सिंधिया के मंत्री और विधायक सरकार को बदनाम करने में लगे हैं: प्रबल प्रताप सिंह मावई | Sindhiya ke mantri or vidhayak sarkar ko badnam krne main lage hai

सिंधिया के मंत्री और विधायक सरकार को बदनाम करने में लगे हैं: प्रबल प्रताप सिंह मावई                

सिंधिया के मंत्री और विधायक सरकार को बदनाम करने में लगे हैं: प्रबल प्रताप सिंह मावई

मुरैना (संजय दीक्षित) - कांग्रेस के सियासी घमाशान में पूर्व विधायक स्व. सोवरन सिंह मावई के पुत्र प्रबल प्रताप सिंह मावई का दर्द झलककर सामने आया उन्होंने आज अपने निवास पर पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि मंत्री और बडे स्तर के नेता आपा खोकर कांग्रेस की गाइड लाइन से बाहर बयान दे रहे हैं, उन पर कोई कार्यवाही नहीं की जाती हैं और मुझ जैसे छोटे कार्यकर्ता पर बर्खास्तगी की कार्यवाही कर दी गई। मेरी माँग है कि जो भी मंत्री दिग्विजय सिंह और कमलनाथ सरकार के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं, उनको बर्खाश्त किया जाये। एक सवाल के जबाब में उन्होंने कहा कि तमाम लोग मलाई खा रहे हैं और इस तरीके का बयान दे रहे हैं विधायक उनके विरूद्ध चिल्ला रहे हैं फिर भी कोई सुन नहीं रहा है। सिंधिया हो या कमलनाथ, दिग्विजय सिंह हो किसी भी वरिष्ठ के खिलाफ दिये गए बयान पर वही कार्यवाही करनी चाहिए  जो मेरे साथ की गई है। मावई ने कहा कि कांग्रेस के नाम पर जो मंत्री, एमएलए बने हैं ये कांग्रेस से हैं कांग्रेस इनसे नहीं है। डा. गोविंद सिंह के बयान पर सवाल पूछने पर उन्होंने टाल दिया। उन्होंने कहा कि मैं भडास नहीं निकाल रहा हूं पन्द्रह साल में सरकार आई हैं इसलिए दर्द मुझे भी हो रहा है। मैं कांग्रेसी हूं और कांग्रेसी ही रहूंगा। सिंधिया के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं सिंधिया जी की बात नहीं कर रहा हूं जो एमएलए बयान दे रहे हैं वो किसके है वो सबको पता है। उन्होंने कहा कि सरकार को कोई खतरा नहीं है सरकार सुरक्षित है। लेकिन अगर सरकार भी गिरती है तो कोई परेशानी नहीं, ऐसे लोगों को कांग्रेस से बाहर निकाल देना चाहिए। सब मलाई एवं लूट कर रहे हैं और दिग्विजय सिंह को बदमान कर रहे हैं। सबसे ज्यादा हालत खराब सिंधिया जी केे एमएलए और मंत्रियों की है जो हमारी सरकार को ब्लैक मेल कर रहे हैं और बदनाम कर रहे हैं।सिंधिया के मंत्री और विधायक सरकार को बदनाम करने में लगे हैं।सरकार हमारी सुरक्षित हैं,अगर सरकार गिरती हैं तो ऐसे विधायक और मन्त्रियों को पार्टी से निकाल देना चाहिए।

Post a Comment

0 Comments