जलसंरचानाओं के आसपास लोगों को एकत्रित नहीं होने दें - कलेक्टर श्री जैन | Jal sanrachnao ke aspas logo ko ektrit nhi hone de


जलसंरचानाओं के आसपास लोगों को एकत्रित नहीं होने दें - कलेक्टर श्री जैन

जलसंरचानाओं के आसपास लोगों को एकत्रित नहीं होने दें - कलेक्टर श्री जैन

शाजापुर (मनोज हांडे) - जलसंसाधन, पंचायत एवं ग्रामीण विकास तथा ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के अधिकारियों को निर्देश दिये कि जलसंरचानाओं के आसपास लोगों को एकत्रित नहीं होने दें। विभागीय जलसंरचनाओं के आसपास बेरीकेट्स लगवाएं। उक्त निर्देश कलेक्टर श्री दिनेश जैन ने आज समयसीमा पत्रों की समीक्षा बैठक के दौरान दिये। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्रीमती मिशा सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती मंजूषा विक्रांत राय, डिप्टी कलेक्टर सुश्री प्रियंका वर्मा, अनुविभागीय अधिकारी श्री अजीत श्रीवास्तव, प्रभारी एसएलआर श्री अकलेश मालवीय, जिला योजना अधिकारी श्री संतोष पटेल भी उपस्थित थे। बैठक में अन्य विभागों के अधिकारियों ने वर्चुअल रूप से भाग लिया।

      बैठक में कलेक्टर श्री जैन ने जलसंसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री को निर्देश दिये कि वे विभागीय जलसंरचनाओं पर ध्यान दें। लोक निर्माण विभाग सहित अन्य सड़क निर्माण करने वाले विभागों को निर्देश दिये कि वर्षा के कारण क्षतिग्रस्त हुई पुलियाओं की मरम्मत कर उन्हें उपयोगी बनाए। कोरोना की तीसरी लहर की रोकथाम के लिए लोगों को कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन करने के लिए जागरूक करें। जिन लोगों द्वारा मास्क नहीं लगाया जा रहा है, उनके चालान बनाएं। साथ ही दुकानदारों को भी बिना मास्क लगाए आने वाले ग्राहकों को सामान नहीं देने के लिए कहें। धार्मिक स्थलों पर तय संख्या से अधिक भीड़ इकट्ठी न होने दें। जिला परिवहन अधिकारी बसों का आकस्मिक निरीक्षण करें। बिना मास्क लगाकर संचालित होने वाली बसों के चालान बनाएं। शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी बड़ी संख्या में लोग लापरवाही बरत रहे हैं। सीईओ जनपद ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन कराएं।

      इस मौके पर कलेक्टर ने 23 अगस्त को होने वाली मुख्यमंत्री कांफ्रेंस में समीक्षा के बिंदुओं से अवगत कराते हुए सभी अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री कांफ्रेंस में शामिल बिंदु माफियाओं के विरूद्ध कार्रवाई के संबंध में कलेक्टर ने निर्देश दिये कि ऐसे लोगों को चिंहित करें जो अपराधी हैं और उनके द्वारा शासकीय भूमि पर अवैध कब्जा किया हुआ है। ऐसे लोगों के विरूद्ध राजस्व विभाग कार्रवाई करें। महिला एवं बाल विकास तथा स्वास्थ्य विभाग मातृ मृत्यु दर कम करने के लिए स्पष्ट कार्ययोजना बनाएं। सार्वजनिक वितरण प्रणाली में कालाबाजारी रोकने के लिए अनुविभागीय अधिकारी एवं तहसीलदार सूचना तंत्र बनाएं और गड़बड़ी करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई करें। जिला आपूर्ति अधिकारी सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत विगत एक वर्ष में राशन की उपलब्धता एवं वितरण की स्थिति की जानकरी दें। बुजुर्गों एवं दिव्यांगों को घर पर ही राशन वितरण करवाएं। 07 अगस्त को होने वाले "अन्न उत्सव" की तैयारी करें। राजस्व अधिकारी अवैध कॉलोनियां विकसित नहीं होने दें। क्षेत्र के पटवारियों से सतत् जानकारी लेते रहें। अवैध रूप से गौवंश, खनिज एवं मदिरा परिवहन करने वालें माफियाओं के विरूद्ध कार्रवाई करें। स्वास्थ्य विभाग मिलावट से "मुक्ति अभियान" का क्रियान्वयन कराएं। आबकारी विभाग अवैध शराब विक्रय की रोकथाम के लिए कार्रवाई करें। जलजीवन मिशन के कार्यों की गुणवत्ता का टीम बनाकर निरीक्षण कराएं। इसी तरह जिन कक्षाओं के लिए विद्यालय प्रारंभ किया जा रहा है, से संबंधित शिक्षकों का प्राथमिकता से कोरोना वैक्सीनेशन कराएं। आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग एवं नगरीय निकाय विशेष अभियान चलाए। अंकुर अभियान के तहत सभी विभाग दिये गये लक्ष्यों की पूर्ति कर "वायुदूत एप" पर अपलोड करें। "एक जिला एक उत्पाद योजना" के तहत बैंको में लगे प्रकरणों का निराकरण उद्यानिकी विभाग करवाएं।

      इस अवसर पर जिला पंचाय‍त सीईओ श्रीमती सिंह ने प्रधानमंत्री आदर्श गाम योजना से संबंधित विभागों से ग्रामों में किये गये कार्यों के सर्टिफिकेट् उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। साथ ही कक्षा 01 में अशासकीय से शासकीय विद्यालयों में नामांकन एवं कोरोना कॉल के दौरान ड्रापआउट बच्चों की जानकारी एकत्रित करने के लिए शिक्षा विभाग को निर्देश दिये।

Post a Comment

0 Comments