चूनालोहमा पंचायत में खोली जाएगी अतिरिक्त उचित मूल्य की दुकान | Chunalohma panchayat main kholi jaegi atirikt uchit mulya ki dukan

चूनालोहमा पंचायत में खोली जाएगी अतिरिक्त उचित मूल्य की दुकान

चूनालोहमा पंचायत में खोली जाएगी अतिरिक्त उचित मूल्य की दुकान

बैतूल -  जिले के दूरस्थ क्षेत्रों में ग्रामीणों की समस्याओं के निदान एवं विकास कार्यों में कसावट लाने के उद्देश्य से जिले में प्रारंभ किये गये ग्राम संवाद अभियान के परिणाम भी सामने आ रहे हैं। अंदरूनी ग्रामीण क्षेत्रों के निवासियों से कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस द्वारा सीधा संवाद करने से ग्रामीणों की उनकी समस्याएं तो सामने आ ही रही हैं, क्षेत्र के विकास कार्यों की स्थिति की तस्वीर भी स्पष्ट हो रही है। कलेक्टर के भ्रमण से मैदानी अमले की कार्यप्रणाली में भी कसावट आ रही है। शुक्रवार को जिले से लगभग 75 किमी दूर भीमपुर विकासखंड के ग्राम चांदू में आयोजित ग्राम संवाद में ग्रामीणों से लगभग 456 आवेदन प्राप्त हुए, जिन पर कलेक्टर द्वारा बारीकी से सुनवाई की गई एवं समय-सीमा में निराकरण/समाधान के अधिकारियों को निर्देश दिए गए। इनमें से 136 आवेदनों पर ग्राम संवाद अभियान के दौरान ही निराकरण की कार्रवाई की गई। चांदू इस क्षेत्र का ऐसा गांव है जहां मोबाइल नेटवर्क भी सुचारू रूप से नहीं मिलता। ऐसी स्थिति में वहां प्रशासन द्वारा कैम्प लगाकर समस्याएं सुनने से ग्रामीणों को समय-सीमा में राहत मिल सकेगी। कलेक्टर द्वारा दि

ग्राम संवाद अभियान के दौरान पूर्वान्ह में इस क्लस्टर की ग्राम पंचायत चांदू, चूनालोहमा, धामन्या, डोक्या, जमन्या, नांदा, पलस्या, रंभा, रातामाटी, सिमोरी एवं बासिंदा के ग्रामों में सेक्टर अधिकारियों द्वारा भ्रमण कर ग्रामीणों से सीधा संवाद किया गया एवं उनकी शिकायत/समस्याओं पर चर्चा की गई। साथ ही आवेदन भी प्राप्त किए गए। अपरान्ह में चांदू में आयोजित चौपाल में इन ग्रामों की समस्याओं पर सेक्टर अधिकारियों द्वारा कलेक्टर को रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। सेक्टर अधिकारियों की रिपोर्ट के आधार पर कलेक्टर ने निर्देश दिए कि आगामी दिनों में स्कूल प्रारंभ होने के पूर्व समस्त स्कूल भवनों का भौतिक सत्यापन किया जाए। इन भवनों में जो मरम्मत की आवश्यकता है, वह यथासमय करवाई जाए। साथ ही भवनों की रंगाई-पुताई भी करवा दी जाए ताकि स्कूल प्रारंभ होते ही बच्चों को बेहतर शैक्षणिक वातावरण उपलब्ध हो सके। इसी तरह आंगनबाड़ी भवनों के रखरखाव एवं मरम्मत पर भी संबंधित विभाग आवश्यक कार्रवाई करे। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि निशुल्क पाठ्यपुस्तक वितरण योजनांतर्गत जिन स्कूलों से ऑनलाइन पुस्तकों का वितरण नहीं किया जा सका है, वे तत्काल ऑफलाइन पुस्तक वितरण की कार्रवाई पूर्ण करें। इस संबंध में कोई लापरवाही न बरती जाए। भीमपुर क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों में भू-जल स्तर की कमी एवं पेयजल की समस्या परिलक्षित होने पर कलेक्टर ने कहा कि उचित स्थानों का चिन्हांकन कर यहां ज्यादा से ज्यादा जल संरचनाओं का निर्माण किया जाए। उन्होंने यहां के विभिन्न ढानों एवं गांवों में सडक़ मार्ग की उपलब्धता न होने एवं ग्रामीणों को आवागमन में दिक्कत होने की समस्या को भी गंभीरता से लिया एवं आवश्यक स्थानों पर विभिन्न योजनाओं से मार्ग व पुलिया निर्माण की कार्रवाई करने के संंबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए।अनेक स्थानों पर विभिन्न शासकीय भवन जर्जर हालत में होने की जानकारी मिलने पर कलेक्टर ने कहा कि ऐसे भवनों का शीघ्रता से भौतिक सत्यापन किया जाए एवं जो भवन ध्वस्त करने योग्य है, उनको नियमानुसार ध्वस्त कर इनकी जमीन का अन्य निर्माण कार्यों में उपयोग किया जाए। उन्होंने कहा कि वनाधिकार पत्रों के मामलों में जो प्रकरण त्रुटिवश निरस्त हुए हैं, उनका पुन: परीक्षण किया जाए एवं पात्रों को वनाधिकार पत्र प्रदान किए जाएं। पेयजल योजनाओं के तहत किए जाने वाले बोर स्थानीय जनप्रतिनिधियों की जानकारी में किए जाएं, ताकि वे सही स्थानों का चिन्हांकन करवा सके एवं बोर असफल होने की स्थिति न बने।

