मसीह अस्पताल को चालू कराने को लेकर कांग्रेस जिलाध्यक्ष पटेल ने मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री ओर कलेक्टर को किया पत्राचार | Masihi aspatal ko chalu krne ko lekar congress jiladhyaksh patel

मसीह अस्पताल को चालू कराने को लेकर कांग्रेस जिलाध्यक्ष पटेल ने मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री ओर कलेक्टर को किया पत्राचार

तीन दिन में अस्पताल चालू नही हुआ तो आंदोलन किया जाएंगा

मसीह अस्पताल को चालू कराने को लेकर कांग्रेस जिलाध्यक्ष पटेल ने मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री ओर कलेक्टर को किया पत्राचार

आलीराजपुर (रफीक क़ुरैशी) - विगत दिनों जिले के मसीह अस्पताल जोबट में भर्ती एक गर्भवती नर्स मरीज की इलाज के दौरान मौत हो गई थी। इस मामले में क्षेत्र के एक संगठन के दबाव में जिला प्रषासन की मनमानीपूर्ण तथा एक तरफा कार्यवाही के तहत अस्पताल को सील कर दिया गया है। जबकि पिछले कई वर्षाे से यह अस्पताल निःस्वार्थ ओर सेवाभाव से क्षेत्र में उत्कृष्ट स्वास्थ्य सेवाऐं दे रहा था। अस्पताल बंद हो जाने से जिले के मरीजों को ईलाज संबंधी परेषानियों का सामना करना पड रहा है। इस मामले को लेकर जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेष पटेल ने प्रदेष के मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री ओर कलेक्टर को पत्राचार के माध्यम से अवगत कराकर उक्त अस्पताल को चालु करने की मांग की है। साथ ही श्री पटेल ने चेतावनी देते हुए कहा कि आगामी तीन दिनो मे जोबट अस्पताल चालु नही किया गया तो जिला कांग्रेस कमेटी, अस्पताल के कर्मचारीयों एवं जोबट नगरवासीयों द्धारा व्यापक धरना देकर आंदोलन किया जावेगा, जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी प्रषासन की रहेंगी। 

आजादी से पुर्व निस्र्वाथ चिकित्सा सेवाएं दे रहा अस्पताल

जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष महेष पटेल ने मसीह अस्पताल को बंद करे जाने संबंधी निर्णय का घोर विरोध प्रकट करते हुए जनहीत में यह अस्पताल शीघ्र चालू करने की मांग की है। इसके पुर्व इस आषय की मांग जोबट नगरीय क्षैत्र एवं ग्रामीण क्षेत्र की जनता ने भी हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन कलेक्टर एवं एसडीएम को सौंपकर अस्पताल चालू करने की मांग की थी। श्री पटेल नेे बताया कि जोबट स्थित मसीह अस्पताल भारत की आजादी से पूर्व वर्ष 1922 से इस आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र में पूर्ण सेवाभाव के साथ अपनी निःस्वार्थ स्वास्थ्य संबंधी सर्वश्रेष्ठ सेवाऐं देता आ रहा है। उक्त अस्पताल को अनेक पुरस्कार भी प्राप्त हुए हे, पूरे क्षेत्र में इस अस्पताल में सर्वाधिक प्रसिद्धि हासिल कर रखी है। एक प्रकार से यह अस्पताल क्षेत्रवासियो के लिए वरदान है। श्री पटेल ने बताया कि अस्पताल प्रबंधन ने वर्ष 2017 से ही अस्पताल के रजिस्ट्रेषन के नवीनकरण की कार्यवाही कर दी थी। परंतु जिला अस्पताल ने इस दिषा में कोई उचित कार्यवाही ओर दिषा नही दी। इसमें अस्पताल प्रबंधन का क्या कसूर है..? जिलाध्यक्ष पटेल ने मुख्यमंत्री चोहान, स्वास्थ्य मंत्री एवं जिला कलेक्टर से पत्राचार कर मांग की है कि क्षैत्र के मरीजों को स्वास्थ्य संबंधी हो रही परेषानियों को देखते हुए उक्त अस्पताल को तत्काल चालू किया जाए। अन्यथा कांग्रेस सडको पर उतरकर आंदोलन करेंगी। 

Post a Comment

0 Comments