अतिथि विद्वानों की पीड़ा पर छिन्दवाड़ा पुलिस का कुठाराघात | Atithi vidhvano ki pida pr chhindwara police ka kutharaghat

अतिथि विद्वानों की पीड़ा पर छिन्दवाड़ा पुलिस का कुठाराघात

शहर से पहले रोकी गई अतिथि विद्वानों की यात्रा


छिन्दवाड़ा (हिमानी सोनी/गरिमा विश्वकर्मा) - प्रदेश के शासकीय महाविद्यालयों में पिछले 2 दशकों से अध्यापन कार्य कर रहे अतिथिविद्वान सरकार की वादाखिलाफी और मंत्री जीतू पटवारी के  झूठे आश्वासन से आक्रोशित होकर मुख्यमंत्री के गृह जिले छिन्दवाड़ा में शांतिपूर्वक यात्रा को रोका छिंदवाड़ा प्रशासन ने।  

पूरा मामला छिंदवाड़ा सहित पुरे मध्य प्रदेश के अतिथि विद्वानों  का है जो की मुख़्यमंत्री के विधानसभा छिंदवाड़ा में धरना आंदोलन को लेकर बड़ी संख्या में एकत्रीत हुए  थे और छिंदवाड़ा मुख्यालय में अपनी मांगो को लेकर मुख़्यमंत्री के नाम ज्ञापन सपने वाले थे। परन्तु प्रशासन के आदेश पर बड़ी सख्या में पुलिस बल ने आंदोलन को विफल किया और वही प्रशासन के आला अधिकारियो ने धारा 144 का भी हवाला देकर अतिथि विद्वानों को आंदोलन की अनुमति नहीं दी गई।

Post a Comment

0 Comments