प्रदेश सरकार की जनविरोधी नितियों एंव राजगढ की घटना के विरोध में भाजपा करेगी कलेक्टर कार्यालय का घेराव | Pradesh sarkar ki janvirodhi nitiyo evam rajgad ki ghatna ke virodh main bhajpa

प्रदेश सरकार की जनविरोधी नितियों एंव राजगढ की घटना के विरोध में भाजपा करेगी कलेक्टर कार्यालय का घेराव

प्रदेश सरकार की जनविरोधी नितियों एंव राजगढ की घटना के विरोध में भाजपा करेगी कलेक्टर कार्यालय का घेराव

आलीराजपुर (रफीक क़ुरैशी) - भाजपा जिला कार्यालय पर बेठक का आयोजन किया गया। बेठक मे प्रदेश प्रवक्ता नागरसिह चोहान, भाजपा जिला अध्यक्ष वकिल सिह ठकराला, जोबट के पुर्व विधायक माधुसिह डावर, पुर्व जिला अध्यक्ष राकेश अग्रवाल, हिरालाल शर्मा उपस्थित थे। बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश प्रवक्ता चोहान ने बताया कि भारत सरकार द्वारा सीएए एक्ट को पारित कर पाकिस्तान, अफगानिस्तान एंव बांगलादेश में रहने वाले अल्पसंख्यक समुदाय को भारत की नागरीकता प्रदान करने का जो कानुन पास किया है उसके चलते इन देशों में रह रहे प्रताडित लोगों को भारत की नागरीकता मिलेगी और वे भी आम भारतियों की तरह अपना जिवन यापन कर पाएगें। लेकिन कांग्रेस सहित विपक्षी दल द्वारा लोगों को भडकाकर अराजकता का माहोल बनाया जा रहा है। इस कानुन के पक्ष में राजगढ में भारतीय जनता पार्टी व आमजनों के द्वारा तिरंगा यात्रा निकाली जा रही थी। जिसको लेकर वहा के कलेक्टर व डिप्टी कलेक्टर के द्वारा जो व्यवहार किया गया वह शर्मनाक है। ऐसा लगता है कि प्रदेश में अधिकारी कांग्रेसी ऐजेंट बनकर काम कर रहे है। बैठक मे भाजपा जिलाध्यक्ष वकीलसिह ठकराला ने कहा की कांग्रेस के राज मे अधिकारीयों के द्वारा किए जा रहे मनमानीपुर्वक व्यवहार व प्रदेश सरकार की नाकामी के विरोध में भाजपा के द्वारा कलेक्टर कार्यालय का घेराव किया जाएगा। ठकराला ने कहा की अधिकारीयों के द्वारा कांग्रेस सरकार के दबाव में काम किया जा रहा है। तभी तो हाल ही मे एक सप्ताह के अंदर भाजपा नेताओं पर दो बार एफआईआर दर्ज की गई है। ठकराला ने कहा की कांग्रेस की सरकार जन भावनाओं को दबाना चाहती हैऔर इसलिए पुलिस प्रशासन का साथ लेकर इस प्रकार के कृत्य कर रही है। ठकराला ने भाजपा कार्यकर्ताओं से आव्हान किया की 24 जनवरी को होने वाले धरने में हजारों की संख्या में कार्यकर्ता अलीराजपुर आए। पुर्व विधायक श्री डावर ने कहा की आजादी के समय देश का विभाजन धर्म के आधार पर किया गया था जिसे तब के प्रधानमत्री नेहरू ने स्विकार किया था उस समय १७ प्रतिशत से अधिक हिन्दु पाकिस्तान मे ही रह गए थे। जिनके उपर अनेक वर्षो तक अत्याचार किए गए जिसके चलते हजारों हिन्दु परिवारों ने अपना घर छोडकर भारत में शरण ले रखी थी, इस पीडित लोगों के लिए ही सीएए कानुन लाया गया है। बैठक को राकेश अग्रवाल व हीरालाल शर्मा ने भी संबोधित किया।

Comments

Popular posts from this blog

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News

कुल देवी देवताओं के प्रताप से होती है गांव की समृद्धि smradhi Aajtak24 News