राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष श्री प्रजापति ने समीक्षा की | Rashtriya pichhda varg ayog ke upadhyaksh shri prajapati ne samiksha ki

राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष श्री प्रजापति ने समीक्षा की
राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष श्री प्रजापति ने समीक्षा की

उज्जैन (रोशन पंकज) - राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष डॉ.लोकेश कुमार प्रजापति ने आज शाम सर्किट हाऊस में पिछड़ा वर्ग के पदाधिकारियों एवं अधिकारियों के साथ पिछड़ा वर्ग की योजनाओं की समीक्षा की। इस अवसर पर श्री विवेक जोशी, श्री बहादुरसिंह बोरमुंडला, मप्र माटी कला बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष श्री अशोक प्रजापत, कलेक्टर श्री आशीष सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री मनोज कुमार सिंह, अपर आयुक्त नगर निगम श्री मनोज कुमार पाठक, श्री गब्बरसिंह भाटी, श्री कैलाश प्रजापत, श्री दिनेश कुंभकार, एएसपी श्री अमरेंद्र सिंह, डीएसपी अजाक श्रीमती ज्योति भार्गव तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। आयोग के उपाध्यक्ष श्री प्रजापति ने विभागवार पिछड़ा वर्ग के लिये चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं एवं पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं की छात्रवृत्ति, छात्रावास तथा विभागों में पिछड़ा वर्ग के अधिकारी-कर्मचारियों की संख्या आदि की जानकारी प्राप्त की।
बैठक में पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग की सहायक संचालक सुश्री अनुराधा शेकवार ने उज्जैन जिले में विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं यथा पोस्टमैट्रिक छात्रवृत्ति, सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना, मेधावी प्रोत्साहन योजना, पिछड़ा वर्ग के पोस्टमैट्रिक बालक एवं कन्या छात्रावास, छात्रगृह योजना, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना आदि की जानकारी दी। आयोग के उपाध्यक्ष श्री प्रजापति ने शिक्षा विभाग के अधिकारी श्रीमती संगीता से छात्र-छात्राओं की छात्रवृत्ति के बारे में जानकारी प्राप्त की। शिक्षा विभाग के अधिकारी ने अवगत कराया कि वर्ष 2018-19 में पिछड़ा वर्ग के 81 हजार से अधिक छात्रों को छात्रवृत्ति वितरित की है। आयोग के उपाध्यक्ष ने बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजना के बारे में जानकारी प्राप्त की। इस सम्बन्ध में कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने बताया कि पूर्व सर्वे के आधार पर प्रधानमंत्री आवास योजना में पात्र लोगों को आवास उपलब्ध कराये जा चुके हैं और शेष हितग्राहियों को पात्रता अनुसार आवास उपलब्ध कराये जाने की प्रक्रिया जारी है। आयोग के उपाध्यक्ष ने पिछड़ा वर्ग के बच्चों के जाति प्रमाण-पत्र आदि के बारे में जानकारी प्राप्त की। बैठक में कलेक्टर ने पिछड़ा वर्ग के अधिकारी को निर्देश दिये कि विभागवार ओबीसी की जानकारी एकत्रित कर आयोग के अध्यक्ष को उपलब्ध कराई जाये। बैठक में पिछड़ा वर्ग के प्रतिनिधि श्री महेन्द्र कटियार ने आयोग के उपाध्यक्ष के समक्ष मांग की कि उज्जैन शहर में पिछड़ा वर्ग का मांगलिक भवन नहीं है। इस पर उपाध्यक्ष ने सम्बन्धितों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

Post a Comment

0 Comments