावटिया और मालाखेड़ी के स्वच्छाग्रहियों का सम्मान किया गया।


​इसके पश्चात अतिथियों द्वारा स्वच्छ भारत अभियान के तहत जन-जागरूकता हेतु सेनीटाइजेशन वाल पर हस्ताक्षर किये गये।

Post a Comment

0 Comments