ग्राम संवाद में मौके पर ही हल हुईं लोगों की समस्याए ग्राम संवाद के दौरान ग्राम पंचायत सिमोरी के मदन सिरसाम एवं धंगी भन्नो के लंबित दिव्यांग सहायता पेंशन के प्रकरणों पर तुरंत कार्रवाई की गई एवं इनकों पेंशन स्वीकृति के निर्देश दिए गए। इसी तरह कोटमी के बुद्धू नागजी को नियमानुसार वनाधिकार पत्र देने की कार्रवाई के भी निर्देश दिए गए। इसी क्षेत्र के ग्राम चिचोली की सुगवंती द्वारा उनके ढाने में बिजली नहीं होने की समस्या रखे जाने पर कलेक्टर ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को परीक्षण कर विद्युत कनेक्शन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। ग्राम पलस्या में कल्याणी विधवा सहायता योजना के प्रकरण लंबित पाए जाने पर वहां केम्प आयोजित कर प्रकरणों को निराकृत करने एवं सामाजिक सहायता योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति का परीक्षण करने हेतु निर्देशित किया गया। कलेक्टर ने कहा कि जिन स्थानों पर भी सामाजिक सहायता योजनाओं के प्रकरण लंबित हैं, उप संचालक सामाजिक न्याय ऐसे प्रकरणों का त्वरित परीक्षण करें, किसी भी सूरत में पात्र हितग्राही सामाजिक सहायता योजना के लाभ से वंचित न रहे।ग्राम पंचायत चूनालोहमा के ढानों में उचित मूल्य की दुकान दूर होने की शिकायत मिलने पर यहां के बेहड़ाढाना में अतिरिक्त उचित मूल्य की दुकान प्रारंभ किए जाने का ग्राम संवाद कार्यक्रम में निर्णय लिया गया। वहीं ग्राम पंचायत बासिंदा के ढानों में भी एक अतिरिक्त उचित मूल्य की दुकान की आवश्यकता बताए जाने पर इसके परीक्षण के लिए आपूर्ति अधिकारी को निर्देश दिए गए।ग्राम जमन्या में निर्मित हाईस्कूल भवन ग्राम पंचायत को हैंडओवर नहीं होने की शिकायत मिलने पर कलेक्टर ने उक्त भवन की आवश्यक जरूरतें शीघ्रता से पूर्ण कर शीघ्रता से ग्राम पंचायत को हैंडओवर करने के पीआईयू के अधिकारियों को निर्देश दिए।ग्राम बासिंदा एवं सूखाढाना के स्कूल की छत मरम्मत के लिए भी एजेंसी को निर्देशित किया गया। ग्राम बासिंदा में ही जमीन बंटवारा के प्रकरण लंबित पाए जाने की शिकायत पाए जाने पर यहां कैम्प आयोजित कर प्रकरणों का निराकरण करने के लिए कलेक्टर द्वारा तहसीलदार को निर्देशित किया गया।इसी तरह ग्राम मोहदा में स्कूल की छत से रिसाव की जानकारी मिलने पर वहां आवश्यक मरम्मत सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए। ग्राम ढेंगना में भी स्कूल भवन की स्थिति का परीक्षण करने हेतु कहा गया। ग्राम ढेंगना में पेयजल की सुलभता हेतु हैंडपंप पर मोटर लगवाने के निर्देश पीएचई के अधिकारियों को दिए गए। ग्राम सिमोरी के सुनील/अनिल की पात्रता पर्ची नहीं मिलने की शिकायत पर परीक्षण हेतु विभागीय अधिकारी को कहा गया। यहां लाड़ली लक्ष्मी योजना के हितग्राहियों को बचत योजना के प्रमाण पत्र नहीं मिलने की जानकारी को भी कलेक्टर ने गंभीरता से लिया। उन्होंने कहा कि हितग्राहियों को उक्त बचत प्रमाण पत्र तत्परता से वितरित किए जाएं। इस कार्य में लापरवाह कर्मचारियों पर कार्रवाई भी की जाए।