सिनियर एनाउसंर प्रकाश उदय को श्रमजीवी वाटिका सदस्यों ने स्थानान्तरण पर दी भावभीनी विदाई | Senior announce uday ko shramjivi vatika sadasyo ne sthanantran pr di bhavbhini vidai

सिनियर एनाउसंर प्रकाश उदय को श्रमजीवी वाटिका सदस्यों ने स्थानान्तरण पर दी भावभीनी विदाई

बालाघाट (देवेंद्र खरे) - आकाशवाधी केन्द्र बालाघाट में पदस्थ वरिष्ठ उद्घोषक प्रकाश उदय को श्रमजीवी वाटिका में ससम्मान विदाई दी गई। ज्ञात होवे कि प्रकाश उदय लगभग दो दशको से बालाघाट आकाशवाणी केन्द्र में अपनी सेवाएं दे रहे थे उनकी कर्णप्रीय व मधूर आवाज प्रात: काल से हि जिले वासियों के कानों में गुंजा करती थी। हालहि में  शासकीय प्रक्रिया के तहत प्रकाश उदय का स्थानान्तरण बालाघाट से रायपुर किया गया है जिससे उनके श्रोताओं एवं करीबी मित्रों में खुशी के साथ-साथ मायुसी भी छाई हुई है। अपनों से बिछडऩे का गम हर किसी को सताता है जहाँ भी रहें स्वस्थ रहें, श्रेष्ठ रहें और अपनी कार्यप्रणाली से सबका दिल जितते रहे ऐसी मंगल कामना के साथ श्रमजीवी वाटिका में भ्राता प्रकाश उदय का बिदाई समारोह आयोजित किया गया जिसमें नगर के गणमान्य उपस्थित रहे। सभी गणमान्यो ंनें प्रकाश उदय के साथ बिताए हुए लम्हों को याद किया, पुष्पहार से उनका स्वागत किया एवं शॉल श्रीफल देकर सम्मानित किया।

सिनियर एनाउसंर प्रकाश उदय को श्रमजीवी वाटिका सदस्यों ने स्थानान्तरण पर दी भावभीनी विदाई

इस दौरान श्रमजीवी पत्रकार संघ के जिलाध्यक्ष इन्द्रजीत भोज, स्पोर्टस ऑफिसर जसबीर सिंह सौंधी, असित वाजपाई, पं अजय नारायण तिवारी, जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष पी. आर. भैरम, श्रवण शर्मा, पूर्व उपाध्यक्ष जहरलाल अंगारे, मयुर वाहने, अधिवक्ता अजय बिसेन, विनोद छिपेश्वर, राजेश नगपुरे, संदीप आश्वले, सुनिल जयसवाल, अधिवक्ता संघ के उपाध्यक्ष शंकर कनौजिया, रजनीश रहांगडाले, डॉ धर्मेन्द्र शर्मा, प्रमोद कनौजिया, लीलाधर लालू, नईम खान, राकेश बोपचे, रत्नेश ब्रम्हे, आकाश श्रीवास्तव, प्रदीप दानी, संदीप सहारे, योगेश देशमुख, धनेन्द्र कटरे, ललित प्रधान, महेन्द्र अमुले, सुरेश भगत, राहूल सोनी, अमित वैद्य, प्रमोद कनौजिया, शुभम मेश्राम, नितेश गौतम, संदीप भीमटे, नितीन नेवारे ऋषभ चकोले, अरविंद सुरखिया एवं सभी सदस्यगण मौजूद रहे।

प्रकाश उदय ने सम्मान पत्र प्रदान किया इन्द्रजीत भोज को

विदाई के मौके पर सीनियर एनाउंसर प्रकाश उदय ने मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ के जिलाध्यक्ष इन्द्रजीत भोज को सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया। सम्मान पत्र के माध्यम से उन्होने कहा कि मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष इन्द्रजीत भोज को मैं अपने आकाशवाणी के कार्यकाल से लगभग दो दशकों से जनता हूँ। आप प्रखर पत्रकार होने के साथ साथ अविवक्ता, खिलाड़ी, कलाकार, राजनैतिक विश्लेषक एवं समाजसेवी भी हैं। आकाशवाणी और समाचारपत्रों के माध्यम से आपने कई युवा प्रतिभाओं को आगे बढऩे के लिए प्रोत्साहित किया है। आपने आकाशवाणी बालाघाट के लिए विभिन्न सामाजिक सरोकरों से जुड़े जागरुकता सम्बन्धी विषयों का प्रसारण किया हैं। अपेक्षा है कि, आप भविष्य में भी आकाशवाणी और दूरदर्शन के कार्यक्रमों में अपनी सक्रियता बनाये रखेंगें।

