जिला शिक्षक सम्मान समारोह समिति ने 135 सेवानिवृत्त शिक्षकों का सम्मान किया | Jila shikshak samman samaroh samiti ne 135 sevanivrat shikshako ka samman kiya

जिला शिक्षक सम्मान समारोह समिति ने 135 सेवानिवृत्त शिक्षकों का सम्मान किया

कोरोना योद्धाओं का भी सम्मान किया गया।

शिक्षक शासकीय सेवा से निवृत्त होने के बाद भी समाज में सेवा कार्य में अग्रणी रहता है ---श्रीमती नीना वर्मा विधायक

शिक्षक का हर परिस्थिति में सम्मान होना चाहिए -----एसपी आदित्य प्रताप सिंह

जिला शिक्षक सम्मान समारोह समिति ने 135 सेवानिवृत्त शिक्षकों का सम्मान किया

धार (ब्यूरो रिपोर्ट) - जिला शिक्षक सम्मान समारोह समिति धार ने" सेवानिवृत्त शिक्षकों का विश्व का सबसे बड़ा सम्मान समारोह" की श्रंखला में शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मिलन महल धार में शिक्षक सम्मान समारोह और कोरोना योद्धाओं का सम्मान समारोह आयोजित किया ।आयोजित गरिमामय समारोह में सम्मानीय अतिथिगण के रुप में श्रीमति नीना वर्मा विधायक धार,श्री आदित्य प्रताप सिंह एस पी ,श्री राजीव यादव जिला अध्यक्ष भाजपा, श्री पर्वतसिंह चौहान नपाध्यक्ष ,श्री महेंद्र शर्मा जिला शिक्षा अधिकारी, श्री आनंद पाठक सहायक संचालक जनजाति कार्य विभाग ,श्री कालीचरण सोनवनिया उपाध्यक्ष नपा की उपस्थिति रही। मंच पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के मुख्य प्रबंधक मनोज मदेल,संरक्षक श्री रामनारायण धाकड़ एवं श्री बबन अग्रवाल ,समिति के अध्यक्ष नारायण कुबेरजी जोशी और संस्थापक तथा सचिव सुरेश गोयल भी आसीन थे।

जिला शिक्षक सम्मान समारोह समिति ने 135 सेवानिवृत्त शिक्षकों का सम्मान किया

प्रारंभ में मां सरस्वती एवं डॉक्टर राधाकृष्णन के चित्र पर माल्यार्पण कर एवं समक्ष में दीप प्रज्वलित कर सम्मान समारोह का विधिवत शुभारंभ किया गया। समिति के पदाधिकारीगण और सदस्यों ने मंचासीन सभी अतिथियों को पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका स्वागत एवं अभिनंदन किया। समिति के संस्थापक और सचिव सुरेश गोयल ने स्वागत भाषण देते हुए समिति का प्रतिवेदन देते हुए बताया कि विगत 37 वर्षों से समिति सेवानिवृत्त शिक्षकों का शॉल, श्रीफल ,माला और सम्मान पत्र से सम्मान कर रही है। समिति द्वारा इन वर्षों में लगभग 5000 सेवानिवृत्त शिक्षकों का सम्मान किया जा चुका है ।समिति द्वारा सेवानिवृत्त शिक्षकों के आने जाने के मार्ग व्यय और उनके भोजन की व्यवस्था भी की जाती है ।साथ ही पूर्व वर्षो में राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त ,राज्यपाल पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों का भी सम्मान एवं हाई स्कूल तथा हायर सेकंडरी स्कूलों में 100 प्रतिशत परीक्षा परिणाम देने वाले प्राचार्यों का भी सम्मान किया जाता रहा है। विगत 7 वर्षों से समिति द्वारा समाज के विभिन्न क्षेत्रों में धार और जिले का नाम राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर गौरवान्वित करने वाले विशिष्ट प्रतिभाओं का भी सम्मान किया जाता है। छोटे से स्तर से शुरू हुआ यह कार्यक्रम आज पूरे विश्व में एक अभिनव नवाचार उपलब्धि लिए हुए हैं। हमें पूरे देश से ऐसी कोई जानकारी नहीं है कि इतने वर्षों से इस स्तर पर ऐसा सम्मान समारोह आयोजित किया जाता है इसलिए समिति को गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने भी सम्मानित किया है और यह पूरे धार शहर के लिए गौरव की बात है कि गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने इसे सेवानिवृत्त शिक्षकों का विश्व का सबसे बड़ा सम्मान समारोह का दर्जा दिया है। समसामयिक रूप से सामाजिक क्षेत्र में भी समिति सक्रिय है।  नगर में 3 यात्री प्रतीक्षालय और आदर्श सड़क,धारेश्वर ,लालबाग तथा हैप्पी विला गार्डन में विगत वर्षों में विश्व पर्यावरण दिवस और हरियाली अमावस्या पर पौधारोपण का कार्य भी किया है। पिछले कोरोना काल में जरूरतमंद लोगों को भोजन वितरण और इस वर्ष 2 महीने 11 दिन तक कोरोना टीका का वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन भी समिति द्वारा किया गया। जिला शिक्षक सम्मान समारोह समिति के प्रवक्ता आशीष गोयल ने बताया कि समारोह में जनजातिय कार्य विभाग और शिक्षा विभाग के 1सितंबर 2020 से 31 अगस्त 2021 तक सेवानिवृत्त हुए 135  शिक्षकों का सम्मान किया गया। 

