अति प्राचीन सिद्धी विनायक गणेष मंदिर पर महाआरती का हुआ आयोजन | Ati prachin siddhi vinayak ganesh mandir pr maha arti ka hua ayojan

अति प्राचीन सिद्धी विनायक गणेष मंदिर पर महाआरती का हुआ आयोजन, जिला न्यायाधीष एके तिवारी ने की महाआरती

अति प्राचीन सिद्धी विनायक गणेष मंदिर पर महाआरती का हुआ आयोजन

1100 लड्डूओं का प्रसाद किया वितरित

झाबुआ (अली असगर बोहरा) - शहर के एकमात्र कॉलेज मार्ग स्थित प्राचीन जगदीश मंदिर में स्थापित अति प्राचीन सिद्धी विनायक गणेश मंदिर पर 2 सितंबर, सोमवार को गणेषोत्सव पर्व के प्रथम दिन दोपहर 12 बजे महाआरती का आयोजन हुआ। महाआरती में अतिथि के रूप में जिला न्यायाधीश एके तिवारी उपस्थित हुए। पश्चात् महाप्रसादी के रूप में 1100 लड्डूओं का प्रसाद भक्तों को वितरित किया गया।

मंदिर के पूजारी पं. जगदीश पंडा ने बताया कि अति प्राचीन सिद्धी विनायक गणेश मंदिर पर प्रतिवर्ष गणेषोत्सव पर्व उत्साह और उल्लास के साथ मनाया जाता है। पर्व के दौरान 10 दिनों तक मंदिर में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ती है। जगदीष मंदिर में स्थित यह गणेशजी की प्रतिमा अतिप्राचीन होकर चमत्कारिक भी है। प्रतिमा के दर्शन एवं पूजन से भक्तों की मनोकामनाएं पूर्ण होती है। सिद्धी विनायक गणेष मंदिर पर सोमवार को प्रातःकाल 6 बजे प्रतिमा का अभिषेक बाद मनमोहक श्रृंगार पूजारी जगदीष पंडा ने किया। 

10 दिनों तक चलेगा दर्षन-पूजन का क्रम

दोपहर 12 बजे महाआरती हुई। जिसमें अतिथि के रूप में जिला न्यायधीश एके तिवारी के साथ वार्ड क्र के 1 के युवा पार्षद पपीष पानेरी एवं अनेकों भक्तजनों ने लाभ लिया। पश्चात् सभी भक्तों को 1100 लड्डूओं का प्रसाद वितरित किया। इसके अलावा गणेषोत्सव के दौरान 10 दिनों तक यहां दिनभर श्रद्धालुओं के दर्षन-पूजन का क्रम चलेगा। प्रतिदिन शाम 7.30 बजे आरती होगी। विशेष आरती 11 सितंबर को शाम 7.30 बजे की जाएगी। 

Post a Comment

0 Comments