उत्साह एवं उमंग के साथ हुआ प्रसिद्ध पर्व भगोरिया मेले का आगाज | Utsah evam umang ke sath hua prasidh parv bhagoriya mele ka aagaz

उत्साह एवं उमंग के साथ हुआ प्रसिद्ध पर्व भगोरिया मेले का आगाज

मांदल की थाप और बासुरी की धुन पर झुमे ग्रामिणजन

उत्साह एवं उमंग के साथ हुआ प्रसिद्ध पर्व भगोरिया मेले का आगाज

आलीराजपुर (रफीक क़ुरैशी) - फाल्गुनी बयार एवं रंगारंग होली के ठीक एक सप्ताह पुर्व मनाए जाने वाला देष का प्रसिद्ध आदिवासी लोक संस्कृति के भगोरिया मेले का सोमवार से आगाज हो गया है। जिले का पहला भगोरिया पर्व नगर मे उत्साह, उमंग एवं हर्षोल्लास के साथ षांतिपुर्वक मनाया गया। पर्व के चलते सुबह से ही नगर मे चारो ओर ग्रामिंणो की चहल-पहल नजर आई। जहां एक ओर युवक-युवती ढ़ोल मांदल की थाप पर झुमे वहि दुसरी ओर बूढ़े और बच्चों ने भी इस पर्व का आंनद उठाया। बहरहाल वर्तमान समय मे कोरोना काल ओर जिले मे लागु धारा 144 के बिच आसपास के अंचलो से आई हजारों की जुटी भारी भीड़ भगोरिया मेले का अहम हिस्सा बनी। कल मंगलवार को जिले के ग्राम बखतगढ एवं आम्बुआ में भगोरिया मेला मनाया जाएंगा। 

उत्साह एवं उमंग के साथ हुआ प्रसिद्ध पर्व भगोरिया मेले का आगाज

*मेले मे लगे झूले-चकरियो का जमकर आंनद उठाया*

नगर के फतेह क्लब मेदान के सामने पुराने जिपं परिषर एवं रतनिया की बाडी मे भगोरियो मेले की चहल-पहल सुबह 10 बजे से ही प्रारम्भ हो गई थी। सुबह से ही नगर मे चोराहो एवं मार्गो पर भगोरिये की चहल-पहल दिखाई देने लग गई। भगोरिया हाट में तरह-तरह के सामग्री सहित अनेक प्रकार के व्यंजनों की दुकाने भी लगी थी। वही मेलास्थल पर झूले-चकरी सहित अन्य सामग्राी का भी लोगो ने जमकर आंनद उठाया। युवक-युवतियो की टोलिया आर्कषक साज-श्रृंगार कर विषेष वेषभुषा मे सुसज्जित होकर भगोरिया हाट मे नजर आए। जहां एक और युवतियां अपनी पारंपरिक वेशभुषा मंे दिखाई दी वहि दुसरी और युवक धोती कुरता छोड़ जींस एवं टिसर्ट मंे चष्मा पहनकर मुहं मंे पान का बीडा दबाकर नाचते गाते नजर आए। वहि ग्राम वाकनेर से आए न्रत्य दल ने भगोरिये हाट मे षानदार प्रस्तुती देकर सबका मन मोह लिया। वही युवा बासुरी एंव मंादलो की थाप पर मस्त होकर कुर्राटियो की कुराट मे झुमते नजर आए। मेले मे आए ग्रामिंणो ने शरबत, कुल्फी एंव आईस्क्रिम का भी मजा लिया। कुल मिलाकर नगर मे भगोरिये को लेकर ग्रामिणो मे अपार खुषी का माहोल देखने को मिला। नगर मे जिले का पहला भग¨रिया हाट होने से यहां पर व्यापारीयों का व्यवसाय कुल मिलाकर ठीक रहा। ग्रामीणों ने परंपरागत खैल खिलोने, नारियल, गन्ना, चने, हार-कंगन, खजुर, गुलाल आदि की भी खरीददारी की। 

उत्साह एवं उमंग के साथ हुआ प्रसिद्ध पर्व भगोरिया मेले का आगाज

*राजनेता खुद थिरके और दुसरो को भी थिरकाया* 

भगोरिया मेले में आदिवासी अचंल की प्रसिद्ध मांदल और ढोल से ग्रामीणों की गैर निकलने का अंदाज ही कुछ ओर रहता है। जिसे देखने के लिए देष-विदेश और अन्य शहरों से इस आदिवासी अचंल में भगोरिया की गैर देखने के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक आते है। पर्व के चलते कांगेस एवं भाजपा के स्थानिय राजनेताआंे ने भी अपने-अपने कार्यकर्ताआंे के साथ गैर निकालकर राजनैतिक रंग घोलने की पुरी कोशिष की। जहां एक और जिला कांगे्रस अध्यक्ष महेष पटेल एवं क्षैत्रिय विधायक मुकेष पटेल के नेतृत्व मे जिला कांग्रेस कार्यालय से गैर निकालकर मादल की थाप देकर खुद थिरके और दुसरो को भी जमकर थिरकाया। इस द्धौरान जोबट विधायक सुश्री कलावती भुरिया, महिला नैत्री सेना पटेल, कांग्रेसी नेता राधेष्याम माहेष्वरी, ओमप्रकाष राठौर, युवा नेता बापु पटेल, पुष्पराज पटेल सहित बडी संख्या मे कार्यकर्ता मोजुद थे। वहि दुसरी ओर पुर्व विधायक नागरसिंह चोहान के नेतृत्व मे जिला पंचायत निवास से एक गैर निकाली गई। इस दौरान श्री चोहान ने मादल बजाकर कार्यकर्ताओ को खुब थिरकाया। इस अवसर पर पुर्व मंत्री रंजना बघेल, पुर्व विधायक कलसिंह भाभर, जिपं अध्यक्ष अनिता चैहान, भाजपा जिलाध्यक्ष वकिलसिंह ठकराला, भाजपा नेता मुकामसिंह किराडे, भदु पचाया, किषोर षाह सहित अनेक कार्यकर्तागंण मोजुद थे। इधर भगोरिया को लेकर आदिवासी समाजजन द्वारा स्थानीय टंट्या भील मामा चोराहे पर एकत्रित हुवे। वहां से कोरोना वायरस से बचाव की अपील करते हुए जनजाग्रति भोंगर्या हाट की सांकेतिक गैर निकली गई। जिसके माध्यम से भोंगर्या हाट में आए ग्रामीणों से कोराना के बचाव को लेकर अपील की गई। इस अवसर पर आदिवासी समाज के विभिन्न संगठनों के सदस्यजन उपस्थित थे। 

उत्साह एवं उमंग के साथ हुआ प्रसिद्ध पर्व भगोरिया मेले का आगाज

*चाक-चोबंद रही प्रषासन की व्यवस्थाए*   

कलेक्टर सुरभि गुप्ता एवं पुलिस कप्तान विजय भागवानी के नेतृत्व में भगोरिया हाट को षांतिपुर्वक निपटाने के लिए उचित प्रबंध किए गए थे। नगर के विभिन्न चोराहो एवं मार्गो पर प्रषासन के अमले ने व्यवस्था पूरी तरह से सुदृढ़ ढंग से संभाल रखी थी। मेलास्थल मे आने-जाने वाले मागर्¨ पर पुलिस के जवान तैनात थ्¨, ज¨ कि हुड़दंगीय¨ पर नजर रखे हुए थे। पुलिस दल-बल ने शाम चार बजे से भगोरिया में आए ग्रामीणों को मेलास्थल से और नगर के गली चैराहों से उन्हे अपने घरों की और रवाना करते हुए नजर आए। भगोरिया मेले की सम्पुर्ण व्यवस्थाए एसडीओपी धीरज बब्बर, थाना प्रभारी दिनेषचंद्र सौलंकी सफलतापुर्वक सभालते हुए नजर आए। बहरहाल प्रषासन ने पहला भगोरिया षांतिपुर्वक निपट जाने को लेकर राहत की सास ली है।



Post a Comment

0 Comments