दादा गुरुदेव की जन्म और निर्वाण तिथि पर सेवा के सुर | Dada gurudev ki janm or nirvan tithi pr seva ke sur

दादा गुरुदेव की जन्म और निर्वाण तिथि पर सेवा के सुर

दादा गुरुदेव की जन्म और निर्वाण तिथि पर सेवा के सुर

रानापुर (ललित बंधवार) - श्वेताम्बर त्रिस्तुतिक जैन समाज की अनन्त श्रद्धा के केंद्र दादा गुरुदेव श्री मद राजेंन्द्र सूरीश्वरजी महाराज की जन्म एवं निर्वाण तिथी पोष शुक्ला सप्तमी के अवसर पर श्री राजेंद्र जैन नवयुवक (ओसवाल) परिषद द्वारा "सेवा के सुर" अंतर्गत कई कार्यो का आयोजन किया । परिषद के प्रवक्ता अवि सुरेश ने एक जानकारी देते हुए बताया कि प्रातः गुरुगुण एक्किसा पाठ ,स्नात्र पूजन एवं गुरु प्रतिमा पर केसर पूजन से प्रारम्भ हुआ । अस्पताल में मरीज एवं उनके साथ आये परिजनों को मिठाई, नमकीन, फ्रूट और बिस्किट के पैकेट दिए गए।गोशाला में गायो को गुड़ खिलाया गया।परिषद के अध्यक्ष राजेश एम जैन की जन्म तारीख होने से इसका लाभ लिया गया।  कुष्ठ रोगी आश्रम में रोगियों को भोजन कराया गया।तालाब में मच्छियों के लिए परमल,चने डाले गए। कार्यक्रम में ओसवाल परिषद के सुरेश समीर,प्रदीप भंसाली, कमलेश नाहर, राजेश जैन,मोनू सेठ,मनीष सकलेचा, ललित सकलेचा, राहुल नागोरी, तरुण सकलेचा,अक्षत सकलेचा,सन्दीप जैन एवं डॉ उषा गेहलोत, डॉ चौहान, डॉ एस गहलोत उपस्थित थे।कोड़ी आश्रम में फा, निरंजन,सिस्टर फ़ुल्केरिया एवं पत्रकार निर्मल पंड्या,महेश राठौड़, विनोद पंचाल,पंकज जागेटिया,मुकेश परमार,आदि उपस्थित थे। इस मौके पर 2019 को बिदाई एवं 2020 का स्वागत किया ।

दादा गुरुदेव की जन्म और निर्वाण तिथि पर सेवा के सुर

Post a Comment

0 Comments