दुआ- प्रार्थना के साथ जनता का मार्गदर्शन भी करें धर्मगुरु | Dua prathna ke sath janta ka margdarshan bhi kare dharmguru

दुआ- प्रार्थना के साथ जनता का मार्गदर्शन भी करें धर्मगुरु

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वास्थ्य आग्रह आयोजन के तहत धर्मगुरुओं से किया संवाद

दुआ- प्रार्थना के साथ जनता का मार्गदर्शन भी करें धर्मगुरु

रतलाम (यूसुफ अली बोहरा) - मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वास्थ्य आग्रह आयोजन के तहत आज वर्चुअल रूप से प्रदेश के समस्त धर्म गुरुओं से आग्रह किया कि वे अपनी दुआओं और प्रार्थनाओं के साथ कोरोना के इस संक्रमण से समाज को मुक्त कराने के लिए जनता का मार्गदर्शन भी करें।  इस अवसर पर रतलाम एनआईसी कक्ष में अखंड ज्ञान आश्रम रतलाम के श्री देवस्वरूपानंद जी महाराज, रतलाम शहर काजी श्री अहमद अली, फर्स्ट चर्च रतलाम के फादर सैमसन दास, बोहरा समाज के प्रतिनिधि सलीम आरिफ तथा डिप्टी कलेक्टर सुश्री मनीषा वास्कले उपस्थित थे।

        मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने धर्मगुरुओं से चर्चा करते हुए कहा कि यह संकट का समय है। समाज को इस समय साथ में खड़े रहना होगा। इस समय हमारी इंसानियत एक है, हमारी मानवता एक है। धर्मगुरुओं के माध्यम से कही गई बात को अनुयायी और समाज के लोग महत्व देते हैं ,इसलिए धर्मगुरुओं से आग्रह है कि वे समस्त नागरिकों को मास्क लगाने के लिए प्रेरित करें। मास्क न लगाना इस संक्रमण काल में सामाजिक अपराध है। उन्होंने कहा कि चार उपायों से हम इस संक्रमण काल से मुक्त हो सकते हैं। पहला मास्क अवश्य लगाएं,  दूसरा पर्याप्त दूरी बनाकर रखें , तीसरा सेनीटाइजर का प्रयोग करें और अपने हाथों को बार-बार धोते रहें और चौथा 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी व्यक्तियों का टीकाकरण हो।  उन्होंने कहा कि टीके को लेकर लोगों में यदि भ्रांति है तो उसे दूर करने का कार्य धर्मगुरु कर सकते हैं । मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना के संक्रमण काल में मैं समस्त धर्म गुरुओं से आशीर्वाद चाहता हूं और यह आग्रह करता हूं कि आप सभी का समाज को मार्गदर्शन मिलेगा। हम डटे रहेंगे और इस संक्रमण काल से मुक्त होंगे। उन्होंने ’मैं कोरोना वालियंटर हूँ’ अभियान से लोगों को जोड़ने का आह्वान भी किया ताकि इस संक्रमण से मुक्ति के लिए सभी के समन्वित प्रयास हो सकें।

Post a Comment

0 Comments