मंत्री श्री कावरे एवं विधायक श्री बिसेन ने जिला चिकित्सालय में सिटी स्कैन मशीन का किया शुभारंभ | Mantri shri kavre evam vidhayak shri bisen ne hila chikitsalay main city scan machine ka kiya shubharambh

मंत्री श्री कावरे एवं विधायक श्री बिसेन ने जिला चिकित्सालय में सिटी स्कैन मशीन का किया शुभारंभ

मंत्री श्री कावरे एवं विधायक श्री बिसेन ने जिला चिकित्सालय में सिटी स्कैन मशीन का किया शुभारंभ

बालाघाट (देवेंद्र खरे) - मध्यप्रदेश शासन के राज्यमंत्री आयुष (स्वतंत्र प्रभार) एवं जल संसाधन विभाग श्री रामकिशोर “नानो” कावरे एवं विधायक बालाघाट श्री गौरीशंकर बिसेन ने आज जिला चिकित्सालय बालाघाट में स्थापित की गई सीटी स्कैन मशीन का फीता काटकर एवं विधि विधान से पूजन अर्चन कर शुभारंभ किया। इस अवसर पर पूर्व विधायक श्री रमेश भटेरे, श्रीमती मौसम बिसेन हरिनखेड़े, कलेक्टर बालाघाट श्री दीपक आर्य, पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक तिवारी, सहायक कलेक्टर श्री दलीप कुमार, एसडीएम श्री के.सी. बोपचे, सिविल सर्जन डॉ अजय जैन एवं अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

मंत्री श्री कावरे एवं विधायक श्री बिसेन ने जिला चिकित्सालय में सिटी स्कैन मशीन का किया शुभारंभ

जिला चिकित्सालय बालाघाट में सीटी स्कैन की सुविधा प्रारंभ होने से शासकीय अस्पतालों के मरीजों को अब प्रायवेट अस्पतालों में सीटी स्केन के लिए नहीं जाना पड़ेगा। सीटी स्केन के लिए मरीजों से निर्धारित शुल्क ही लिया जायेगा। इस दौरान बताया गया कि इसके लिए सभी आवश्यक तैयारियां कर ली गई है। 

सिविल सर्जन डॉ अजय जैन ने बताया कि सीटी स्केन का मरीज को निर्धारित शुल्क देना होगा, जो बाजार दर से बहुत कम होगा। जिला चिकित्सालय में भर्ती बीपीएल, आयुष्मान और दीनदयाल कार्ड धारक मरीज का सीटी स्कैन नि:शुल्क किया जायेगा। एपीएल अर्थात गरीबी रेखा से ऊपर के मरीज को सीटी स्कैन के लिए 933 रुपये का शुल्क देना होगा। प्रायवेट अस्पताल के मरीज को सीटी स्कैन के लिए 2500 रुपये का शुल्क देना होगा। सीटी स्कैन की दो फिल्म लेने पर 200 रुपये का अतिरिक्त शुल्क देना होगा। 

जिला चिकित्सालय बालाघाट में सीटी स्कैन मशीन नहीं होने से मरीजों को प्रायवेट अस्पतालों में सीटी स्कैन कराना पड़ रहा था। लेकिन जिला चिकित्सालय बालाघाट में सीटी स्कैन मशीन के लगने एवं प्रारंभ होने ने मरीजों को सस्ती दर पर सीटी स्कैन की सुविधा उपलब्ध हो गई है। अब उन्हें सीटी स्कैन के लिए प्रायवेट अस्पतालों का रूख नहीं करना पड़ेगा और उन पर आर्थिक भार भी नहीं आयेगा।

Post a Comment

0 Comments