महावीर बाग मंदिर की द्वितीय प्रतिष्ठा वर्षगांठ दिवस पर मुख्य शिखर पर हुआ ध्वजारोहन | mahavir baag mandir ki dvitiya pratishta varshghat divas

महावीर बाग मंदिर की द्वितीय प्रतिष्ठा वर्षगांठ दिवस पर मुख्य शिखर पर हुआ ध्वजारोहन

सत्तर भेदी पूजन के साथ अष्ट प्रभावक एवं पंन्यास प्रवर ने दिए समाजजनों को प्रेरणादायी प्रवचन

महावीर बाग मंदिर की द्वितीय प्रतिष्ठा वर्षगांठ दिवस पर मुख्य शिखर पर हुआ ध्वजारोहन

झाबुआ (मनीष कुमट) - शहर के दिलीप गेट पर स्थित महावीर बाग मंदिर की द्वितीय प्रतिष्ठा वर्षगांठ दिवस पर मुख्य शिखर पर ध्वजारोहण कार्यक्रम 10 नवंबर, रविवार को कार्तिक सुदी तेरस संवत 2076 को श्री ऋषभदेव बावन जिनालय में चातुर्मास हेतु विराजित परम् पूज्य गच्छाधिपति आचार्य देवेष अष्ट प्रभावक आचार्य श्रीमद् विजय नरेन्द्र सूरीष्वरजी मसा ‘नवल’ एवं पंन्यास प्रवर प्रवर श्री जिनेन्द्र विजयजी मसा ‘जलज’ आदि ठाणा-2 की निश्रा में रखा गया। कार्यक्रम के आयोजक श्री आदिनाथ राजेन्द्र पारमार्थिक जैन श्वेतांबर ट्रस्ट रहा। इस अवसर पर मंदिर में मुख्य रूप से सत्तर भेदी पूजन, वार्षिक चढ़ावे, श्री गोतम स्वामी द्वार एवं श्री सुधर्मा स्वामी द्वार की बोलियां भी लगाई गई।

महावीर बाग पर रविवार सुबह 9 बजे से श्री सत्तरभेदी पूजन हुई। पूजन विधिकारक तपोनिष्ठ सुश्रावक वेलजी भाई शाह इंदौर द्वारा संपन्न करवाई गई। पूजन का लाभ रमेषचन्द्र बांठिया परिवार ने लिया। यह पूजन करीब 1 घंटे तक चली। बाद श्री जिन मंदिर पर ध्वजारोहण लाभार्थी रमेषचन्द्र, यष, पुवम, हित, अवधि बांठिया परिवार ने लेते हुए मंदिर के षिखर पर ध्वजारोहण किया। मंत्रोच्चार जिनेन्द्र विजयजी मसा ने किया। तत्पष्चात् आचार्य नरेन्द्र सूरीष्वरजी मसा एवं पंन्यास प्रवर जिनेन्न्द्र विजयी मसा ने समाजजनों को प्रेरणादायी प्रवचन दिए। इस दौरान श्री महावीर बाग पर स्थित श्री गोतम स्वामीजी द्वार एवं श्री सुधर्मा स्वामी द्वार तथा वार्षिक चढ़ावे की बोलियां लगाई गई। अंत में सभी के लिए साधर्मी वात्सलय का आयोजन हुआ।

Post a Comment

0 Comments