नन्हे शावक को जंगल से थैले में भरकर लाया घर, वनविभाग ने शावक को सुरक्षित माँ के पास पहुँचाया | Nanhe shavak ko jungle se thele main bharkar laya ghar

नन्हे शावक को जंगल से थैले में भरकर लाया घर, वनविभाग ने शावक को सुरक्षित माँ के पास पहुँचाया

नन्हे शावक को जंगल से थैले में भरकर लाया घर, वनविभाग ने शावक को सुरक्षित माँ के पास पहुँचाया

हर्रई (रत्नेश डेहरिया) - पूर्व वन परिक्षेत्र हर्रई में एक नन्हें शावक को एक ग्रामीण द्वारा जंगल से थैले में भरकर घर लाने की सूचना मिलते ही वन विभाग ने मौके पर पहुंचकर पूछताछ के बाद नन्हें शावक को अपनी मां के पास सुरक्षित भेज दिया। जानकारी के मुताबिक ग्राम धाधरा निवासी जयवंत सिंह पिता विपतसि मरावी उम्र 30 वर्ष द्वारा थैले में भरकर एक तेंदुआ शावक का नन्हा सा बच्चा अपना घर लाया गया। जिसकी वन विभाग को जानकारी मिलने पर मौके पर समस्त अमला पहुंचा। जहां उसने बताया कि ग्राम धाधरा के सरकारी जंगल के पास ही उसका खेत है जहां सुबह 10:00 बजे के आसपास लौटते समय झाड़ी के पास तेंदुआ शावक उसे मिला। जिसके बाद वन विभाग ने नन्हें शावक को पशु चिकित्सालय हर्रई में स्वास्थ्य परीक्षण कराया। जिसमें उसकी उम्र 1 माह लगभग बताई गई वह नर शावक बताया गया। वही मादा तेंदुए की उपस्थिति के साथ जंगल में खोजे गए और प्राप्त पगमार्क की फोटोग्राफ के पश्चात दो कैमरा ट्रैप लगाकर पिंजरा लगाया गया एवं पिंजरे में नन्हे शावक को सावधानीपूर्वक रखा गया। वहीं स्टाफ द्वारा छुपकर निगरानी भी की गई। जिसके बाद रात्रि 11:00 बजे के आसपास मादा तेंदुए की आवाज आई और इसके बाद मादा तेंदुआ और नन्हा शावक जंगल की ओर जाते दिखाई दी। मौके पर लैपटॉप बुलाकर कैमरा ट्रैप का कार्ड निकाल कर जब चेक किया गया तो चार से पांच फोटो मादा तेंदुए के पिंजरे के पास पाई गई। जिसमें पूर्ण रूप से संतुष्ट हो गया की मादा तेंदुआ अपने शावक को प्राप्त कर चुकी है। इस रेस्क्यू ऑपरेशन के सफल समाप्ति की घोषणा की गई एवं वरिष्ठ अधिकारियों की इस बाबत सूचना दी गई।एसडीओ आलोक वर्मा,अमरवाड़ा,बटकाखापा, हर्रई वन परिक्षेत्र अधिकारी सहित वीरेंद्र श्रीवास्तव और आला वन कर्मचारियों, चौकीदारों की भूमिका रही।

Post a Comment

0 Comments