कोरोना काल की दूसरी लहर में अपने कोरोना योद्ध की असरदार भूमिका निभाई, जिसमें आकाशवाणी के मेरे एक मित्र को समुचित उपचार व्यवस्था भी दिलवाई, वर्तमान में भी आप जिले भर में 'कोविड टीकारणÓ अभियानों का आयोजन कर रहे हैं। इतने वर्षों में हमने कई सामाजिक मुद्दों और आमजन की बेहतरी के लिए समय-समय पर अपने विचार साझा किये हैं। आपकी बौद्धिक क्षमता से मैं सदा प्रभावित हूँ। मैं आपके स्वस्थ और उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ।

 प्रकाश उदय जी एक बहुत बड़े साहित्यकार है जिनकी रचनाएं मैंने बड़े बड़े अखबारों में प्रकाशित होते हुए देखी है। देश के नामचीन अखबारों में मैंने इनकी प्रतियों को देखा है और लोगों को सराहते हुए देखा है। उनके संबंध हिंदुस्तान के उन सभी बड़े साहित्यकारों से है फिल्मी दुनिया के बड़े-बड़े अभिनेता से है निर्देशकों से है। यह मैंने स्वयं देखा है। तो ऐसे व्यक्ति हमारे बीच मौजूद है और मुझे बहुत हर्ष होता है। हम इन 18 सालों में इनका उतना सदुपयोग नहीं कर पाए हैं इस बात का अभिशाप भी है और गम भी है। लेकिन ईश्वर की मंशा के आगे किसी की भी नहीं चलती हमारी प्लानिंग धरी की धरी रह गई है। और जब प्रकाश उदय जी से हमें सानिध्य प्राप्त हुआ तो निसंदेह हमने अपने आप को तराशने की कोशिश की और अभी कई बड़े-बड़े ड्रीम प्रोजेक्ट है यदि प्रकाश जी बालाघाट में रहते तो इन ड्रीम प्रोजेक्ट को पूर्ण के लिए प्रकाश जी का सहयोग ले पाते। इन ड्रीम प्रोजेक्ट को पूर्ण करने के लिए प्रकाश उदय जी बालाघाट से रायपुर के लिए प्रस्थान कर रहे है यह सभी भविष्य की योजनायें है।-- इन्द्रजीत भोज, जिलाध्यक्ष श्रमजीवी पत्रकार संघ 

कभी भूला नही पाउगां बालाघाट को : प्रकाश उदय

बिदाई समारोह में मिले अपार स्नेह एवं स्वागत सत्कार से प्रकाश उदय भावुक हो उठे। उन्होने रून्धे गले से कहा कि मैने अपने सेवाकाल में सर्वाधिक समय बालाघाट में हि बिताया है। बालाघाट वासियों से मुझे बेहिसाब स्नेह मिला है। मुझे शासकीय सेवा करने में कोई दिक्कत नही आई। आकाशवाणी के माध्यम से मैने जनसरोकार के विषयों को घर-घर तक पहुंचाया है। यहां के सभी लोग बहुत अच्छे है सभी ने मुझे अपनत्व प्रदान किया है खास तौर से श्रमजीवी वाटिका के सभी सदस्य बहूत हि बिरले किस्म के है जो हमेशा हि पीडि़त मानवता की सेवा में लगे रहते है। मैने देखा है वाटिका में साहित्यिक, सांस्कृतिक, सामाजिक, बौद्धिक, धार्मिक एवं खेल-कूद की गतिविधियां निरंतर चलते रहती है। श्रमजीवी वाटिका अध्यक्ष इन्द्रजीत भोज एवं समस्त सदस्यों का मंै हार्दिक आभार व्यक्त करता हॅू। बालाघाट की यादें मेरे जहन में हमेशा मौजूद रहेगीं।

*दैनिक आजतक 24 अखबार से जुड़ने के लिए सम्पर्क करे +91 91792 42770*

Post a Comment

0 Comments