कोरोना से डरे, मास्क लगाए, अपनी जिंदगी से खिलवाड़ न करें - डॉ कुसुम पाटीदार | Corona se dare mask lagaye apni zindagi se khilwad na kre

कोरोना से डरे, मास्क लगाए, अपनी जिंदगी से खिलवाड़ न करें - डॉ कुसुम पाटीदार

कोरोना से डरे, मास्क लगाए, अपनी जिंदगी से खिलवाड़ न करें - डॉ कुसुम पाटीदार

धामनोद (मुकेश सोडानी) - में चिंतित हूं नगर में यह देखकर कि कई लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं । कोरोना का दोबारा अटैक इस लापरवाही पर भारी पड़ सकता है । नगर में ऐसे सैकड़ों जगह मैंने देखा जहा लोग बिना मास्क के लापरवाही पुर्वक घूम रहे हैं । यह लापरवाही पूरे नगर के लिए भारी पड़ सकती है । आवश्यकता है मास्क पहनने की, सैनिटाइज करने और बिना वजह बाहर ना निकलने की, यह कहा नगर की डॉ कुसुम पाटीदार ने । नगर में बढ़ रहे कोरोना मरीजों को देखकर उन्होंने रविवार पत्रकारों के सम्मुख नगर के बढ़ते आंकड़ों को लेकर चिंता व्यक्त की और अपनी समझाइश दी । डॉक्टर होने के नाते उन्होंने बताया कि किस तरह कोरोना शरीर पर अटैक करता है यह सामान्य बीमारी नहीं है इसलिए बचाव के लिए माक्स को जरूर लगाएं । साथ-साथ उन्होंने कोरोना और अन्य अनुभवी पत्रकारों के सम्मुख साझा की ।

चौराहे पर पुलिस को देख मुंह पर लगा लेते हैं मास्क । दो कदम भी आगे नहीं बढ़ते और उतार देते हैं

डाॅ पाटीदार ने बताया कि पुलिस और नगरीय प्रशासन यदा-कदा औपचारिकता के तहत कार्रवाई करता है लेकिन इन सब लापरवाही की प्रमुख जिम्मेदार हम खुद हैं । क्योंकि हम खुद ही मास्क नहीं लगाना चाहते । उन्होंने कहा कि मैं खुद अब दुकान दुकान पहुंच कर आम लोगों से मास्क लगाने की अपील करूंगी । साथ-साथ प्रशासनिक एवं अन्य व्यापारियों को संदेश स्वरूप संदेश भेजकर कहूँगी की सभी मास्क लगाकर अनिवार्य रूप से इसे लागू करें , बिना मास्क पहने यदि आपके प्रतिष्ठान पर कोई आए तो उसे सामान ना दे यदि हम सब मिलकर यह कार्य करेंगे तो निश्चित रूप से नगर सुरक्षित रहेगा ।

धामनोद जिले की धड़कन, यहां आते हे बाहरी लोग ।

उन्होंने बताया कि धामनोद में अधिकारिता व्यापारिक नगरी होने के कारण कई लोग बाहरी क्षेत्र से आते हैं । कब कौन कहां से आ रहा है इसका अंदाजा नहीं लगाया जा रहा है । यदि सही तरह से चेकअप हो तो धामनोद में 100 से भी अधिक कोरोना पॉजिटिव निकल कर सामने आ जाएंगे । उन्होंने बताया कि जब मार्च के समय कोरोना आया था तो सबको यह भय था लेकिन कोरोना को सबने हल्के में लिया इसी का स्वरूप है कि फिर बीमारी अपने पांव पसार रही है । वहां पर पत्रकार मुकेश सोड़ानी, गोलू सोलंकी, विकास पटेल आदि मौजूद थे ।

Post a Comment

0 Comments