समय सीमा की बैठक संपन्न | Samay sima ki bethak sampann

समय सीमा की बैठक संपन्न

समय सीमा की बैठक संपन्न

बुरहानपुर - टीकाकरण महाअभियान के तहत बनाये गये प्रत्येक नोडल अधिकारी टीकाकरण कार्य को प्राथमिकता में रखते हुए अपने-अपने ग्राम पंचायतों पर शत-प्रतिशत टीकाकरण पूर्ण ईमानदारी एवं निष्ठा के साथ निर्धारित सीमा में पूर्ण करें, यह निर्देश, देते हुए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री प्रवीण सिंह ने जिले में चल रहे टीकाकरण कार्यो की प्रगति पर अप्रसन्नता व्यक्त की। समय सीमा की बैठक ले रहे श्री सिंह ने नाराजगी जाहिर करते हुए प्रत्येक संबंधित नोडल अधिकारियों के क्षेत्रवार टीकाकरण लक्ष्य प्राप्त करने की सीमा तय करते हुए निर्देशित किया कि नोडल अधिकारी अपने क्षेत्रान्तर्गत शत-प्रतिशत टीकाकरण लक्ष्य पूर्ण करने हेतु जिम्मेदार रहेंगे, कार्य के प्रति लापरवाही होने पर संबंधित के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने निर्देशित किया कि टीकाकरण प्राथमिकता विषय में दर्ज हैं, इस पर किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। बैठक में उन्होंने नोडल अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत कार्ययोजना तैयार करें एवं टीका के लिए छूटी हुई जनसंख्या के अनुसार टीके की मांग करें। उन्होंने टीकाकरण कार्य अर्थात प्रत्येक ग्राम पंचायत को शत-प्रतिशत टीकाकरण युक्त करने के लिए 15 सितम्बर डेडलाईन निर्धारित की है। नगर निगम, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, अनुविभागीय दण्डाधिकारी राजस्व अपने-अपने क्षेत्रों के लिए माइक्रो प्लांनिग तैयार करें, घर-घर जायें, नागरिकों को समझाईश दे एवं टीका के लिए प्रेरित करें। जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री सुमन कुमार पिल्लई को निर्देशित किया है कि टीकाकरण के प्रत्येक दिवस पर टीकाकरण के उपरांत निम्नतर प्रगति वाले क्षेत्र की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता से चर्चा कर लक्ष्य का रिव्वूय करें। उन्होंने संबंधित को गर्भवती एवं धात्री महिलाओं का सर्वे करने एवं उनके टीकाकरण के लिए पिंक केन्द्र बनवाने, केन्द्र पर आवश्यक सुविधाएं सुनिश्चित करने के साथ उन्हें मोटिवेट कर उन्हें टीका लगवाने के निर्देश दिये। टीकाकरण के लिए सौहार्द एवं अनुकूल वातावरण निर्मित करें प्रत्येक पंचायतवार सर्वे की सही जानकारी एकत्रित की जाये एवं माइक्रो प्लानिंग के साथ कार्यवाही की जाना सुनिश्चित करें। यदि सर्वे कार्य में संबंधित द्वारा गलत जानकारी दी जाती है तो, संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। सर्वे में पलायन हुए नागरिकों से चर्चा कर टीकाकरण की पुष्टि करें एवं अपना डाटा वेरिफाई करना सुनिश्चित करें। प्रत्येक क्षेत्र में ऐसा माहौल बनाया जाये कि छूटे हुए नागरिकजन टीका लगवाने के लिए आगे आये। टीकाकरण कार्य का परिणाम परिलक्षित हो इसके लिए उन्होंने बीमारियों/गंभीर बीमारियों के कारण टीका से बचाव कर रहें नागरिकों को समझाईश देने के निर्देश दिये एवं डॉक्टर्स से चर्चा करने के लिए कोविड कन्ट्रोल रूम को निर्देशित किया। फोरेस्ट क्षेत्रों में टीकाकरण को प्राथमिकता देते हुए संबंधित रेंजर्स एवं नोडल अधिकारी को निर्देशित किया है कि प्रतिदिवस बीट गार्ड से चर्चा कर कार्यो में प्रगति लाये।

Post a Comment

0 Comments