मंत्री श्री कावरे के तीन साल बेमिशाल उपलब्धियों से भरा रहा है श्री कावरे का तीन साल का कार्यकाल ka karyakal Aaj Tak 24 news

 


मंत्री श्री कावरे के तीन साल बेमिशाल उपलब्धियों से भरा रहा है श्री कावरे का तीन साल का कार्यकाल  ka karyakal Aaj Tak 24 news 

बालाघाट - मध्य प्रदेश शासन के आयुष एवं जल संसाधन राज्य मंत्री  श्री राम किशोर "नानो" कावरे ने तीन साल पहले आज ही के दिन मंत्री पद की शपथ ली थी। मध्य प्रदेश के संपूर्ण महाकौशल क्षेत्र से प्रदेश मंत्रिमंडल में मंत्री बनने वाले वे एकमात्र सदस्य हैं और मंत्रिमंडल में सबसे युवा हैं । आयुष मंत्री श्री कावरे के मंत्री कॉल के तीन साल बेमिसाल रहे हैं । उनका तीन साल का कार्यकाल अनेकों उपलब्धियों से भरा हुआ है। आयुष मंत्री श्री कावरे ने आयुष एवं जल संसाधन विभाग के राज्य मंत्री का दायित्व पूरी जिम्मेदारियों के साथ निभाया है। इन विभागों की योजनाओं को धरातल पर पहुंचाने और जन जन तक उनका लाभ दिलाने के लिए उन्होंने सार्थक प्रयास किए हैं। मंत्री श्री कावरे ने विकास कार्यों के लिए दलगत और क्षेत्रीय भावना से ऊपर उठकर जनकल्याण की सोच के साथ काम किया है। बालाघाट जिले में शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, परिवहन सभी क्षेत्रों में विकास के लिए उन्होंने अपना योगदान दिया है। बालाघाट जिले में चाहे मेडिकल कॉलेज की स्वीकृति का मामला हो या फिर रेलवे ओवर ब्रिज या वैनगंगा नदी पर बड़े पुलों के निर्माण का मामला हो उन्होंने इन कार्यों के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। मंत्री श्री कावरे के प्रयासों से वर्षों से बंद पड़े सातनारी जलाशय का काम हुआ है। जल संसाधन विभाग के मंत्री होने के नाते उन्होंने इस परियोजना के  लिए 10 करोड़ 29 लाख रुपये स्वीकृत कराए हैं और सातनारी जलाशय का काम शुरू करवाया है। सखे का दंश झेल रहे परसवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के 55 गांव के 12 हजार किसानों के लिए 146 करोड़ रुपये की लामता माइक्रो पाइप इरीगेशन परियोजना का काम प्रारंभ कराया है। ग्राम बोड़ुंदाकला में मैंंगनीज कलस्टर आधारित पांच बड़े उद्योगों की स्थापना के लिए कारगर प्रयास किए हैं । इससे 5000 लोगों को रोजगार प्राप्त होगा । आयुष मंत्री श्री कावरे ने 750 करोड़ के एम.ओ.यू. पर हस्ताक्षर कर उद्योग क्रांति की शुरुआत परसवाड़ा विधानसभा क्षेत्र से की है।धापेवाडा में 10 करोड़ की लागत से 50 बिस्तरों के आयुष अस्पताल की स्थापना काम शुरू कराया है। आयुष मंत्री श्री कावरे ने आदिवासी बाहुल्य परसवाड़ा क्षेत्र की ग्रामों में सड़कों का जाल बिछाने के लिए व्यापक स्तर पर प्रयास किए हैं । सड़के बनाने के लिए विभिन्न योजनाओं से राशि लेकर आए हैं उनके प्रयासों से परसवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में 80 करोड़ रुपये की लागत से 50 नई सड़कों का निर्माण प्रारंभ कराया है। बिजली की समस्या के निदान के लिए 5 करोड़ की लागत से बघोली एवं समनापुर में नए विद्युत सब स्टेशन की स्थापना की जा रही है। लामता प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उन्नयन किया जा रहा है। इसके लिए 13 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत कराये गए हैं। आयुष मंत्री श्री कावरे ने बालाघाट जिले में 40 आयुष हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर की स्वीकृति दिलाई है। लामता कालेज भवन का निर्माण 8 करोड़ रुपये की लागत से कराया जा रहा है। लामता कालेज में एम.