अहिंसा यात्रा का भव्य मंगल प्रवेश | Ahinsa yatra ka bhavy mangal pravesh

अहिंसा यात्रा का भव्य मंगल प्रवेश

अहिंसा यात्रा का भव्य मंगल प्रवेश

जावरा (यूसुफ अली बोहरा) - मध्यप्रदेश राजकीय अथिति तेरापंथ के 11 वे आचार्य व अहिंसा यात्रा के प्रणेता पुज्य आचार्य श्री महाश्रमण जी ने अपनी धवल सेना के साथ दिनांक 27जून  2021 को नगर   में पधार रहे हैं।महाश्रमण जी के  साथ लगभग 37 मुनि और 11 सतीयों का भी पदर्पण हो रहा है।

अहिंसा  यात्रा 2014 में दिल्ली के लाल किले से प्रारंभ हुई। आचार्य श्री 2000 के बाद अभी तक तीन देश व 23 राज्य की पैदल यात्रा कर करीब 51000 किलोमीटर की यात्रा कर चुके हैं।

 अहिंसा यात्रा का मुख्य उद्देश्य नैतिकता सद्भावना व नशा मुक्ति का जैन -जैनतर तक प्रचार प्रसार करना है !

अभी  वर्तमान में अहिंसा यात्रा का मालवा मध्य प्रदेश में विचरण हो रहा है।

 मालवा में लगभग 2 माह का वितरण रहेगा। तत्पश्चात अहिंसा यात्रा राजस्थान के भीलवाड़ा की ओर बढ़ेगी।मध्यप्रदेश में अंतिम पड़ाव जावद नीमच रहेगा। अहिंसा यात्रा का पूरे मालवा में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने व जैन-जैनतरो ने  भव्य स्वागत किया। मध्य प्रदेश मालवा सभा के मंत्री  कमलेश बम ने बताया कि यात्रा कल दिनांक 27जून  2021 को जावरा चौपाटी से प्रवेश होगा।

 एक दिवसीय पड़ाव सरदार पटेल नर्सिंग कॉलेज पर रहेगा। श्री बम ने बताया कि यात्रा की अगवानी जावरा क्षेत्र के विधायक डॉ राजेंद्र पांडे व अन्य जनप्रतिनिधियो जावरा जैन सिटी शंघ के लोगों के द्वारा यात्रा की अगवानी की जाएगी। सभी श्रावक श्राविकाओ से निवेदन किया है कि यात्रा का स्वागत हर्ष उल्लास के साथ करें। तथा  कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क का ध्यान रखें।

Post a Comment

0 Comments