दोस्तों के साथ मिलकर की थी हत्या, चार आरोपी गिरफ्तार | Dosto ke sath milkar ki thi hatya

दोस्तों के साथ मिलकर की थी हत्या, चार आरोपी गिरफ्तार

नाजायज संबंध साबित हुई वजह, गिरवर हत्याकांड का खुलासा

दोस्तों के साथ मिलकर की थी हत्या, चार आरोपी गिरफ्तार

डिंडौरी (पप्पू पड़वार) - डिंडौरी के गाड़ासरई थानांतर्गत गिरवरपुर गांव में स्कूल के नजदीक रविवार को बरामद अधेड़ की लाश के मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने हत्याकांड में शामिल पांच आरोपियों में से 4 को गिरफ्तार कर लिया है। वारदात की वजह मृतक ने मुख्य आरोपी की पत्नी के साथ नाजायज संबंध को बतलाया गया है।

पुलिस ने अपराध में प्रयुक्त आर्टिका कार,डंडा, मोटरसायकल और मृतक के मोबाइल को भी जप्त करने में सफलता पाई है। गुरुवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में मामले का खुलासा करते हुए पुलिस कप्तान संजय सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विवेक कुमार लाल, SDOP रवि प्रकाश ने बताया कि रविवार की शाम गाड़ासरई थानांतर्गत गिरवरपुर गांव में स्कूल के पास सुनसान जगह पर एक शव पाया गया था। मृतक की पहचान रिश्तेदारों ने तुलाराम उर्फ नर्बद मरावी 42 वर्ष निवासी रझाईटोला

दोस्तों के साथ मिलकर की थी हत्या, चार आरोपी गिरफ्तार

समनापुर के रूप में की थी।

घटनास्थल पर मिले प्रारंभिक सबूत और शव के पोस्टमार्टम ने हत्या के तथ्य आने पर सोमवार को पुलिस ने धारा 302, 201 के तहत हत्या का मामला कायम कर अज्ञात आरोपियों की तलाश शुरू कर दी। पुलिस कप्तान संजय सिंह,ASP विवेक कुमार लाल एवं SDOP रविप्रकाश के मार्गदर्शन में उपनिरीक्षक वेदराम हिनौते को तहकीकात के दौरान मालूम हुआ कि मृतक तुलाराम गांव के ही हेमराज उर्फ भेला मरकाम के साथ बाइक में शनिवार की शाम गाड़ासरई की तरफ गया था। प्राप्त सूचना को शक का आधार मान पुलिस टीम ने घेराबंदी कर हेमराज को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी। पूछताछ के दौरान हेमराज ने अपने चार दोस्तों के साथ मिलकर हत्या करना स्वीकार किया और बताया कि मृतक तुलाराम और उसकी पत्नी के बीच अवैध संबंध थे जिससे तंग आकर हेमराज ने धर्मेंद्र सोनवानी, संजू अंधवान, इस्माइल खान और आशीष तिवारी के साथ हत्या की साजिश रची। जिसके तहत शनिवार की शाम हेमराज ने अपनी पुत्री नीलावती को ग्राम कोसमडीह छोड़ने का बहाना बनाया और तुलाराम की बाइक से तीनों गाड़ासरई की तरफ निकल गए। जिनके पीछे आर्टिका कार क्रमांक MP 52 CA 0899 में धर्मेंद्र,संजू, इस्माइल एवं आशीष तिवारी भी पहुंच गए और रात लगभग 8 बजे सभी ने तुलाराम को गिरवरपुर के पहले रोक मारपीट शुरू कर दी। इस दौरान हेमराज ने तुलाराम के सर पर डंडे से प्रहार कर दिया। जिससे तुलाराम अचेत होकर मौके पर गिर गया। उसके बाद सभी ने अंधेरे का फायदा उठा अचेत तुलाराम को कार में डाल गांव के नजदीक नर्सरी प्लांट पर ठिकाने लगा दिया और भाग गये।

पुलिस ने बुधवार की शाम चार आरोपियों को धारा 302, 201 34 के तहत गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त कार, डंडा,मोटरसाइकिल,मोबाइल बरामद कर लिया है। एक अन्य आरोपी की तलाश शुरू कर दी गई है।

Post a Comment

0 Comments