भारतीय बौद्ध महासभा द्वारा संविधान निर्माता डॉ.अम्बेडकर की 133 वी जयंती का किया आयोजन aayojan Aajtak24 News

 


भारतीय बौद्ध महासभा द्वारा संविधान निर्माता डॉ.अम्बेडकर की 133 वी जयंती का किया आयोजन aayojan Aajtak24 News 

छिंदवाड़ा - भारतीय बौद्ध महासभा ,त्रिरत्न जनकल्याण समिति एवं सुजाता महिला संघ के तत्वावधान में डॉ  आंबेडकर तिराहे पर संविधान के शिल्पकार भारत रत्न,सिम्बल ऑफ नॉलेज डॉ.बाबासाहब भीमराव अम्बेडकर की 133 वी  जयंती की पूर्व संध्या पर जयंती केक काटकर उत्सव मनाया गया  14 अप्रैल को प्रातः 9:30 बजे भारतीय बौद्ध महासभा द्वारा मेडिकल कॉलेज से रैली बस स्टैंड होते हुए डॉ आंबेडकर तिराहा पहुंची दूसरी रैली त्रिरत्न जनकल्याण समिति सुजाता महिला संघ के तत्वाधान में डॉ आंबेडकर तिराहा पहुची जयंती समारोह का संचालन जिला उपाध्यक्ष एड राजेश सांगोडे द्वारा किया गया सर्वप्रथम डॉ आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण प्रदेश उपाध्यक्ष  कार्यक्रम अध्यक्ष एड रमेश लोखंडे मुख्य अतिथि मेडिकल कॉलेज डीन डॉ गिरीश रामटेके विशिष्ट अतिथि साहित्यकार एस आर शेंडे संरक्षक मनोहर नारनवरे कोषाध्यक्ष लेखराम पगारे सचिव एस आर बेले ममता सहारे सुनीता निकोसे ,मीडिया प्रभारी शुभम सहारे , भीमराव  सोमकुंवर, डॉ सुनील श्यामकुँवर , सुभाष गोंडाने ,कमला डेहरिया ,मोतीराम सुखदेवे ,मारोती गोलाइत  ,चन्द्रकला बेले ,लीला नारनवरे ,करण कावड़े ,वसंता सोमकुंवर ,नामदेव सोमकुंवर ,एड प्रशांत गजभिये ,सुदेश ठवरे ,प्रहलाद अहिरवार ,मोहित मानकर ,नवीन डेहरिया ,राघवेंद्र सोमकुंवर ,नीलेश मांडेकर ,नवनीत डेहरिया, प्रवीण पाटिल, अंकित बिहारे ,नीलेश सोमकुंवर ,कपूरचंद काकोड़िया,ममता लोखंडे,रमा सुखदेवे ,अल्कानंदा दुर्गे सहित सैकड़ो उपासक उपासिका एवं भीमसैनिको द्वारा डॉ आंबेडकर को अभिवादन किया गया तदुपरांत पंचशील ध्वजरोहन कर सुजाता महिला संघ द्वारा सामूहिक बुद्ध वंदना कराई  गयी तदुपरांत मुख्य अतिथि एवं उपस्थित अतिथियों के हस्ते भारतीय बौद्ध महासभा के ट्रस्टी चेयरमैन डॉ चन्द्रबोधी  पाटिल के अमृत महोत्सव पर प्रकशित पुस्तक डॉ चन्द्रबोधी पाटिल धम्मपथिक की संघर्षगाथा पुस्तक का विमोचन कर वितरित की गयी|  कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश  उपाध्यक्ष एड.रमेश लोखंडे द्वारा की गयी जयंती समारोह को प्रदेश उपाध्यक्ष एड.रमेश लोखंडे, मुख्य अतिथि मेडिकल कॉलेज डीन डॉ गिरीश रामटेके ,साहित्यकार एस आर शेंडे, संरक्षक मनोहर नारनवरे ,ममता श्यामकुँवर ,प्रवीण पाटिल नीलेश सोमकुंवर कपूरचंद काकोड़िया सहित कई वरिष्ठ पदाधिकारियो द्वारा सम्बोधित किया। जयंती समारोह को सम्बोधित करते हुए समाज सेवक एड.रमेश लोखंडे ने अपने उदबोधन में कहा कि,डॉ.बाबासाहब भीमराव अम्बेडकर केवल संविधान के शिल्पकार ही नहीं बल्कि वें उच्च कोटि के राजनीतिज्ञ,अर्थशास्त्री,इतिहासकार,दार्शनिक,संसद पटु,लेखक थे। उन्होंने उस जमाने में उच्च स्तरीय  विश्व के जाने माने विश्वविद्यालय में पढ़ाई कर 32 डिग्रीयॉ हासिल की, वें 8 भाषाओं के ज्ञाता थे। उन्होंने 14 अक्टूबर 1956 को नागपुर की दीक्षा भूमि पर लाखों अनुयायियों के साथ बौद्ध धर्म अपनाकर भारत में बुद्ध धम्म की पुनर्स्थापना की। उन्होंने संवैधानिक उपबंधों के माध्यम से भारत मे लोकतांत्रिक व्यवस्था स्थापित की। बाबासाहब द्वारा प्रतिपादित समता स्वतंत्रता बंधुता व न्याय की स्थापना करना हम सब का दायित्व बताते हुए लोकतंत्र को मजबूत करने हेतु भारी संख्या में मतदान किये जाने की देशवासियो से अपील की। समारोह के प्रमुख अतिथि मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ.गिरीश रामटेके ने अपने उदबोधन में कहा कि,डॉ.बाबासाहब का जीवन संघर्ष सबके लिए  प्रेरणादायक है।वें गरीब परिवार में जन्म लेकर अपनी प्रखर बुद्धिमत्ता के बल पर विश्व के महान विद्वान  बने। उनका शिक्षित बनो संगठित  रहो संघर्ष करो का जयघोष अपनाकर सभी भारतीय स्वयं का,समाज का देश का कल्याण कर सकता है। विशिष्ट अतिथि साहित्यकार एस.आर.शेंडे ने  आगाह किया कि,वर्तमान परिदृश्य को देखते हुए संविधान,संवैधानिक मूल्यों,व संवैधानिक संस्थाओं की हिफाज़त करना समय की मांग है।अपने अधिकारों की प्राप्ति व अन्याय के खिलाफ एकजुटता से संघर्ष करने  आवश्यक बताई। भारतीय बौद्ध महासभा द्वारा मेडिकल कॉलेज को डॉ आंबेडकर का नाम दिए जाने की मांग शाशन प्रशाशन के समक्ष रखी। जयंती  समारोह का आभार प्रदर्शन जिला उपाध्यक्ष एड.राजेश सांगोड़े द्वारा किया गया ।






Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News