ग्राम संवाद के दौरान ग्राम पंचायत धामन्या के धामन्या, बरेठा, नेवरालूंडू एवं रायपुर व आमढाना के बीच आवागमन की दिक्कत एवं नदी पर पुल की मांग के संबंध में कलेक्टर द्वारा संबंधित अधिकारी को डीपीआर तैयार करने के निर्देश दिए गए। इसके अलावा ग्रामीणों द्वारा नांदा से पीपलढाना, गदाखार तथा मालगोंदी से धमन्या सडक़ निर्माण, जमन्या से लबादा मार्ग की मरम्मत की मांग पर कलेक्टर द्वारा शीघ्रता से उचित कार्रवाई करने के लिए ग्रामीणों को आवश्वस्त किया गया।विभिन्न क्षेत्रों में कोविड टीकाकरण में आ रही समस्याओं का तत्काल निराकरण कर लोगों को टीकाकरण करवाने के कलेक्टर द्वारा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए।ग्राम कास्या के 8-10 मकानों में बिजली नहीं होने की समस्या पर भी विद्युत विभाग के अधिकारियों को उचित परीक्षण कर समस्या के निराकरण करने के निर्देश दिए।इस दौरान सहायक कलेक्टर श्री अंशुमन राज, एसडीएम श्री केसी परते सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं बड़ी संख्या में ग्रामीणजन मौजूद थेग्राम धामन्या की महिलाओं ने कलेक्टर का वाहन रोका, पेयजल की समस्या बताईनिराकरण हेतु अधिकारी को किया पाबंदग्राम संवाद हेतु चांदू जाते समय ग्राम धामन्या की महिलाओं एवं निवासियों ने कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह के वाहन को रोककर ग्राम में पेयजल की समस्या से अवगत कराया। ग्राम संवाद में पहुंचते ही कलेक्टर द्वारा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय विभाग के अधिकारी से उक्त समस्या पर चर्चा की गई। पीएचई के कार्यपालन यंत्री ने कलेक्टर को बताया कि उक्त गांव में नलजल योजना का प्राक्कलन तैयार हो चुका है। कलेक्टर ने शीघ्रता से इस गांव में नलजल योजना का कार्य करवाने के पीएचई के कार्यपालन यंत्री को निर्देश दिए।विकास कार्यों का निरीक्षणग्राम संवाद कार्यक्रम में जाने के पूर्व कलेक्टर द्वारा विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों में संपन्न विकास कार्यों की स्थिति का भी निरीक्षण किया गया। उन्होंने ग्राम कोटमी में मध्यान्ह भोजन योजनांतर्गत तैयार डायनिंग हॉल का अवलोकन किया। इसी तरह ग्राम डोक्या धामन्या में ग्राम सडक़ योजनांतर्गत निर्मित पुलियाओं का भी अवलोकन किया। ग्राम पंचायत डोक्या के ग्राम कास्या में मनरेगा अंतर्गत निर्मित मोक्षधाम की संरचना गुणवत्तायुक्त न पाए जाने पर उन्होंने इसकी जांच के निर्देश दिए। प्राथमिक शाला बुरेठा में निर्मित अतिरिक्त कक्ष का भी कलेक्टर द्वारा निरीक्षण किया गया। इसके अलावा यहां निर्मित सामुदायिक स्वच्छता परिसर का भी अवलोकन किया गया एवं इस कार्य पर संतुष्टि व्यक्त की गई।

Post a Comment

0 Comments