राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत असाटी समाज के सहयोग से लगाया गया | Rashtriya baal swasthya karyakram ke antargat asati samaj ke sahyog se lagaya gaya

राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत असाटी समाज के सहयोग से लगाया गया

राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत असाटी समाज के सहयोग से लगाया गया

बालाघाट (देवेंद्र खरे) - राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत असाटी समाज के सहयोग से लगाया गया शिविर आपरेशन के लिए 100 बच्चे चिन्हित राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की योजना राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम  के अंतर्गत मुख्यमंत्री बाल ह्रदय उपचार योजना में 0 से 18 वर्ष तक के बच्चों को ह्दय रोग से पीड़ित बच्चों का निशुल्क जांच परीक्षण एवं ऑपरेशन शिविर का आयोजन जिला स्वास्थ्य समिति एवं असाटी वैश्य विकास समिति बालाघाट द्वारा आज 20 अगस्त 2021 को गोंदिया रोड़ स्थित  सिंधु भवन  बालाघाट में आयोजित किया गया  ।

राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत असाटी समाज के सहयोग से लगाया गया

     इस शिविर में 245 बच्चों की नि:शुल्क जांच कर ऑपरेशन के लिए 100 बच्चों को चिन्हित किया गया है। साथ ही 10 बच्चों को मुंबई जबलपुर नागपुर के हॉस्पिटलों में उपचार के लिए चिन्हित कर भेजा गया है। शिविर में मुख्य रूप से मध्य प्रदेश शासन के पूर्व कृषि मंत्री वर्तमान विधायक गौरीशंकर बिसेन , सांसद डॉक्टर ढाल सिंह बिसेन ,जिला कलेक्टर दीपक आर्य, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनोज पांडेय ,सिविल सर्जन डा. ए.के. जैन,असाटी समाज के अध्यक्ष श्री कुमार असाटी,  समाजसेवी , ज्ञानचंद चोपड़ा और समाज के वरिष्ठ दिलीप कुमार असाटी मंचासीन रहे।

       कार्यक्रम में मध्य प्रदेश शासन के पूर्व कृषि मंत्री वर्तमान विधायक गौरीशंकर बिसेन द्वारा शिविर में आए लोगों को धन्यवाद देते हुए कहा मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना में अनेक बीमारियों को समायोजित किया गया है ।  राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की योजना राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) के अंतर्गत मुख्यमंत्री बाल ह्रदय उपचार योजना में पीड़ित बच्चों के परिवार को योजना का लाभ दिलाने के लिए ग्रामीण क्षेत्र में लोगों के घर जा जाकर पीड़ित बच्चों  के परिजन को प्रेरित किया  गया है इसके लिए स्वास्थ्य अमले की ऐसी टीम को मैं धन्यवाद देता हूं। हमें चिंता करनी चाहिए उन बच्चों की जिन्हें ना सुनाई देता हो ना दिखाई देता हो या अन्य और बीमारियों से ग्रसित हो ऐसे बच्चों को भी चिन्हित कर योजना का लाभ दिलाने की आवश्यकता है यदि सही अस्पताल मिल जाए तो बहुत कम पैसों में बीमारियों का इलाज संभव हो सकता है

Post a Comment

0 Comments