नगर विकास को लेकर 500 करोड़ लागत की बनाई गई पंचवर्षीय योजना | Nagar vikas ko lekar 500 crore lagat ki banai gai panchvarshiy yojan

नगर विकास को लेकर 500 करोड़ लागत की बनाई गई पंचवर्षीय योजना

नगर विकास को लेकर 500 करोड़ लागत की बनाई गई पंचवर्षीय योजना

बालाघाट (देवेंद्र खरे) - प्रदेश के ऐतिहासिक बजट में जिले को अनेक सौगात मिली है। जहां सरेखा, भटेरा और गर्रा रेलवे क्रार्सिंग में ओवरब्रिज बनाने का कार्य स्वीकृत किया गया है वहीं जागपुर नदी में बालाघाट और वारासिवनी विधानसभा को जोड़ने वाले पुल की स्वीकृति भी मिली है। जिससे बालाघाट  का विकास अब तेजी से होगा। ओवरब्रिज बनने से जहां रेलवे क्रार्सिंग पर जाम की समस्या से छुटकारा मिल जायेगा। वहीं जागपुर नदी से पुलिया निर्माण के बाद 10 किलोमीटर फेरे मार्ग से छुटकारा के साथ ही व्यवसाय और शिक्षा को लेकर आसपास के ग्रामीणों को आसानी होगी। यह बात बजट पर बालाघाट विधानसभा को मिली निर्माण कार्यो की स्वीकृति को लेकर आयोजित प्रेसवार्ता में पूर्व मंत्री एवं विधायक गौरीशंकर बिसेन ने कही। 

नगर विकास को लेकर 500 करोड़ लागत की बनाई गई पंचवर्षीय योजना

उन्होंने बताया कि बालाघाट विधानसभा में लालबर्रा के बाद बालाघाट में तेजी से और बड़े विकास कराये जा रहे है। उन्होंने कहा कि जल्द ही बालाघाट क्षेत्र में ओवरब्रिज, पुल और सड़को का जाल बिछेगा। 

पूर्व मंत्री एवं विधायक बिसेन ने कहा कि सरेखा, भटेरा और गर्रा रेलवे क्रार्सिंग पर ओवरब्रिज के सर्वे का कार्य पूरा हो गया है और जल्द ही डीपीआर तैयार होकर सरकार के पास मंजूरी के लिए जायेगा। जिसके बाद टेंडर प्रक्रिया पूरा होने के बाद जल्द ही इस पर निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया जायेगा। एक अनुमान के अनुसार आगामी डेढ़ से दो साल में यह कार्य पूरा हो जायेगा। इसके अलावा बहुप्रतिक्षित जागपुर नदी पर पुलिया निर्माण के एक बड़े कार्य को बजट में स्वीकृति मिली है। चूंकि बीते बारिश के मौसम में डेम से ज्यादा पानी छोड़े जाने के कारण वैनगंगा नदी में कुम्हारी से धपेरा के बीच बन रहा पुलिया की उंचाई तक पानी का बहाव देखा गया था, जिससे सबक लेकर इस बार न केवल धपेरा से कुम्हारी के बीच बनने वाले पुल का पुल का रिवाईज डीपीआर तैयार कर उसके उंचाई बढ़ाये जाने का प्रयास किया जा रहा है उसी तरह जागपुर नदी में बनने वाले पुलिया की उंचाई के लिए भी स्वीकृत राशि में आबंटन बढ़ाकर पुलिया को उंचा बनाने का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इसके अलावा सरकार ने हाल ही में मिशन नगरोदय के तहत प्रदेश के नगरीय निकायों में लगभग 3300 करोड़ रूपये की लागत की विभिन्न हितग्राही प्रधानमंत्री आवास योजना,संबल योजना, अत्‍येष्ठि सहायता योजना, भवन सनिर्माण कर्मकार कल्‍याण विवाह सहायता योजना, कर्मकार कल्‍याण, श्रमिक पंजीयन कार्ड हितग्राहियों को सहायता राशि प्रदान की गई। वहीं सैकड़ो प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत भवन निर्माण कर रहे हितग्राहियों के खाते में राशि एक क्लिक से सीधे ऑनलाईन वितरित की गई है।

