भीटा में हुई महिला की अंधी हत्या का खुलासा | Bhita main hui mahila ki andhi hatya ka khulasa

भीटा में हुई महिला की अंधी हत्या का खुलासा

मृतिका के पुत्र का ही दोस्त निकला हत्यारा

भीटा में हुई महिला की अंधी हत्या का खुलासा

थाना - शहपुरा, जिला -जबलपुर , अपराध क्र. 380/19 धारा - 302 ताहि
नाम मृतिका :- श्रीमति राधा बाई पति मुन्ना लाल कुशवाहा उम्र 50 साल निवासी ग्राम
भीटा थाना शहपुरा जिला जबलपुर
नाम गिरफ्तार आरोपी :- राहुल झारिया पिता हल्कूराम झारिया उम्र 19 साल निवासी ग्राम भीटा थाना शहपुरा जिला जबलपुर

जबलपुर (संतोष जैन) - दिनांक 02.11.19 को थाना शहपुरा में पवन कुमार कुषवाहा निवासी सुरई ने ग्राम कोटवार गंगो बाई के साथ आकर सूचना दी थी कि राधा बाई कुषवाहा अपने मायके में अकेली रहती थी, राधा बाई का पति और पुत्र गोटेगांव में ढाबा में काम करते है। राधा बाई की धारदार हथियार से गले में चोट पहुंचाकर किसी अज्ञात व्यक्ति ने हत्या कर दी है, सूचना पर  पहुंचे थाना प्रभारी शहपुरा आर. के. गौतम द्वारा घटित हुई घटना से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया। सूचना पर अति.पुलिस अधीक्षक अपराध (प्रभारी - ग्रामीण) श्री षिवेष सिंह बघेल, एसडीओपी पाटन श्री रोहित काषवानी (भा.पु.से.) एवं एफ.एस.एल., फिंगर प्रिंट की टीम मौके पर पहुंची टीम की उपस्थिति में घटना स्थल का निरीक्षण करते हुये शव को पी.एम. हेतु भिजवाया गया, दौरान निरीक्षण के घटना स्थल के पास नाली में एक खून लगा बैलन एवं हंसिया मिला जिसे जप्त करते हुये अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।
            
पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री अमित सिंह (भा.पु.से.) द्वारा घटित घटना को गंभीरता से लेते हुये अज्ञात आरोपी की पतासाजी के सबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये एवं आरोपी की अविलंब गिरफ्तारी हेतु आदेशित किया गया, अति.पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डाँ. राय सिंह नरवरिया के द्वारा  भी घटना स्थल का निरीक्षण किया गया एवं आरोपी की पतासाजी के संबंध में दिशा निर्देश दिये गये। एस.डी.ओ.पी. पाटन श्री रोहित काषवानी (भा.पु.से.) के नेतृत्व में थाना प्रभारी शहपुरा आर. के. गौतम के हमराह थाने की टीम गठित की गई।
            
घटना स्थल के निरीक्षण से यह बात स्पष्ट हो गयी थी कि हत्यारा जाना पहचाना एवं करीबी व्यक्ति है जिसे ध्यान में रखते हुये टीम के द्वारा ग्राम भीटा, फुलर और सिमरिया के लगभग 100 से अधिक लोग पुराने बदमाष, अवैध शराब बैचने बाले और आदतन जुआ खेलने वालो से ग्राम भीटा में चोपाल लगाकर पूछताछ की गई, तो एक मात्र तथ्य यह आया की राहुल झारिया मृतिका के पुत्र अब्बू का खास दोस्त था और अब्बू के साथ जुआ खेलता था और जुआ में हार भी गया था दूसरा तथ्य यह प्रकाश में आया कि दिनांक 27.10.19 को दिपावली की रात्रि से मृतिका के घर के पास आम के पेड के नीचे लगातार  4-5 दिन तक रोज रात में ग्रामवासी भीटा के जुआ खेलते थे, जुआ खेलने वालो में मृतिका का पुत्र अब्बू उर्फ अभिषेक भी शामिल रहता था, अब्बू का एक मात्र दोस्त राहुल झारिया जिसका की मृतिका राधा बाई के घर आना जाना था, दिनांक 31.10.19 की रात्री में राहुल झारिया जुआ में पैसे हार गया और अपने दोस्त अब्बू से पैसे उधार मांगे थे जिस पर अब्बू ने पैसे नहीं है कहकर मना कर दिया, तो राहुल झारिया ने कहां की मम्मी (राधा बाई) के पास पैसे है, मगाकर दे दो परन्तु अब्बू ने मम्मी के पास पैसे नहीं है कहकर पैसे देने से इंकार कर दिया था, दिनांक 01.11.19 को अब्बू अपने पिता के साथ प्रातः 09.00 बजे की बस से भीटा से गोटेगांव जिला नरसिहपुर चला गया, जाते समय भी अब्बू से राहुल की बात चीत हुई, राहुल के साथ में गांव के भरत झारिया, गौरीषंकर चौधरी, धीरज गौड ने भी आखरी समय राहुल झारिया को अब्बू से बस में बैठते तक बात करते हुये देखा सुना। विवेचना में एक तथ्य यह भी प्रकाष में आया कि राहुल झारिया हमेषा अपने पास एक स्टील का चाकू कभी शर्ट में पेन की भांति तथा कभी फुल पेंट की जेब में रखता था इस बात की पुष्टी जब गांव के बहुत से लोगो ने की, तो राहुल झारिया को अभिरक्षा में लेकर चाकू रखने के संबंध में पूछताछ की गई, तो पास में मटर काटने के लिये चाकू रखना बताया, शंका होने पर कड़ाई से पूछताछ करने पर राहुल झारिया ने चोरी की नियत से जुआ में हारे रूपयां को कबर करने और जुआ खेलने के लिये चोरी की नियत से राधा बाई के खुले घर (टपरिया) में घुसना और राधा बाई के सोती अवस्था में जग जाने पर गले में चाकू मार देने की बात स्वीकार की है। आरोपी से घटना में प्रयुक्त स्टील का चाकू जप्त किया जाकर आरोपी को मान. न्यायालय पेष किया जा रहा है।

उल्लेखनिय भूमिका - अंधी हत्या के खुलासे में थाना प्रभारी आर. के. गौतम, उनि हेमंत यादव, उनि आरती मंडलोई, उनि धर्मेन्द्र राजपूत, उनि सूर्यकांत पटले, प्रआर. रामकरण, लाल सिंह, आर प्रमोद, दिनेष, अभिषेक, राहुल, वीरेन्द्र, अरूण, दीपक की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री अमित सिंह (भा.पु.से.) ने टीम को नगद पुरूष्कार से पुरूष्कृत करने की घोषणा की है।

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News