बिजली बिलों की शिकायत निराकरण के लिए 1000 शिविर लगेंगे | Bijli bilo ki shikayat nirakran ke liye 1000 shivir lagenge

बिजली बिलों की शिकायत निराकरण के लिए 1000 शिविर लगेंगे

ऊर्जस एप पर प्रत्येक शिविर की जानकारी होगी अपलोड

बिजली बिलों की शिकायत निराकरण के लिए 1000 शिविर लगेंगे

इंदौर। लाक डाउन के दौरान रीडिंग समय पर नहीं होने को लेकर बिलों की शिकायतों के निराकरण के लिए प्रभावी पहल की गई है। ऊर्जा विभाग के निर्देश पर मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी मालवा व निमाड़ में 1000 शिविर लगाकर बिजली बिलों संबंधी समस्याओं का निराकरण करेगी। इस दौरान शासन की कोविड सहायता की जानकारी भी दी जाएगी।

मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी इंदौर के प्रबंध निदेशक  विकास नरवाल ने उच्च स्तरीय बैठक में उक्त जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 12 जुलाई तक अलग-अलग बिजली जोन व वितरण केंद्र से संबंधित इलाकों में शिविर लगेंगे। प्रत्येक बिजली जोन व वितरण केंद्र में एक से लेकर तीन शिविरों का आयोजन होगा। श्री नरवाल ने बताया कि इन शिविरों में जन प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया जाएगा। उन्हें भी शासन की योजनाओं की जानकारी दी जाएगी। शिविरों के लिए कंपनी से नोडल अधिकारी नामित किए जा रहे है। श्री नरवाल ने बताया कि लाक डाउन के दौरान कई स्थानों पर औसत व एकसाथ ली गई रीडिंग को लेकर शिकायतें मिली है, इनका निराकरण भी किया जाएगा। प्रत्येक शिविर की जानकारी उसी दिन ऊर्जस एप पर अपलोड की जाएगी, ताकि शिविर की पूरी डिटेल सर्वर में अपडेट हो सके। श्री नरवाल ने बताया कि इंदौर शहर में 60 शिविर लगेंगे, इंदौर ग्रामीण में करीब 120 शिविर आयोजित हो रहे है। अन्य जिलों में 50 से 100 शिविर आयोजित होंगे, स्थानीय जन प्रतिनिधियों की मांग, विभागीय आवश्यकताओं के हिसाब से शिविरों की संख्या 1000 से ज्यादा भी हो सकती है। इस बैठक में मुख्य महाप्रबंधक संतोष टैगोर, निदेशक  मनोज झंवर, कार्यपालक निदेशक  गजरा मेहता, वरिष्ठ अधिकारी सर्वश्री सुब्रतो राय, आरएस खत्री, आरके नेगी ने भी विचार रखे।

*पहले दिन शहर में 4 आयोजन*

इंदौर शहर अधीक्षण यंत्री  कामेश श्रीवास्तव ने बताया कि  अरण्य नगर, ओपीएच ईस्ट एवं अन्नपूर्णा जोन, एयरपोर्ट जोन पर शिविरों का आयोजन हुआ। इन शिविरों में 92 शिकायतों का मौके पर समाधान किया गया।

Post a Comment

0 Comments