इसी वर्ष राज्यपाल पुरस्कार प्राप्त श्री बालकृष्ण शुक्ला सागौर का भी सम्मान किया गया। जिले और नगर की जनता को कोरोना योद्धाओं के रूप में सेवा देने वाले मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ जितेंद्र चौधरी, जिला महामारी नियंत्रण अधिकारी डॉ संजय भंडारी, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ सुधीर मोदी, धार की एसडीएम दिव्या पटेल मैडम, धार नगर की सिटी मजिस्ट्रेट मैडम शिवांगी जोशी,  सेवा कार्यो में अग्रणी संस्था सेवा भारती की ओर से सचिव श्री देवेंद्र सोनाने कोषाध्यक्ष श्री यशवंत मोरे, प्रभारी मुख्य नगरपालिका अधिकारी विजय कुमार शर्मा, पुलिस विभाग से श्री अर्जुनसिंहजी और स्वास्थ्य विभाग की हेड नर्स श्रीमती शशि दुबे का सम्मान किया गया।

समारोह को संबोधित करते हुए धार विधायक श्रीमती नीना वर्मा ने कहा कि शिक्षक शासकीय सेवा से निवृत्त होने के बाद भी समाज में सेवा कार्य में अग्रणी रहते है। शिक्षक समाज को नई दिशा प्रदान करते है और बच्चों के भाग्य विधाता है । सभी शिक्षकों का मैं अभिनंदन करती हूं। शिक्षक और गुरु समाज को नई और उत्तम दिशा देते हैं। प्रतिभाओं को निखारते हैं। हम सभी को शिक्षक पर गर्व है। संस्कृति और संस्कार शिक्षक और गुरु की ही देन है। 37 वर्षों से शिक्षकों के सम्मान की यह यात्रा कर रही समिति बधाई की पात्र है। अपनी और जिले की पहचान बनाने हेतु समिति को साधुवाद। 

जिला पुलिस अधीक्षक श्री आदित्य प्रताप सिंह ने कहा कि हर परिस्थिति में शिक्षक का सम्मान होना चाहिए। गुरु श्रेष्ठ होता है। मुझे गर्व है कि मैं एक शिक्षक का बेटा हूं ।

समारोह को नगर पालिका अध्यक्ष श्री पर्वत सिंह चौहान, जिला शिक्षा अधिकारी श्री महेंद्र शर्मा, नपा उपाध्यक्ष श्री कालीचरण सोनवानिया ,स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के मुख्य प्रबंधक श्री मनोज मेदल ने भी संबोधित किया।

 भाजपा जिलाध्यक्ष श्री राजीव यादव  ने बताया कि सेवानिवृत्त शिक्षकों का सम्मान कर समिति ने गौरवशाली कार्य किया है ।37 वर्षों से सम्मान समारोह आयोजित कर गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में कीर्तिमान बनाकर समिति ने धार जिले का गौरव बढ़ाया है ।धार जिले के सभी नागरिकों की ओर से मैं समिति का अभिनंदन करता हूं ।सभी शिक्षकों को और गुरुजनों को उन्होंने शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं प्रेषित की।

समारोह का सुचारू संचालन श्रीमति अरूणा बोड़ा ने और आभार प्रदर्शन अशोक वर्मा ने किया।

समस्त अतिथियों का स्वागत एवं स्मृति चिन्ह उपाध्यक्ष योगेश अग्रवाल, वल्लभ अग्रवाल , लक्ष्मीनारायण मुकाती,ब्रजकिशोर बोडा, कोषाध्यक्ष रमेश सोलंकी,सह सचिव गंगासिंह सिसोदिया,सतीश शर्मा ने भेंट किए। समारोह को सफल बनाने में रमेश ठाकुर ,इरफान पठान ,अनूप गुप्ता ,योगेश चौहान, श्रीमती प्रभावती धाकड़, भुवान बघेल ,अमृतलाल जैन, संभाजीराव मोहिते, कृष्ण कुमार गोयल, नंद किशोर उपाध्याय, प्रभाकर खामकर, अंकुर पालीवाल ,राजेश अग्रवाल रितेश अग्रवाल,हरजीत होरा, रामगोपाल वेद ,राजेंद्रपाल सिंह डंग, अजय अग्रवाल ,आशीष जैन आदि का सहयोग रहा। समारोह में गणमान्य नागरिक ,जनप्रतिनिधिगण पत्रकारगण ,मीडिया कर्मी आदि उपस्थित थे। यह जानकारी समिति के प्रवक्ता आशीष गोयल ने दी

Post a Comment

0 Comments