आपका परफारमेंस तभी अच्छा माना जाएगा जब ज्यादा से ज्यादा युवाओं को रोजगार दिला सकेंगे | Apka performens tabhi achcha mana jaega jab jyada se jyada yuvao ko rozgar dila sakenge

आपका परफारमेंस तभी अच्छा माना जाएगा जब ज्यादा से ज्यादा युवाओं को रोजगार दिला सकेंगे

कलेक्टर ने बैठक में महाप्रबंधक उद्योग को दिए निर्देश

आपका परफारमेंस तभी अच्छा माना जाएगा जब ज्यादा से ज्यादा युवाओं को रोजगार दिला सकेंगे

रतलाम (यूसुफ अली बोहरा) - आपका परफारमेंस तभी अच्छा माना जाएगा जब आप रोजगार मेलों के माध्यम से अधिकाधिक बेरोजगार युवाओं को रोजगार दिला सकेंगे। यह निर्देश कलेक्टर श्री कुमार पुरुषोत्तम ने महाप्रबंधक उद्योग श्री मुकेश शर्मा को समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक में दिए। कलेक्टर ने श्री शर्मा को उद्योगपतियों से संपर्क करके उनकी व्यापक सहभागिता रोजगार मेलों में कराने के निर्देश दिए जिससे ज्यादा युवाओं को रोजगार मिले।

कलेक्टर द्वारा बैठक में विभिन्न विभागों की समीक्षा की गई। बैठक में उपस्थित लगभग प्रत्येक अधिकारी से उसके विभाग द्वारा संचालित कार्यों की जानकारी प्राप्त की। टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के श्री वर्मा को निर्देश दिए कि सिर्फ स्वीकृति जारी करने तक सीमित नहीं रहे, आगे मौका निरीक्षण तथा अन्य कार्रवाई भी देखें। आबकारी विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया कि जिले में किसी भी स्थिति में अवैध अथवा जहरीली शराब नहीं बिके। इसके लिए जिले में तैनात संबंधित निरीक्षकों की सीधी-सीधी जिम्मेदारी है। साथ ही जिला अधिकारी भी जिम्मेदार रहेंगे। जावरा में पकड़ी गई शराब फैक्ट्री के लिए जो भी जिम्मेदार है उसके विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है।

लोक निर्माण विभाग को शहर में उनकी खराब सड़कों की तत्काल मरम्मत के निर्देश दिए गए। अमृत सागर तालाब वाले रोड की दुरुस्ती कार्य किए जाने की जानकारी लोक निर्माण विभाग द्वारा दी गई। कलेक्टर ने निगमायुक्त श्री सोमनाथ झारिया को निर्देशित किया कि खराब सड़कों की मरम्मत तत्काल की जाए, इसमें कोई इंतजार नहीं करें। निगमायुक्त को यह भी निर्देशित किया कि शहर में बड़ी संख्या में बगैर ठेले के स्वरोजगार करने वाले स्ट्रीट वेंडर्स है उनको ठेलागाड़ी दिलवा दी जाए। ऐसे लगभग 4 से 5 हजार स्ट्रीट वेंडर होंगे जिनके पास ठेलागाड़ी नहीं है और वे किराए की ठेलागाड़ी से अपना काम धंधा करते हैं। कलेक्टर द्वारा मुख्यमंत्री स्ट्रीट वेंडर योजना से प्रकरण बनाकर ठेला गाड़ी दिलवाने के निर्देश दिए गए।

निगम आयुक्त द्वारा बताया गया कि प्रधानमंत्री स्वनिधि के 400 प्रकरण बैंकों में प्रस्तुत है। कलेक्टर ने जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक को प्रकरणों में तत्काल स्वीकृति जारी करने के निर्देश दिए। निगमायुक्त ने यह भी बताया कि स्ट्रीट वेंडर योजना में शहर के 27 ऐसे स्ट्रीट वेंडर के प्रकरण बैंकों में लगाए गए हैं जिनके द्वारा पूर्व में ली गई 10 हजार रूपए की राशि चुका दी गई है, अब उन्हें दुगनी राशि 20 हजार रूपए का लोन दिया जाना है। सीएम ग्रामीण स्ट्रीट वेडर योजना की समीक्षा में जिला समन्वयक श्री हिमांशु शुक्ला को निर्देशित किया कि फील्ड में जाकर योजना क्रियान्वयन का निरीक्षण करें।

कोरोना वैक्सी नेशन की समीक्षा में कॉलेज प्राचार्य श्री संजय वाते ने बताया कि रतलाम के आर्ट्स एंड साइंस कॉलेज में 450, गर्ल्स कॉलेज में 242, जावरा कॉलेज में 490 तथा सैलाना कॉलेज में 50 स्टूडेंट का वैक्सीनेशन, कैंप में किया गया है। बताया गया कि शहर में प्राइवेट स्कूलों में भी स्टाफ का वैक्सीनेशन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन की भी समीक्षा की गई। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, विद्युत वितरण कंपनी, शहरी विकास अभिकरण तथा स्वास्थ्य विभाग को परफारमेंस में सुधार के निर्देश दिए गए। उक्त विभागों को 80 से लेकर 90 अंक तक लाने के लिए निर्देशित किया गया।

सैलाना नगर पालिका अधिकारी के बैठक में देर से पहुंचने पर कलेक्टर ने सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए उनका एक दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए। मध्यप्रदेश रोड डेवलपमेंट कारपोरेशन की सड़क पर बरसात में गड्ढे पड़ जाने पर कलेक्टर द्वारा आरडीसी के अधिकारी के प्रति सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा गया कि वे  स्वतः संज्ञान क्यों नहीं लेते हैं। सड़क खराबी संबंधी खबरें छपने का इंतजार क्यों करते हैं। टोल ऑपरेटर से तत्काल सड़कें दुरुस्त करवाएं। कलेक्टर ने झाबुआ रोड पर लगाए गए टोल की लोकेशन चेंज करने के निर्देश भी दिए। वर्तमान लोकेशन से ग्रामीणजनों को परेशानी हो रही है।

कलेक्टर ने निगमायुक्त को निर्देशित किया कि रतलाम शहर में साइबर हब स्थापना के लिए एक टीम गुड़गांव भेजी जाए जो वहां साइबर हब का अध्ययन कर रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। इस टीम में डिप्टी कलेक्टर सुश्री शिराली जैन तथा निगम के इंजीनियर सम्मिलित रहेंगे। बैठक में कलेक्टर द्वारा कोरोना थर्ड वेव आशंका संबंधी तैयारियों की भी समीक्षा की गई। जिला चिकित्सालय के आईसीयू में 20 बैड तैयार किए जा रहे हैं, बाल चिकित्सालय में 50 बेड तथा एमसीएच में 30 बेड की तैयारी की जा रही है। बाल चिकित्सालय में आगामी एक सप्ताह में कार्य पूर्ण किए जाने का प्रयास किया जा रहा है।

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News