प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र टांडा पर डॉक्टर नहीं होने से ग्रामीण क्षेत्र की जनता परेशान | Prathmik swasthya kendr tanda pr dr nhi hone se gramin shetr ki janta pareshan

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र टांडा पर डॉक्टर नहीं होने से ग्रामीण क्षेत्र की जनता परेशान

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र टांडा पर डॉक्टर नहीं होने से ग्रामीण क्षेत्र की जनता परेशान

टांडा/धार (यश राठौड़) - प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र टांडा पर डॉक्टर नहीं होने से ग्रामीण क्षेत्र की जनता को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है यहां पर एक मात्र लेडी डॉक्टर नेहा मालवीय कार्यरत है डॉ तोमर के स्थानांतरण के बाद यहां का पद रिक्त था व्यवस्था की दृष्टि से धार जिला कलेक्टर महोदय के आदेशानुसार यहां पर बाग के डॉक्टर हरेसिंह मुवेल की अस्थाई नियुक्ति दी गई थी किंतु यहां पर अक्सर यह देखा गया कि डॉक्टर मुवेल  यहां पर अनुपस्थित रहते नजर आते हैं कभी अवकाश पर चले जाते हैं जिससे एकमात्र लेडी डॉक्टर को इतने बढें आदिवासी क्षैत्र मे कार्य करने पर काफी परेशानी का सामना उठाना पड़ रहा है यहां यह अक्सर देखा जाता है कि रात के समय कई ऐसे केस आते हैं जिन्हें एकमात्र डॉक्टर के द्वारा संभाल पाना मुश्किल हो जाता हैं साथ ही अन्य कैश डाक्टर के अभाव में सरदारपुर के लिए रेफर करने पर मजबूर होना पडता हैं वर्तमान मे राज्य शासन द्वारा  टांडा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हेतु डॉक्टर रुपेश मंडलोई की संविदा नियुक्ति की गई है डॉ रूपेश मंडलोई द्वारा अपनी जॉइनिंग भी बाग मुख्यालय पर कर ली गई है किंतु उन्हें वहां से टांडा के लिए रिलीव नहीं किया गया है धार जिला कलेक्टर एवं जिला स्वास्थ्य अधिकारी श्री जितेंद्र चोधरी एवं ब्लॉक मेडिकल अधिकारी डा. शिन्दे से नगर पत्रकार संघ मांग करता है कि उन्हें तत्काल प्रभाव से टांडा के लिए रिलीव किया जाए ताकि बारिश के समय होने वाली बीमारियों पर अंकुश लगाया जा सके

Post a Comment

0 Comments