इंदौर के अस्पताल द्वारा बुजुर्ग को बनाया गया बंधक bandhak Aajtak24 News


इंदौर के अस्पताल द्वारा बुजुर्ग को बनाया गया बंधक bandhak Aajtak24 News 

खंडवा - इंदौर के 76 वर्षीय अनिल कुमार सोनी को  हार्ट की प्रॉब् एफसीलम के कारण 18 मार्च 2024 को इंदौर के मेदांता हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया जहां अस्पताल द्वारा ओपन बाईपास सर्जरी करने के लिए 5 लाख का खर्च बताया गया, लेकिन अस्पताल की लापरवाही के कारण सर्जरी बिगड़ने पर अन्य प्रॉब्लम शुरू हो गई जिससे उन्हें ज्यादा दिन अस्पताल में रखना पड़ा और 1 मई 2024 को अस्पताल द्वारा 21 लाख 53 हज़ार का बिल थमा दिया बिल न भरने की स्थिति में  76 वर्षीय अनिल कुमार सोनी को अस्पताल द्वारा बंधक बनाकर रखा गया है उनकी बेटी पल्लवी द्वारा बताया गया की हमे एस्टीमेट 5 लाख रुपए का दिया गया था हमने बड़ी मुश्किल से 650000 स्वयं और ₹200000 मुख्यमंत्री सहायता कोष से अस्पताल को उपलब्ध करा दिए अब डिस्चार्ज करते समय अस्पताल द्वारा हमें 21 लाख 53 हज़ार का बिल थमा दिया गया है। जिसे हम भरने में असमर्थ हैं अस्पताल वाले पिताजी को छोड़ नहीं रहे हैं उन्हें बंधक बना लिया गया है। अतः सरकार से निवेदन है कि हमें न्याय दिलाया जाए यह कहना है। उनकी बेटी का  पल्लवी का जब हमारे संवाददाता द्वारा अस्पताल के प्रबंधक से संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया बिल भरने के बाद ही हम उन्हें छोड़ेंगे जबकि जब हमने उसे पूछा जब बिल 21 लाख 53 हज़ार का बनाया गया है। तो मुख्यमंत्री सहायता कोर्स में 10 लाख का एस्टीमेट क्यों दिया इसको लेकर प्रबंधन द्वारा जवाब दिया गया कि हमें आदेश है। कि हम 10 लाख से अधिक का एस्टीमेट नहीं दे सकते हमारा अस्पताल प्रबंधन से सीधा सवाल है जिस इलाज़ का 21 लाख 53 हज़ार का बिल  दिया गया तो एस्टीमेट 10 लाख का क्यों ऐसे ही कई गमले मध्य प्रदेश की कई अस्पतालों में चल रहे हैं।


indaur ke aspataal dvaara bujurg ko banaaya gaya bandhak
khandava - indaur ke 76 varsheey anil kumaar sonee ko haart kee prob ephaseelam ke kaaran 18 maarch 2024 ko indaur ke medaanta hospital mein daakhil karaaya gaya jahaan aspataal dvaara opan baeepaas sarjaree karane ke lie 5 laakh ka kharch bataaya gaya, lekin aspataal kee laaparavaahee ke kaaran sarjaree bigadane par any problam shuroo ho gaee jisase unhen jyaada din aspataal mein rakhana pada aur 1 maee 2024 ko aspataal dvaara 21 laakh 53 hazaar ka bil thama diya bil na bharane kee sthiti mein 76 varsheey anil kumaar sonee ko aspataal dvaara bandhak banaakar rakha gaya hai unakee betee pallavee dvaara bataaya gaya kee hame esteemet 5 laakh rupe ka diya gaya tha hamane badee mushkil se 650000 svayan aur ₹200000 mukhyamantree sahaayata kosh se aspataal ko upalabdh kara die ab dischaarj karate samay aspataal dvaara hamen 21 laakh 53 hazaar ka bil thama diya gaya hai. jise ham bharane mein asamarth hain aspataal vaale pitaajee ko chhod nahin rahe hain unhen bandhak bana liya gaya hai. atah sarakaar se nivedan hai ki hamen nyaay dilaaya jae yah kahana hai. unakee betee ka pallavee ka jab hamaare sanvaadadaata dvaara aspataal ke prabandhak se sampark kiya gaya to unhonne bataaya bil bharane ke baad hee ham unhen chhodenge jabaki jab hamane use poochha jab bil 21 laakh 53 hazaar ka banaaya gaya hai. to mukhyamantree sahaayata kors mein 10 laakh ka esteemet kyon diya isako lekar prabandhan dvaara javaab diya gaya ki hamen aadesh hai. ki ham 10 laakh se adhik ka esteemet nahin de sakate hamaara aspataal prabandhan se seedha savaal hai jis ilaaz ka 21 laakh 53 hazaar ka bil diya gaya to esteemet 10 laakh ka kyon aise hee kaee gamale madhy pradesh kee kaee aspataalon mein chal rahe hain.

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News