आकर्षक स्वरुप मै संवरा गागोरनी घाट मुक्तिधाम | Akarshak swaroop main sanvra gagorni ghat muktidhaam

आकर्षक स्वरुप मै संवरा गागोरनी घाट मुक्तिधाम

नगर के युवाओं ने मेहनत कर संवरा मुक्तिधाम, गंदगी से किया मुक्त 

आकर्षक स्वरुप मै संवरा गागोरनी घाट मुक्तिधाम

जीरापुर (पंकज भावसार) - नगर के युवाओं ने पहल करते हुए गागोरनी घाट मुक्तिधाम पर पौने चार लाख रुपए खर्च कर आकर्षक स्वरुप प्रदान करते हुए कायाकल्प विकास करवाया है जिससे मुक्तिधाम साफ स्वच्छ दिखाई देने लगा है।

इसके निर्माण में सार्वजनिक रुप से एकत्रित किए 2.75 लाख रुपए व लगभग एक लाख रुपए नगर परिषद द्वारा खर्च कर अंतिम संस्कार के लिए एक नवीन शेड तैयार किया गया है वही पुराने शेड की मरम्मत कराते हुए नया शेड लगाया गया है मुक्तिधाम परिसर मै रंग रोगन करा कर प्रेरणा दायी कोटेशन, चित्रकारी कराईं गई है।

पिपल्दा रोड पर स्थित नगर का सबसे पुराना मुक्तिधाम उपेक्षा का शिकार था मंदिर से भी पवित्र माने जाने वाले मुक्तिधाम को लोगो द्वारा शौच के लिए उपयोग किया जाता था जिसके चारो और गंदगी के कारण दुर्गंध फैली रहती थी मुक्तिधाम के विकास के लिए पहले भी समाजसेवी लोगो व नगर परिषद द्वारा समय-समय पर निर्माण कार्य सम्पन्न कराये गये हैं हाल ही में वरिष्ठ समाजसेवी ठाकुर मोहनसिंह जमींदार,राहुल गुप्ता,चंदन सिगी, प्रकाश शर्मा,नगर परिषद के उपयंत्री व,बंटी पान वाला,  राहुल नाथ,जैसे युवाओं द्वारा मुक्तिधाम का कायाकल्प विकास कराने का बिडा उठाया जिन्होंने सबसे पहले तो गंदगी फैलाने वाले लोगो को रोकने-टोकने का कार्य किया। निर्माण कार्य के दौरान वहां उपस्थित रहकर स्वयं श्रमदान करते इसके लिए नगर परिषद द्वारा भी पुराने अंतिम संस्कार स्थल पर नया शेड लगाया गया व पूरे परिसर पर रंग रोगन कराकर सुन्दरता प्रदान कर ज्ञानवर्धक कोटेशन चित्रकारी कराई गई है वही जनसहयोग से एकत्र हुए करीब पौने तीन लाख रुपए की लागत से एक नवीन शेड, मुक्तिधाम के अंदर विश्राम स्थल, सहित अन्य कार्य सम्पन्न कराकर सुविधाओं का विस्तार किया गया है। मुक्तिधाम में बिजली की व्यवस्था भी कराई जायेगी इसके लिए राजेश जमींदार कालू द्वारा दो बिजली के पोल लगाकर नगर परिषद द्वारा प्रकाश व्यवस्था होगी। वर्षा काल में परिसर मै फूलदार व छायादार और पौधे लगाने की योजना तैयार की गई है।

गंदगी करने से बाज नही आते थे लोग

मान्यता है की मुक्तिधाम मंदिर से भी पवित्र स्थल माना जाता है जहां व्यक्ति शाति प्राप्त करता है इस पवित्र स्थान पर भी लोग शौच करने से बाज नही आते थे अंतिम संस्कार स्थल के परिक्रमा रास्ते पर भी लोग गंदगी कर देते जिससे लोगों को परेशानी उठानी पड़ती इस रोकने के लिए युवा सुबह-शाम बारी बारी से मुक्तिधाम पर जाकर लोगो को समझाइश देते नगर परिषद के दरोगा आजाद झावा,महेश झावा, रामप्रसाद झावा द्वारा सफाई पर ध्यान दिया जा रहा है।साथ ही सूचना पाकर कर्मचारी सफाई कराते है।

ज्ञानवर्धक कोटेशन व चित्रों से संवारा मुक्तिधाम

गागोरनी घाट मुक्तिधाम परिसर में नगर परिषद के द्वारा पुताई करा आकर्षक चित्रों व प्रेरणादायक स्लोगन अंकित कराये गये हैं जिससे मुक्तिधाम आकर्षक स्वरुप मै दिखने लगा है। पूर्व मै भी नगर परिषद व समाज सेवी लोगो द्वारा मुक्तिधाम पर विभिन्न निर्माण कार्य कराये गये हैं पूरे परिसर में पेवर ब्लाक लगाये गये थे एक दशक पहले लगाये गये पौधे लोगो को छाया प्रदान कर रहे हैं।नगर के सेवाभावी युवाओं द्वारा करवाया गये कार्य की लोगों द्वारा मुक्तकंठ से प्रशंसा की जा रही है।

एक और शेड लगने से समस्या दूर होगी

गागोरनी घाट मुक्तिधाम पर सभी समाज के लोग अंतिम संस्कार के लिए पहुंचते हैं पहले यहां एक शेड बना हुआ था। पिछ्ले ढेड माह पहले सोनी समाज के दुर्घटना के शिकार हुए छह लोगो कि अंतिम संस्कार किया था परंतु शेड न होने तीन लोगो का नीचे अंतिम संस्कार करना पडा था।हाल ही में मुक्तिधाम पर एक और शेड का निर्माण करवाया गया है।

और भी होंगे विकास कार्य

मुक्तिधाम पर निर्माण कार्य मै अपना सक्रिय सहयोग प्रदान करने वाले चंदन सिंगी ने बताया कि परिसर में बिजली की व्यवस्था भी जल्द होगी।शव विश्राम स्थल पर ग्रेनाइट लगाने की योजना है शेड के आस-पास सीसी निर्माण करवाया जायेगा। उन्होंने कहा की लोगो को भी परिसर मै साफ सफाई का ध्यान देना चाहिए आने वाले दिनों में यह मुक्तिधाम पार्क के रुप में संवरेगा ।

Post a Comment

0 Comments