पूर्व सरपंच अपने पद का दुरुपयोग करने और भ्रष्टाचार के मामले में 2 बार पद से हटाये, फिर लटकी तलवार। Purv sarpanch bhartachar ke mamale me 2 baar hataye gaye



पूर्व सरपंच अपने पद का दुरुपयोग करने और भ्रष्टाचार के मामले में 2 बार पद से हटाये, फिर लटकी तलवार। Purv sarpanch bhartachar ke mamale me 2 baar hataye gaye 

*पहले भी अपने पद का दुरुपयोग करने और भ्रष्टाचार के मामले में दोषी पाए जाने पर भी 2 बार पद से हटाए जा चुके है फिर भी वर्तमान में जिला पंचायत के सदस्य है अशोक पटेल*


बुरहानपुर -  जिले की ग्राम पंचायत खकनार खुर्द, पूर्व सरपंच और वर्तमान जिला पंचायत सदस्य अशोक पटेल एक बार फिर तलवार लटकी है। बुरहानपुर अधिवक्ता संतोष कुमार मिश्रा द्वारा बुरहानपुर कलेक्टर को ग्राम पंचायत खकनार खुर्द के पूर्व सरपंच द्वारा राशि और अपने पद का दुरुपयोग करने और जमीन के कब्जे का घोटाले का आरोप लगाते हुए लिखित शिकायत की है जिसके चलते जिला पंचायत की अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा 5 सदस्यों की जांच समिति बनायी और जब खुद जांच करने ग्राम पंचायत खकनार खुर्द पहुंचे तब पाया की पंचायत में पदस्थ सचिव के पास 2014-15 से 2018 तक का कोई लेखाजोखा ही गायब है। जांच अधिकारी द्वारा तत्कालीन सचिव एवम उससे संबंधित सभी सचिवों से जवाब मांगा है और शिकायतकर्ता को आश्वासन देते हुए कहा की दोषियों पर कार्यवाही अवश्य की जाएगी। शासकीय राशि और पद के दुरुपयोग करने वालो को बक्शा नही जायेगा पूर्व में भी उनके द्वारा एमागिर्द पंचायत की जांच के बाद दोषियों पर एफआईआर दर्ज की गई।

*पूर्व में भी अशोक पटेल की कई शिकायते हो चुकी है*

आपको बता दे कि पूर्व सरपंच और वर्तमान जिला पंचायत सदस्य अशोक पटेल पर गबन घोटाले और राशि के फर्जी आहरण के आरोप लग चुके है। शिकायतकर्ता संतोष कुमार मिश्रा द्वारा बताया गया की जब अशोक पटेल सरपंच थे तब उनके द्वारा स्वयं के और अपने करीबियों के खातों में राशि का स्थानातरण कर राशि का गबन किया गया है। विधायक निधि से बने खेत सड़क में भी भरी लापरवाही और भ्रष्टाचार की शिकायत ग्रामीणों द्वारा की गई थी परंतु जनपद पंचायत खकनार के अधिकारियों द्वारा सरपंच सचिव सहित उपयंत्री को बचाया गया था पर अब जिला पंचायत के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी की जांच में नही बच पाएंगे अशोक पटेल। 

बाइट

खकनार खुर्द के पूर्व सरपंच के विरुद्ध शासकीय राशि और पद का दुरुपयोग करने, निर्माण कार्य और अनेक मामलों में शिकायत प्राप्त हुई है। जांच के लिए जांच दल उपस्थित है परंतु पंचायत में कोई लेखाजोखा उपलब्ध नहीं है जांच में समय लगेगा -  श्रीमती रीना, अतिरिक्त जिला सीईओ



बाइट 

वीडियो देखे







ग्राम पंचायत में 2017 में हुए भ्रष्टाचार, जमीन पर फर्जी तरीके से कब्जा और सरपंच द्वारा शासकीय राशि को अपने स्वयं और करीबियों के खाते में डालकर उसका दुरुपयोग करने को लेकर शिकायत की गई थी जिसकी जांच लंबे समय से लंबित थी आज जांच दल आया है और हमे अश्वासित किया है की निष्पक्ष जांच के बाद दोषियों पर कार्यवाही की जाएगी।- अधिवक्ता संतोष कुमार मिश्रा, शिकायतकर्ता


Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

सरपंचों के आन्दोलन के बीच मंत्री प्रहलाद पटेल की बड़ी घोषणा, हर पंचायत में होगा सामुदायिक और पंचायत भवन bhawan Aajtak24 News