डॉक्टर ने बंद रखी क्लीनिक व ओपीडी मरीज हुए परेशान | Dr ne band rakhi clinic va opd marij hue pareshan

डॉक्टर ने बंद रखी क्लीनिक व ओपीडी मरीज हुए परेशान

आई एम ए ने बुलाया था बंद मेडिकल कॉलेज अस्पताल में जूडा ने काम बंद कर किया प्रदर्शन

आयुष डॉक्टर्स ने पिंक रिविन बांधकर किया इलाज 

डॉक्टर ने बंद रखी क्लीनिक व ओपीडी मरीज हुए परेशान

जबलपुर (संतोष जैन) - केंद्र सरकार के आयुर्वेद चिकित्सक को सर्जरी का अधिकार देने से नाराज एलोपैथी डॉक्टर्स ने शुक्रवार को 12 घंटे तक मरीजों तक बंद रखा डॉक्टर की क्लीनिक बंद रही प्राइवेट अस्पतालों की ओपीडी सूनी रही सुबह 6:00 से शाम 6:00 बजे तक डायग्नोस्टिक सेंटर भी बंद रहे बंद के समर्थन में मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन भी शामिल रहा जूडा कॉलेज भवन के सामने प्रदर्शन किया सरकार से आयुर्वेद चिकित्सकों शल्यक्रिया के लिए दी गई अनुमति पर पुनर्विचार करने की मांग की इस दौरान उपचार और जांच कराने आए कई मरीज परेशान हुए दूसरे शहर से आए मरीज प्राइवेट अस्पताल और क्लीनिक में उपचार नहीं मिलने से भटकते रहे रूटीन जांच के लिए पहले से अपॉइंटमेंट लेकर आए मरीजों को हड़ताल की सूचना नहीं देने से नाराज नजर आए दूसरे शहर से आए कई मरीज भटकने के बाद सरकारी अस्पतालों में उपचार के लिए पहुंचे सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर की अतिरिक्त ड्यूटी लगाई गई आई एम ए बिल्डिंग राइट टाउन में डॉक्टर पवन स्थापक डॉक्टर आरके पाठक डॉ संगीता श्रीवास्तव डॉ सुनील बहल डॉक्टर अभिजीत बिश्नोई ने सांकेतिक प्रदर्शन के बाद कहा कि आई एम ए किसी पेथी का विरोध नहीं करता है लेकिन उसे मिक्स अप कर खिचड़ी पेथी नहीं बनाया जाए सरकार के प्रावधान से ईएनटी डेंटल आई सर्जरी सर्जरी जनरल सर्जरी करने के लिए आयुर्वेद डॉक्टर अधिकार प्राप्त कर लेंगे  सर्जरी की अनुमति से पहले शोध और ट्रेनिंग के द्वारा उसकी अधोसंरचना सरकार को पहले तैयार करना चाहिए

 आयुष डॉक्टर ने पिंक रिविन बांधकर किया इलाज

 आयुर्वेद डॉक्टर ने एलोपैथिक डॉक्टर के दावों को खारिज करते हुए कहा कि वे भी साडे 4 वर्ष का स्नातक और फिर स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम पढ़ने और प्रशिक्षण के बाद उपचार करते हैं आयुर्वेद डॉक्टर्स ने शुक्रवार को पिंक रिविंग बांधकर बंद के दौरान पूरे समय स्वास्थ्य उपचार सेवा दी

Post a Comment

0 Comments