भारतीय किसान संघ के द्वारा एसडीएम प्रकाश कस्बे को दिया गया ज्ञापन | Bhartiya kisan sangh ke dvara sdm prakash kasbe ko diya gya gyapan

भारतीय किसान संघ के द्वारा एसडीएम प्रकाश कस्बे को दिया गया ज्ञापन

भारतीय किसान संघ के द्वारा एसडीएम प्रकाश कस्बे को दिया गया ज्ञापन

शाजापुर (मनोज हांडे) - सुजालपुर आज दिनांक 19 अगस्त 2021 को शुजालपुर कृषि मंडी प्याज लशन आलू नीलामी के बाद आने वाली समस्याओं को लेकर तहसील सुजालपुर भारतीय किसान संघ के द्वारा एसडीएम महोदय प्रकाश कस्बे को ज्ञापन दिया गया जिसमें प्याज लहसुन कृषि उपज मंडी शुजालपुर शहर में नीलामी के समय जो वस्तु की नीलामी होती है उसी भाव पर इनामी पर्ची बनती है परंतु व्यापारी के तोल कांटे पर किसान अपनी उपज लेकर जाता है तो वहां पर हल्का माल बताकर आए दिन विवाद होते हैं और किसान को मजबूरन कम भाव पर माल तो तुलवाने पर मजबूर किया जाता है जिसके कारण किसान एवं व्यापारियों में आए दिन विवाद होता रहता है

 इसी प्रकार कल दिनांक 18 अगस्त 2021 को जामनेर के कृषक कमल पिता ओमप्रकाश पाटीदार का प्याज नीलामी में 1672rs प्याज नीलाम हुआ था परंतु मंडी कर्मचारी द्वारा 1652 रुपए की नीलामी पर्ची बना दी गई जबकि भाव पर्ची में 1672 प्रति कुंटल का भाव दर्ज किया गया एक ही भाव किसान ने जब  पर्ची में सुधार करने को कहा तो उसे डरा कर भगा दिया गया किसान ने पर्ची में सुधार करने का कहा तो व्यापारी द्वारा मना किया गया मैंने इस भाव में प्याज नहीं खरीदा गया है व्यापारी द्वारा दबाव डालकर फिर से नीलामी की गई जिसमें 1550 का जानबूझकर कम भाव लगाया गया किसानों का विरोध करने पर मंडी कर्मचारियों द्वारा समझौता कराकर 1925 के भाव पर किया गया 

आए दिन ऐसी घटना से भारतीय किसान संघ के कार्यकर्ताओं में आक्रोश है व्यापारी दोनों एक गाड़ी के पहिए हैं संयोग बना  रहेगा इसमें भारतीय किसान संघ प्रशासन से निम्न मांगों को लेकर ज्ञापन प्रस्तुत है

1 व्यापारी पारदर्शिता के साथ नीलामी के समय यदि व्यापारी चाहे तो किसानों का माल अपनी सुविधा के अनुसार चाहे कोई से भी पांच कट्टे खाली करवा कर नीलामी करवाई जावे इसके बाद किसान व व्यापारियों को इसी पर्ची पर खरीदी बिक्री का अधिकार दिया जाए

2नीलामी पर्ची  बनने के बाद किसान की कोई जिम्मेदारी नहीं होगी पूरी जिम्मेदारी व्यापारी की रहेगी व्यापारी को उसी पर्ची के भाव से मॉल अनिवार्य रूप से तलवाना पड़ेगा

3 शुजालपुर मंडी मैं किसान का माल तोलते समय इलेक्ट्रिक कांटो में किलो के बाद ग्राम रहता है जैसे 100 से 900 ग्राम व्यापारियों द्वारा उस ग्राम का वजन कट्टे के पूरे तोल में नहीं जोड़ा जाता है जिससे किसानों को हर कट्टे पर 500 से 800 ग्राम का नुकसान होता है जबकि जिले की सभी मंडियों में ग्राम को इकाई मानकर 

किलो के बाद आने वाले ग्राम का भी वजन जोड़ा जाता है अतः मंडी में व्यापारियों को सख्त आदेश दिया जाए कि किलो के बाद आने वाले ग्राम को भी वजन में जोड़ा जाए

यह जानकारी जिला मीडिया प्रभारी मुकेश पाटीदार ने दी

Post a Comment

0 Comments