बाढ़ आपदा से बचाव हेतु एनडीआरएफ और ज़िला प्रशासन ने किया सयुंक्त मॉक अभ्यास | Baad apda se bachao hetu NDRF or jila prashasan ne kiya sanyukt mock abhyas

बाढ़ आपदा से बचाव हेतु एनडीआरएफ और ज़िला प्रशासन ने किया सयुंक्त मॉक अभ्यास

बाढ़ आपदा से बचाव हेतु एनडीआरएफ और ज़िला प्रशासन ने किया सयुंक्त मॉक अभ्यास

धामनोद (मुकेश सोडानी) - आपातकाल में भीषण बरसात में भी यह लोग वह कार्य करते हैं जिसकी परिकल्पना भी हम नहीं कर सकते गत सप्ताह खलघाट में हुए दर्दनाक हादसे में आपातकाल में कार्य करने वाली टीम ने बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी  अब आपदा जोखिम न्यूनीकरण हेतु मध्य प्रदेश के हितधारकों के साथ कमांडेंट  मनोज कुमार शर्मा के कुशल दिशा निर्देशन में 11 एनडीआरएफ वाराणसी की टीमें विभिन्न एजेंसियों के साथ सामंजस्य स्थापित करते हुए संयुक्त मॉक अभ्यास का आयोजन कर रही है । इसी कड़ी में मंगलवार को हरदा के तहसील में क्षेत्रीय प्रतिक्रिया केंद्र भोपाल से एनडीआरएफ के उप कमांडेट  प्रेम कुमार पासवान की अगुवाई में बाढ़ के दौरान होने वाली अप्रिय घटनाओं को रोकने व बचाव को लेकर राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण हरदा ने नर्मदा नदी के हंडिया घाट पर मॉक अभ्यास किया । इस दौरान एनडीआरएफ टीम ने एक परिदृश्य तैयार किया जिसमें बाढ़ के दौरान नाव से लोगों के नदी में गिरने और नदी में लोगों के लापता होने पर उसे खोजने का प्रदर्शन किया गया । 

बाढ़ आपदा से बचाव हेतु एनडीआरएफ और ज़िला प्रशासन ने किया सयुंक्त मॉक अभ्यास

माक ड्रिल के दौरान एनडीआरएफ, जिला आपदा प्रबंध प्राधिकरण नरसिंहपुर सहित अन्य विभागों को सूचना मिलती है । भारी बारिश के कारण नर्मदा नदी व इसके सहायक नदियों में उफान आ गया है । यातायात के साधन बंद होने से हाहाकार मचा हुआ है । इस पर एनडीआरएफ के निरीक्षक राजेश कुमार मीना के नेतृत्व में अत्याधुनिक उपकरणों से लैस टीम घटना स्थल के लिए रवाना होती है । घटना स्थल पर पहुँच कर टीम प्रशासन से घटना की सम्पूर्ण जानकारी लेती है और साथ ही साथ इंसिडेंट कमांड पोस्ट, ऑपरेशन बेस, मेडिकल पोस्ट, संचार पोस्ट भी तैयार करती है ।  त्वरित कार्यवाही करते हुए टीम अपने मोटर बोट के माध्यम से नर्मदा नदी में बचाव अभियान शुरू कर देती है ।      बचाव दल लाइफ बॉय, लाइफ जैकेट और डीप डाइवर्स की मदद से कुल 06 पीड़ितों को बचाता है और उन्हें सुरक्षित बाहर निकाल ले आता है ।  विभिन्न तकनीकों का उपयोग करके जीवन रक्षक कौशल का भी प्रदर्शन किया गया।  प्रशिक्षण के हिस्से के रूप में घरेलू संसाधन से बनावटी राफ्ट को तैयार करना और इस्तेमाल करना भी शामिल किया गया । डूबे हुए व्यक्तियों को बाहर निकाल कर एनडीआरएफ टीम द्वारा प्राथमिक उपचार दिया गया और एम्बुलेंस के माध्यम से अग्रिम उपचार के लिए भेजा गया । इस पूरी प्रक्रिया में आईआरएस पैटर्न निष्पादित किया गया । 

इस मॉक अभ्यास के दौरान ऋषि गर्ग (डीएम),  मनीष अग्रवाल , (पुलिस अधीक्षक) प्रेम कुमार पासवान उप कमांडेंट (एन डी आर एफ ) मयंक कुमार जैन (जिला कमांडेंट होमगार्ड) और अन्य हितधारक पुलिस, राजस्व, स्वास्थ्य, पशु चिकित्सा, ग्रामीण, मीडियाकर्मी सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे

*80 लाख से अधिक विजिटर्स के साथ बनी सर्वाधिक लोकप्रिय*

*आपके जिले व ग्राम में दैनिक आजतक 24 की एजेंसी के लिए सम्पर्क करे - 8827404755*

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

कुल देवी देवताओं के प्रताप से होती है गांव की समृद्धि smradhi Aajtak24 News