समाज में सबसे ऊंचा स्थान बुजुर्गों का | Samaj main sabse ucha sthan buzurgo ka

समाज में सबसे ऊंचा स्थान बुजुर्गों का

सिविल लाईन में लगातार 15वें वर्ष हुआ बुजुर्ग सम्मान समारोह का आयोजन

एमआईसी सदस्य कमलेश अग्रवाल ने लगभग 2 हजार बुजुर्गों का किया सम्मान

नव वर्ष की पूर्व संध्या पर यशवन्दन समारोह

समाज में सबसे ऊंचा स्थान बुजुर्गों का

जबलपुर (संतोष जैन) - सिविल लाईन थाने के सामने प्रांगण में प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी नव वर्ष की पूर्व संध्या पर पार्षद एवं एमआईसी सदस्य कमलेश अग्रवाल द्वारा लगातार 15वें वर्ष बुजुर्गों का सम्मान समारोह आयोजित किया गया। जिसमें 104 वर्ष तक के वृद्धों का आर्शीवाद प्राप्त करते हुये उन्हें सम्मानित किया गया। साथ ही गायक कलाकार दिलीप कोरी एवं नयन कपूर ने अपने मधुर गीतों से बुजुर्गों का मनोरंजन किया। यशवन्दन सम्मान समारोह में मंचासीन जगत गुरू स्वामी राघव देवाचार्य, न्यायमूर्ति एचपी सिंह, पूर्व महापौर प्रभात साहू, निगत अध्यक्ष सुमित्रा बाल्मिकी, लेखराज सिंह ‘मुन्ना’, प्रवीण वर्मा, युवा मोर्चा अध्यक्ष रंजीत पटेल, काके आनन्द, जय सचदेवा, अर्चना अग्रवाल, राधिका अग्रवाल थे एवं कार्यक्रम का संचालन विनोद नयन द्वारा किया गया।
सम्मान समारोह के अवसर पर जगत गुरू स्वामी राघव देवाचार्य ने केन्द्र सरकार द्वारा लागू किये गये नागरिकता संशोधन अधिनियम के संदर्भ में अपने विचार व्यक्त किये और समस्त श्रोताओं को बताया कि यह अधिनियम देश में आये शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिये लागू किया गया है। यह अधिनियम लोगों को फलिभूत करने के लिये है जो वर्षों से इस देश में शरणार्थियों के रूप में अपना जीवन बिता रहे हैं। इस अधिनियम से किसी भी धर्म के व्यक्ति की नागरिकता का हनन नहीं होता है।

एमआईसी सदस्य कमलेश अग्रवाल ने कहा कि, ये मेरे लिये सौभाग्य का विषय है कि लगातार 15वें वर्ष भी इस आयोजन में लगभग 2 हजार बुजुर्गों ने हमें आर्शीवाद दिया। जिनमें 102,103 और 104 वर्ष तक के वृद्ध शामिल हैं। यदि आपको समाज में अच्छा स्थान हासिल करना है तो बुजुर्गों का आर्शीवाद सबसे महत्वपूर्ण हैं क्योंकि समाज में सबसे उंचा स्थान बुजुर्गों का है और उनके द्वारा जो आर्शीवाद प्राप्त होता है वह ईश्वरीय अनुभूति देता है और साधारण सा मनुष्य भी बड़े से बड़े लक्ष्य को आसानी से प्राप्त कर सकता है। परिवार में भी बुजुर्गों का होना अति आवश्यक है और इस सम्मान समारोह में सम्मिलित हुये सभी वरिष्ठ जनों से मिलकर पारिवारिक अनुभूति होती है। समाज की प्रगति में भी बुजुर्गों का योगदान अतुलनीय है।

इस अवसर पर अन्शुमान शुक्ला, ऋषि पाण्डे, प्रणीत वर्मा, आयुष चौबे, पवन रजक, कमल सिंह, अनिकेत चौरसिया, आकाश गुप्ता, प्रतीक पाण्डे, राहुल कनौजिया, हरप्रीत कौर आदि उपस्थित थे। 

Post a Comment

0 Comments