भीषण गर्मी को देखते हुए अधीनस्थ न्यायालयों का समय प्रातः 8:00 से दोपहर 12:30 बजे तक किए जाने की मांग | Bhishan garmi ko dekhte hue adhinasth nyayalayo ka samay

भीषण गर्मी को देखते हुए अधीनस्थ न्यायालयों का समय प्रातः 8:00 से दोपहर 12:30 बजे तक किए जाने की मांग

चीफ जस्टिस और प्रशासनिक जज को पत्र

भीषण गर्मी को देखते हुए अधीनस्थ न्यायालयों का समय प्रातः 8:00 से दोपहर 12:30 बजे तक किए जाने की मांग

इंदौर (राहुल सुखानी) - अधिवक्ताओं द्वारा मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के चीफ जस्टिस एवं प्रशासनिक न्यायमूर्ति को रजिस्ट्रार जनरल के माध्यम से पत्र लिखकर मांग की गई है कि अधीनस्थ न्यायालयों का समय सुबह का कर दिया जाए । अधिवक्ता पंकज वाधवानी एवं रवि उकरडे़ ने जानकारी देते हुए बताया कि मध्यप्रदेश में बढ़ती गर्मी की वजह से अधिवक्ताओं को कार्य करने में बहुत अधिक असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। न्यायाधीशों एवं कोर्ट कर्मचारियों को कोर्ट रूम के अंदर कार्य किए जाने की वजह से अधिक दिक्कतें नहीं हो रही है किंतु भीषण गर्मी में अधिवक्ताओं को एक न्यायालय से दूसरे न्यायालय में जाकर पैरवी करने में एवं बाहर टीन शेड के नीचे बैठकर कार्य करने के दौरान असुविधा हो रही है और स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव पढ़ रहा है। गर्मी को देखते हुए अधीनस्थ न्यायालयों में कामकाज एवं कार्यालय इन समय प्रातः 8:00 से 12:30 तक किया जाना आवश्यक है। ऐसे में न्यायालय में विचाराधीन केसों की संख्या को देखते हुए उक्त समय में किसी भी प्रकार का ब्रेक ना दिया जाए ऐसा भी निवेदन है। राजस्थान के अनेक शहरों में इस प्रकार की व्यवस्था की जाती रही है। यदि मध्यप्रदेश में भी ऐसी सुविधा दी जाती है तो अधीनस्थ न्यायालय में कार्य करने वाले अधिवक्ताओं के लिए बहुत राहत मिलेगी। 

*80 लाख से अधिक विजिटर्स के साथ बनी सर्वाधिक लोकप्रिय*

*आपके जिले व ग्राम में दैनिक आजतक 24 की एजेंसी के लिए सम्पर्क करे - 8827404755*

Post a Comment

0 Comments