जांजगीर चांपा लोकसभा में फिर खिला कमल, कमलेश जांगड़े ने पूर्व मंत्री डहरिया को 60 हजार से वोटों से हराया haraya Aajtak24 News

 

जांजगीर चांपा लोकसभा में फिर खिला कमल, कमलेश जांगड़े ने पूर्व मंत्री डहरिया को 60 हजार से वोटों से हराया haraya Aajtak24 News 

जांजगीर चांपा - छत्तीसगढ़ की एक मात्र अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित जांजगीर चांपा लोकसभा सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व मंत्री शिव कुमार डहरिया की हार हुई है भारतीय जनता पार्टी श्रीमती कमलेश जांगड़े को 678199 मत प्राप्त हुए। वहीं क्रमशः इंडियन नेशनल कॉग्रेस डॉ शिवकुमार डहरिया को 618199, बहुजन समाज पार्टी डॉ रोहित डहरिया को 48501, हमर राज पार्टी श्री अनिल मनहर को 5780, भारतीय शक्ति चेतना पार्टी श्री गोपाल प्रसाद खुंटे को 1483, आजाद जनता पार्टी श्री जगजीवन राम सतनामी को 837, आजाद समाज पार्टी (काशीराम) श्री दीपक कुमार खूंटे को 1829, छत्तीसगढ़ विकास गंगा राष्ट्रीय पार्टी श्रीमती बृन्दा चौहान को 924, राष्ट्रीय जनसभा पार्टी श्री विजय कुमार कुर्रे को 983, असंख्य समाज पार्टी श्रीमती विजयलक्ष्मी सूर्यवंशी नट को 1422, शक्ति सेना (भारत देश) अधिवक्ता शैलेन्द्र बंजारे (शक्तिपुत्र) को 1253, निर्दलीय श्री अरविन्द कुमार को 1715, निर्दलीय श्री आनंदराम गिलहरे को 2877, निर्दलीय श्री एड.टी.आर. निराला को 5794, निर्दलीय मीना चौहान को 2931, निर्दलीय इंजीनियर रेवा कुर्रे को 8159, निर्दलीय श्रीमती विद्यादेवी सोनी को 4881 एवं निर्दलीय सीमा महिलांगे को 1336 मत प्राप्त हुए एवं इनमें से कोई नहीं (नोटा) के 5137 मत प्राप्त हुए। इसके साथ ही रिटर्निंग अधिकारी श्री आकाश छिकारा ने श्रीमती कमलेश जांगड़े को निर्वाचन प्रमाण पत्र सौंपा।

2019 में ये थे चुनाव परिणाम

1.गुहाराम अजगले (भाजपा) 5,72,790 वोट अंतर (45.91% वोट दर)

2.रवि भारद्वाज (कांग्रेस) 4,89,535 वोट अंतर (39.24% वोट दर)

3.दाऊ राम रत्नाकर (बसपा) 1,31,387 वोट (10.53% वोट दर)

नोटा 9,981 वोट (0.8% वोट दर)

इस बार बढ़ा मतदान प्रतिशत

7 मई को हुए तीसरे चरण के मतदान में जांजगीर चांपा लोकसभा के मतदाताओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया इस बार कुल 67.56 प्रतिशत वोट पड़े छत्तीसगढ़ का जांजगीर-चांपा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र भारत की चुनावी राजनीति में अपना महत्वपूर्ण स्थान रखता है. जांजगीर-चांपा की जनसांख्यिकी विविधताओं से भरी है और चुनावी नजरिए से यह छत्तीसगढ़ के लोकसभा क्षेत्रों में रोचक और अहम है. इस निर्वाचन क्षेत्र में विगत 2019 के लोकसभा चुनाव में 65.57% मतदान हुआ था।

1984 में पहली बार खिला था कमल

जांजगीर-चांपा लोकसभा में 1984 में पहली बार भाजपा ने इस सीट पर अपना पैर जमाना शुरू किया इससे पहले भारतीय जनसंघ के रूप में पार्टी पांच बार दूसरे स्थान पर रही भाजपा के कद्दावर नेता दिलीप सिंह जूदेव ने पहली बार 1989 में पार्टी का खाता खोला और कांग्रेस के प्रभात मिश्रा को हराया अगली बार 1991 में कांग्रेस पार्टी के भवानी लाल वर्मा ने दिलीप सिंह जूदेव को हराया हालांकि 1996 में मनहरण लाल पांडेय फिर और उसके बाद 2004 में करुणा शुक्ला ने पार्टी को जीत दिलाई तब से लगातार यह सीट भाजपा के खाते में है।

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News