प्रदेश की भाजपा सरकार गरीब, मजदूर, किसान और आम वर्गो की सरकार है। आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश को लेकर सरकार लगातार प्रयत्नशील है, प्रदेश के मुख्यमंत्री दिन-रात प्रदेश की जनता के भलाई के लिए कार्य कर रहे है और जनप्रतिनिधियो के नाते हमारी भी जवाबदारी है कि हम अंत्योदय के पं. दिनदयाल उपाध्याय के सपनों को साकार करने में जुटे रहे है। आगामी समय में नगरीय निकाय चुनाव होने है, निर्वाचित जनप्रतिनिधियों की नगरीय निकाय सरकार अपने अनुसार कार्य करती है लेकिन इससे पूर्व सरकार ने नगरीय विकास के लिए एक विजन तैयार किया है, जिसके तहत सरकार प्रदेश के नगरीय क्षेत्र को मॉडल शहर बनाने का काम करने वाली है। जिसके तहत सरकार ने विजन तैयार किया है और उस विजन के तहत आगामी समय में नगरीय क्षेत्र के विकास को लेकर सरकार अपना कार्य करेगी।

181 लाख रूपये की लागत से बनेगी दो सड़के

बालाघाट नगरीय क्षेत्र में करोड़ो रूपये की लागत से दो सड़को का निर्माण कार्य किया जायेगा। जिसमें डिवाईडर के साथ हनुमान चौक से रेलवे स्टेशन रोड और बिना डिवाईडर के पॉलीटेक्निक कॉलेज स्थित सेन चौक से मोक्षधाम तक चौड़ी सड़क का निर्माण कार्य किया जायेगा। जो वर्तमान में आवागमन की दृष्टि से खराब हो गई है। जिसका कार्य जल्दी ही प्रारंभ किया जायेगा। 

सरकार के संकल्प का परिणाम है एस्ट्रोटर्फ

पूर्व मंत्री एवं विधायक गौरीशंकर बिसेन ने कहा कि बहुप्रतिक्षित एस्ट्रोटर्फ मैदान को लेकर कहा कि बालाघाट जिले की जनता जानती है कि शहीद चंद्रशेखर आजाद स्पोटर््स काम्पलेक्स के हॉकी मैदान को सिंथेटिक एस्ट्रोटर्फ में बदलने का प्रयास पर हमारे द्वारा कैसे प्रयास किये गये है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने स्वयं हॉकी मैदान में आयोजित टूर्नामेंट के दौरान मैदान को एस्ट्रोटर्फ में बदलने की घोषणा की थी। जिसे सरकार ने संकल्प के साथ हम सभी के प्रयास से इसके निर्माण की स्वीकृति दी है। और जिसका भूमिपूजन करके निर्माण कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है ।

नगरीय क्षेत्र के 5 साल का विजन विकास

उन्होंने कहा कि सरकार ने मिशन नगरोदय के तहत नगरीय क्षेत्र के 5 साल के विकास का विजन दिया है। जिसमें बालाघाट नगरीय क्षेत्र में  लगभग 500 करोड़ रूपये की लागत से सीवर लाईन सहित सड़क, नाले व नालीयाँ,पुलिया, पाईपलाईन, पार्को और तालाबों का सौन्द्रयीकरण, इलेक्ट्रिफिकेशन, रात्रिकालीन आश्रयों का निर्माण एवं विस्तार, स्वच्छता जैसे कार्यो पर राशि खर्च की जायेगी। उन्होंने कहा कि नगरीय क्षेत्र में काफी समय से सीवर लाईन की समस्या बनी है, जिसके कारण अक्सर बरसात में पानी का जलभराव नगरीय क्षेत्र में देखा जाता है, जिसके लिए सरकार द्वारा नगरोदय मिशन के तहत बनाये गये विजन में इसको लेकर स्पष्ट रूप से बताया गया है कि सीवर लाईन का कार्य नगरीय क्षेत्र में किया जायेगा। जिससे बालाघाट नगरीय क्षेत्र में जलभराव की समस्या खत्म हो जायेगी। 

पत्रकारवार्ता के दौरान राजकुमार रायजादा, युवा नेत्री श्रीमती मौसम हरिनखेड़े, दिलीप चौरसिया, सत्यनारायण अग्रवाल, भाजपा नगर अध्यक्ष सुरजीतसिंह ठाकुर उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments