संकट प्रबंधन समूह की बैठक में लिए कई निर्णय | Sankat prabandh samuh ki bethak main liye kai nirnay

संकट प्रबंधन समूह की बैठक में लिए कई निर्णय

शादी-ब्याह के आयोजन में अधिकतम 100 व्यक्ति और मृत्यु अथवा सामाजिक कार्यक्रम में अधिकतम 50 व्यक्तियों की ही अनुमति रहेगी

संकट प्रबंधन समूह की बैठक में लिए कई निर्णय

अलीराजपुर (रफीक क़ुरैशी) - कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी सुरभि गुप्ता की अध्यक्षता में जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह की बैठक आयोजित हुई। बैठक में पुलिस अधीक्षक विजय भागवानी, जिला पंचायत सीईओ संस्कृति जैन, अपर कलेक्टर सुरेशचन्द्र वर्मा, एसडीएम  लक्ष्मी गामड, नपा अध्यक्ष रितेश डावर, किशोर शाह, विधायक प्रतिनिधि खुर्सीद अली दीवान, पूर्व जनपद अध्यक्ष  भदू पचाया आदि मौजूद थे। 

*सीमावर्ती प्रवेश मार्गो पर होंगी निगरानी*

बैठक में कोरोना के पॉजीटीव मरीजों की जानकारी और जिला प्रशासन द्वारा किये जा रहे प्रबंधों और जागरूकता हेतु किये जा रहे प्रयासों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। बैठक में सर्वानुमति से निर्णय लिया गया कि जिले की सीमा के प्रमुख प्रवेश मार्ग चांदपुर, नानपुर, सेजावाडा, छकतला में आने-जाने वालों की अनिवार्य रूप से कोविड जांच हो। कोरोना रोकथाम के मद्देनजर अनावश्यक आवाजाही रोकने के लिए गुजरात सीमा सहित अन्य उक्त प्रवे मार्गों पर आने-जाने वालों को कोरोना निगेटीव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य रहेगा अथवा उक्त चैक पाइंट पर कोविड जांच कराना होगी। यात्री बसों में चालक-परिचालक और यात्रीगण अनिवार्य रूप से मास्क लगाए। इसके लिए जागरूकता के साथ-साथ सख्ती की जाए। मास्क नहीं लगाने वालों पर प्रभावी चालानी कार्रवाई की जाए ताकि आमजन कोरोना की गंभीरता को समझे और अनिवार्य रूप से मास्क तथा दिषा निर्देों का पालन करें। कोरोना के मद्देनजर जिले के समस्त आंगनवाडी केन्द्रों को माह अप्रैल 2021 में बंद रखे जाने का निर्णय लिया गया। आंगनवाडी कार्यकर्ता बच्चों को घर जाकर पोषण आहार का वितरण करेंगी। आगामी दिनों में पंचमी और सप्तमी के अवसर पर जुलूस, गैर पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगी। साथ ही शादी-ब्याह के आयोजन में अधिकतम 100 व्यक्ति और मृत्यु अथवा अन्य सामाजिक कार्यक्रम में अधिकतम 50 व्यक्तियों की ही अनुमति रहेगी। जिले में अन्य स्थानों से आने वालों को अनिवार्य रूप से कोविड जांच कराना होगी। बैठक में निर्णय लिया गया कि कोई भी व्यक्ति कोविड अथवा अन्य कोई इलाज संबंधित जांच अथवा इलाज कराने किसी अन्य स्थान जाते है तो उन्हें जिले से अनिवार्य रूप से रेफर रिपोर्ट लेकर जाना अनिवार्य रहेगा। साथ ही वापसी आने पर स्वास्थ्य संबंधित जानकारी भी देनी होगी। बैठक में जन सुनवाई यथावत रखने का निर्णय लिया गया। जन सुनवाई के दौरान कोविड संबंधित सुरक्षात्मक उपायों का पालन अनिवार्य रहेंगा। कोविड के मद्देनजर जागरूकता और चालानी कार्रवाई के दौरान तैनात कर्मचारियों के साथ यदि कोई भी व्यक्ति बदसलुकी अथवा बदतमीजी करेंगे, उन पर तत्काल प्रभावी कार्रवाई सुनिचित की जाएगी। बैठक में कलेक्टर श्रीमती गुप्ता ने सभी से आह्वान किया कि 45 से अधिक आयु वर्ग के व्यक्तियों को 1 अप्रैल से कोविड 19 वैक्सीनेन प्रारंभ हो रहा है। उन्होंने अधिक से अधिक आमजन से वेक्सीनेन कराने का आह्वान किया। बैठक में कलेक्टर श्रीमती गुप्ता ने समस्त एसडीएम को निर्दे दिए कि अपने-अपने अनुभाग क्षेत्र में शांति समिति की बैठक आयोजित कर आवशयक दिा निर्देश साझा करें।

Post a Comment

0 Comments