ए., एम.एस-सी. कक्षाएं भी प्रारंभ हो रही हैं।परसवाड़ा कॉलेज में ढाई करोड़ की लागत से अतिरिक्त कक्ष का निर्माण कराया जा रहा है। इससे छात्र छात्राओं को बैठने में सुविधा होगी। आयुष मंत्री श्री कावरे ने कहा कि बालाघाट को एजुकेशन हब बनाना हमारी प्राथमिकता रही है और इस दिशा में हम अंत तक प्रयास करते रहेंगे । मैंंगनीज कलस्टर आधारित उद्योगों की स्थापना और दुग्ध क्रांति की शुरुआत के लिए हमने इन्वेस्टर सम्मिट कराई है और अब उसके परिणाम सामने आने लगे हैं।सिकलसेल जैसी गंभीर बीमारी भी बालाघाट जिले के कुछ गांव में है हम उसे रोकने में सफल हो रहे हैं । मध्य प्रदेश की संवेदनशील सरकार द्वारा सिकलसेल से पीड़ित लोगों को पेंशन प्रदान की जा रही है । यह खुशहाल मध्यप्रदेश की पहचान है । लाडली बहना  योजना बना कर हमने बहनों के आत्मसम्मान में वृद्धि की है। हर माह 1000 रुपये मिलने से आज हमारी माताएं बहनेंं आत्मनिर्भर हो रही है। किसान सम्मान निधि के रूप में हम किसानों को खेती कार्य के लिए सहयोग और संबल प्रदान कर रहे हैं, उनके आत्मसम्मान को बढ़ा रहे हैं । मजबूत किसान समृद्धी की शान से देश भी समृद्ध  हो रहा है। निर्बाध रूप से परसवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के गांव गांव तक बिजली मिलती रहे इसके लिए राज्य शासन से 172 करोड रुपए की स्वीकृति दिलाई गई है। आयुष मंत्री श्री कावरे ने अपने 3 साल के कार्यकाल में लगभग 5000 करोड रुपए के विकास कार्य अपने क्षेत्र के लिए स्वीकृत कराए हैं।  65 ग्राम पंचायतों में सामुदायिक भवन बन रहे हैं। कोरजा में स्पेशल सेंट्रल एसिस्मेंट मद की 7.70 करोड़ रुपये की राशि से तीन सड़कों के निर्माण का काम शुरू किया गया है। स्पेशल सेंट्रल एसेसमेंट मद की 02 करोड़ 75 लाख 19 हजार रुपये की राशि से 05 किलोमीटर लंबाई की ठेमा-कोरजा-बोदा सड़क, 02 करोड़ 68 लाख 57 हजार रुपये की लागत से 03 किलोमीटर लंबाई की  खैरलांजी से सरेखा सड़क और 02 करोड़ 25 लाख 62 हजार रुपए की लागत से 03 किलोमीटर लंबाई की ठेमा से ढिपुर सड़क का निर्माण किया जाना है। कोविड-19 काल में आयुष मंत्री श्री कावरे के नेतृत्व में आयुष विभाग ने कोविड के नियंत्रण में सक्रिय भागीदारी निभाई और त्रिकटु चूर्ण के माध्यम से आम लोगों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद की। आयुष मंत्री श्री कावरे ने अपने मंत्री काल के 3 साल पूरे होने पर कहा कि परसवाड़ा विधानसभा क्षेत्र की जनता ने उन्हें अपना प्रतिनिधि चुनकर प्रदेश शासन में मंत्री बनने का अवसर दिया है। इसके लिए वे परसवाड़ा क्षेत्र की जनता के सदैव ऋणी रहेंगे ।  परसवाड़ा क्षेत्र की जनता की उम्मीदों और अपेक्षाओं पर खरा उतरने के लिए उन्होंने पूरा प्रयास किया है। आगे भी वे अपने क्षेत्र, जिले और प्रदेश की जनता की सेवा के लिए सदैव तत्पर रहेंगे।

Comments

Popular posts from this blog

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News

कुल देवी देवताओं के प्रताप से होती है गांव की समृद्धि smradhi Aajtak24 News