मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में 273 जोड़ों का कराया गया विवाह vivah krwaya gaya Aaj Tak 24 news

 

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में 273 जोड़ों का कराया गया विवाह vivah krwaya gaya Aaj Tak 24 news 

बालाघाट  -  मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना मध्यप्रदेश शासन की एक महत्वपूर्ण योजना है। ऐसे परिवार जो गरीबी के कारण अपनी कन्या का विवाह करने में सक्षम नहीं होते हैं, उन कन्याओं के विवाह के लिए यह योजना बनाई गई है। इस योजना में जाति एवं धर्म का कोई बंधन नहीं रखा गया है। हर जा‍ति धर्म के गरीब लोग इस योजना में अपनी कन्या का विवाह कराने के लिए पात्र है। इस योजना में गरीब परिवार की कन्या का विवाह करा कर, मध्यप्रदेश सरकार पुण्य का काम कर रही है। यह बातें मध्यप्रदेश शासन के आयुष एवं जल संसाधन राज्य मंत्री श्री रामकिशोर नानो कावरे ने आज 04 मार्च को समनापुर में आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम में उपस्थित वर-वधुओं एवं उनके परिजनों को संबोधित करते हुए कही। आयुष मंत्री श्री कावरे ने इस अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि गरीब परिवार की कन्या का विवाह करने के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की पहल पर मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना लागू की गई है। गरीब परिवार की बेटी की शादी में बड़े लोग नहीं जाते थे। लेकिन इस योजना में होने वाले सामुहिक विवाह में सभी जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य लोग उपस्थित रहकर गरीब परिवार का सम्मान बढ़ा रहे है। इस योजना ने गरीब परिवारों को बेटी के विवाह खर्च की चिंता से मुक्त कर दिया है। मंत्री श्री कावरे ने कहा कि प्रदेश सरकार ने महिला सशक्तिकरण के लिए लाड़ली लक्ष्मी योजना बनाई है। अब लाड़ली बहना योजना भी लागू करने जा रही है। आज जिन बहनों का विवाह हो रहा है, उन बहनों को लाड़ली बहना योजना का भी लाभ मिलेगा। उन्होंने विवाह बंधन में बंधने वाली बहनों से कहा कि वे विवाह के बाद ग्राम पंचायत जाकर लाड़ली बहना योजना का आवेदन जरूर करें। उन्हें इस योजना में हर माह 01 हजार रुपये मिलेंगें। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की पहल पर मध्यप्रदेश में महिला सशक्तिकरण के लिए 16 साल पहले लाड़ली लक्ष्मी योजना प्रारंभ की गई थी। अब लाड़ली लक्ष्मी योजना की बेटियां कालेज में पहुंच गई हैं और इन बेटियों को कालेज की पढ़ाई के लिए 25 हजार रुपये देने की व्यवस्था कर दी गई है। प्रदेश सरकार ने कालेज में अव्वल आने वाली बेटियों को स्कूटी देने का निर्णय भी कर लिया है। हमारी सरकार ने जन्म से लेकर मृत्यु तक सहायता देने की योजना बनाई है और इन योजनाओं का लाभ आम जन को मिल रहा है। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सबसे महत्वपूर्ण और लाभकारी योजनाओं में से एक मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के अंतर्गत आज 04 मार्च को जनपद पंचायत बालाघाट के सौजन्य से ग्राम समनापुर में सामूहिक विवाह कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें 273 जोड़ों का विवाह सम्पन्न कराया गया औार उन्हें उपहार सामग्री प्रदान की गई। विवाह बंधन में बंधने वाले जोड़ों को आशिर्वाद देने के लिए मध्यप्रदेश शासन के आयुष एवं जल संसाधन राज्य मंत्री श्री रामकिशोर “नानो” कावरे, जनपद पंचायत के अध्यक्ष श्री फूलचंद सहारे, जनपद पंचायत परसवाड़ा के अध्यक्ष श्री समल सिंह धुर्वे, बालाघाट जनपद के उपाध्यक्ष डॉ शंकरलाल बिसेन, जनपद सदस्य श्री भूरू पटेल, अन्य जनपद सदस्य, एसडीएम श्री संदीप सिंह, जनपद पंचायत के सीईओ श्री गायत्री कुमार सारथी, स्थानीय जनप्रतिनिधि, अन्य गणमान्य नागिरक एवं अधिकारी उपस्थित थे। 

273 दूल्हों की एक साथ निकली बारात, परसवाड़ा में शादी का रिकार्ड बना

समनापुर में इस विवाह में शामिल होने वाले दूल्हों की सामूहिक बारात निकाली गई जो विवाह स्थल के मैदान में पहुंची। समनापुर में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में सामूहिक विवाह का कार्यक्रम आयोजित किया गया। 273 दूल्हों की बारात बैंड बाजे के साथ समनापुर की मुख्य सड़क से होते हुए विवाह स्थल पहुंची तो बारात का कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों द्वारा स्वागत किया गया। विवाह में बंधन में बंधने वाले प्रत्येक जोड़े को 38 हजार रूपये की उपहार सामाग्री व वधु के नाम से 11 हजार रुपए का चेक प्रदान किया गया। प्रत्येक जोड़े के विवाह के लिए 06 हजार रुपये की राशि विवाह कार्यक्रम का आयोजन करने वाली संस्था को दिया गया है।

प्रत्येक जोड़े को आम का पौधा उपहार में दिया गया 

सामूहिक विवाह कार्यक्रम में आयुष मंत्री श्री कावरे ने प्रत्येक जोड़े के वर-वधु को आम का पौधा भेंट किया और कहा कि अपने विवाह की यादगार के रूप में इस पौधे को सुरक्षित बड़ा करें। यह पौधा जब पेड़ बन जायेगा और फल देने लगेगा तो वर-वधु को यह हमेशा इस सामूहिक विवाह की याद दिलायेगा।



Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News