सेमल्दा में लाइन सड़क पर लोग परेशान | Semalda main line sadak pr log pareshan

सेमल्दा में लाइन सड़क पर लोग परेशान

बेगनंदा में नहीं लगा आज तक कोई वैक्सीन कैंप

सेमल्दा में लाइन सड़क पर लोग परेशान

धामनोद (मुकेश सोडानी) - छेत्र के वैक्सीन सेंटरों की जहा वैक्सीन टीकाकरण को लेकर बड़ी मात्रा में लापरवाही बरती जा रही है। देखा जा रहा है कि धरमपुरी तहसील की लगभग सभी सेंटरों पर अथा भीड़ -भाड़, धक्का- मुक्की में वैक्सीन का कार्य ग्राम पंचायत स्तर पर चल रहा है पर यह अव्यवस्था के चलते जनता तो परेशान हो ही रहिए वही जिम्मेदार अधिकारी बाहर की ओर ध्यान नहीं दे पा रहा है ।चिंता का विषय यह बन गया है ,कि कहीं वैक्सीन लगाने आए लोग बीमारी से बचने के बजाय बीमारी को घर न ले जाए। क्योंकि यहां का माहौल और अव्यवस्था इसी बात का संकेत दे रहा है। अगर ग्राम पंचायत स्तर पर इस कार्य को बड़ी सावधानी पूर्वक किया जाए तो मोहल्ला वार्ड वॉइस सिस्टम से इस भीड़ और होने वाली गंभीर समस्या से निजात मिल सकता है।

वहीं ग्रामीणों का कहना है कि स्थानीय नागरिकों का पूर्ण रूप से टीकाकरण हो ही नहीं पा रहा है और डोस खत्म हो रहे  है।जबकि ग्राम पंचायत में टीकाकरण सेंटर होने का का एक ही उद्देश्य है  की,स्थानीय पंचायत निवासी को टीका उनके गांव में ही लग जाए पर बड़े-बड़े वाहन से लोग ग्राम पंचायत में आते हैं और टीका लगवा कर  मिनटों में यूं वापस घर चले जाते हैं जबकि स्थानीय निवासी मजदूर लाइन में खड़ा रहता है ऑनलाइन बुकिंग काउंटर तक आता है तो उस मजदूर को यह कह दिया जाता है। कि वैक्सीन डोस खत्म हो गए।

वही इस विषय पर मीडिया कर्मी ने स्थानीय ग्राम पंचायत , राजस्व विभाग कर्मचारियों से बात करना चाहा तो उन्होंने संपर्क नहीं हो पाया।

वैक्सीन से वंचित है,बेगंदा ग्राम पंचायत

धामनोद के समीप बेगनदां वन्य क्षेत्र में  आता है। यहां अधिकांस किसान वर्ग और मजदूर वर्ग ही निवास करते है।जबकि सबसे ज्यादा टीकाकरण की आवश्यकता है। रोजमर्रा मजदूर को  जो रोज कहीं ना कहीं मजदूरी करता है।ओर रोजना खतरा बना रहता है।

ग्रामीणों ने बताया की हमारे ग्राम में बस वाहन की दिक्कत आती है।इसलिए यहां वैक्सीन सेंटर होना आवश्यक है।

चुनाव के समय हर नेता ओर जनप्रतिनिधि आते पर ऐसे समय में हमारे ग्राम की ओर कोई नहीं ध्यान नहीं देता है।

Post a Comment

0 Comments