बड़वाह में टीकाकरण एवं फैमिली प्लानिंग का प्रतिशत हुआ डाउन | Badwah main tikakaran evam family planning ka pratishat hua down

बड़वाह में टीकाकरण एवं फैमिली प्लानिंग का प्रतिशत हुआ डाउन

सीएमएचओ ने कहा शतप्रतिशत नही हुआ टीकाकरण तो रोकेंगे वेतनवृद्धि

बड़वाह में टीकाकरण एवं फैमिली प्लानिंग का प्रतिशत हुआ डाउन

बड़वाह (विशाल कुमरावत) - सीएम हेल्पलाइन पर बड़वाह ब्लाक के स्वास्थ्य विभाग से जुड़ी शिकायतों का आकड़ा बढ़ रहा है,तो वही टीकाकरण एवं फैमिली प्लानिंग का प्रतिशत भी डाउन हुआ है।इन समस्याओं के निराकरण के लिए कलेक्टर के निर्देश पर शनिवार को सीएमएचओ दौलतसिंह चौहान बड़वाह के शासकीय अस्पताल पहुंचे।यहाँ उन्होंने स्वास्थ्य कर्मचारियों  के साथ समीक्षा बैठक ली।करीब तीन घंटे तक हुई पाइंट टू पाइंट चर्चा करके उन्होंने जल्द शिकायतों का निराकरण करने के निर्देश दिए।साथ ही उन्होंने बीएमओ को निर्देश दिए है की जिन एएनएम के टीकाकरण में 70 प्रतिशत से कम उपलब्धी है।उनको कारण बताओ सुचना पर जारी किए जाए।साथ ही उसमे उल्लेखित हो की अगले माह तक टीकाकरण शत प्रतिशत नही तो एक वेतनवृद्धि रोकी जाएगी।इस पर बीएमओ ने कहा की ब्लाक में टीकाकरण का प्रतिशत कम होने क मुख्य कारण 19 उपस्वास्थ्य केंद्र एनएनएम रहित है।उस हेतु अतिरिक्त वाहन व्यवस्था देने का निवेदन सीएमएचओ को किया।बीपीएम,बीसीएम,बीईई को निर्देश दिए की संस्थावार प्रत्येक कार्यक्रम की जानकारी प्रस्तुत करे।इस दौरान डॉ चन्द्रजीत सांवले,डॉ रेवाराम कोंशले,प्रमोद महाजन,सीबीएमओ डॉक्टर सुनील वर्मा,बीपीएम नीरज वर्मा,खण्ड विस्तार प्रशिक्षक जगदीश खेड़ेकर,बीसीएम प्रीति पाटिल,रवि देशवाली सहित स्टाफ मोजूद था।इस दौरान मीडियाकर्मीयो ने सीएमएचओ को बताया की सिविल अस्पताल हायवे पर स्थित है।आए दिन दुर्घटनाओ में कई गम्भीर मरीज हड्डी टूटने वाले भी आते है|ऐसे मरीजो को इंदौर रेफर कर करते है।जबकि यहाँ हड्डी रोग विशेषज्ञ पदस्थ  है।प्लास्टर नही चढाने का कारण टेक्नेशीयन की कमी बताया जा रहा है।इस पर सीएमएचओ ने कहा की यदि ऐसा है तो हम जल्द ही व्यवस्था कर प्लास्टर लगवाना शुरू करेंगे।एमदी मेडिसिन डॉ रामकृष्ण जायसवाल की संविदा नियक्ति को  छह माह और बढ़ाने के लिए भी प्रयास करने की बात सीएमएचओ ने कही।

समीक्षा बैठक ली-शासकीय अस्पताल में सीएमएचओ ने स्वास्थ्यकर्मियों की समीक्षा बैठक ली।उन्होंने उपस्थित स्वास्थ्यकर्मियों से कहा की मध्यप्रदेश शासन का पूरा जोर प्रदेश में मातृ एवं शिशु मृत्यु दर कम करने पर है।इसलिए प्रयास करे की गर्भवती महिला का शतप्रतिशत रजिस्ट्रेशन हो,समस्त जांचे समय पर हो,हाई रिस्क गर्भवती को पूर्ण देखभाल मिले,संस्थागत प्रसव पर जोर दिया जाए।इसके साथ ही रजिस्ट्रेशन में समग्र आईडी,बैंक पासबुक की जानकारी सही डाले अन्यथा उन्हें पूर्ण लाभ नही मिल पाएगा।

*80 लाख से अधिक विजिटर्स के साथ बनी सर्वाधिक लोकप्रिय*

*आपके जिले व ग्राम में दैनिक आजतक 24 की एजेंसी के लिए सम्पर्क करे - 8827404755*

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News