पीड़ित को तत्काल उपचार मिले, सिस्टम को मजबूत बनाए | Pidit ko tatkal upchar mile system ko majbut banaye

पीड़ित को तत्काल उपचार मिले, सिस्टम को मजबूत बनाए

जिला कोविड प्रभारी मंत्री श्री देवड़ा ने बैठक में दिए निर्देश

पीड़ित को तत्काल उपचार मिले, सिस्टम को मजबूत बनाए

रतलाम (यूसुफ अली बोहरा) - रतलाम प्रदेश के वित्त एवं रतलाम जिला कोविड प्रभारी मंत्री श्री जगदीश देवड़ा ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में निर्देश दिए कि कोविड-19 के तहत उपचारित पीड़ितों को तत्काल उपचार मिले। हमारे सिस्टम इतना मजबूत हो कि प्रत्येक पीड़ित को संतोष हो और उसके परिजनों को भी पीड़ित से संबंधित जानकारी समय पर मिल सके। उन्होंने कहा कि संकट के समय हम सब एक साथ हैं। प्रदेश सरकार हर संभव सहायता उपलब्ध करवा रही है। चिकित्सा व्यवस्था के लिए राशि की कोई कमी नहीं है। दवाईयां जितनी आवश्यकता हो तत्काल उपलब्ध कराई जा रही है इसलिए हम इस संकट के समय में बेहतर समन्वय से कार्य करें। बैठक में सांसद श्री गुमान सिंह डामोर, विधायक रतलाम शहर श्री चैतन्य काश्यप, विधायक जावरा डॉ. राजेंद्र पांडे, विधायक रतलाम ग्रामीण श्री दिलीप मकवाना, कलेक्टर श्री गोपालचंद्र डाड, जिला पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी, श्री राजेंद्र सिंह लुनेरा, श्री ईश्वर लाल पाटीदार, श्री शांतिलाल पाटीदार, श्री राजेंद्र पाटीदार, श्री मनोहर पोरवाल सहित संबंधित अधिकारी मौजूद थे।


          प्रभारी मंत्री श्री देवड़ा ने कहा कि इस समय हमें एक परिवार के रूप में कार्य करना है। प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री जी काफी मेहनत कर रहे हैं। हर जिले को पर्याप्त राशि भी उपलब्ध करवाई गई है। आवश्यक दवाईयां भी तत्काल उपलब्ध करवाई जा रही है। हमें संक्रमण की चेन को तोड़ना है इसलिए जरूरत इस बात की है कि हम काम करने वाले लोगों का मनोबल बढ़ाएं, अपनी व्यवस्था को बेहतर बनाएं ताकि किसी को भी असंतोष ना हो। मरीजों के लिए वार्ड में पर्याप्त सुविधाएं हो, मरीजों के परिजनों को बाहर मरीजों से संबंधित जानकारी उपलब्ध करवाई जाती रहे ताकि उन्हें किसी प्रकार का और असंतोष ना रहे। श्री देवड़ा ने कहा कि मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाओं के संबंध में आवश्यक सभी कमियों की पूर्ति 2 दिन में की जाए। मेन पावर बढ़ाने के लिए भी उन्होंने निर्देश दिए। जिन दवाइयों की अत्यंत आवश्यकता है उन्हें सूचीबद्ध कर दवाओं की तत्काल आपूर्ति की जाए। श्री देवड़ा ने कहा कि संवाद में किसी प्रकार की कमी ना रखी जाए जो भी परेशानी हो उसे तत्काल बताई जाए।


बैठक में सांसद श्री गुमान सिंह डामोर ने कहा कि जो रिपोर्ट रिजेक्ट हो रही है उनका भी परीक्षण किया जाना चाहिए ताकि संबंधित को यह पता चले कि उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव है या नेगेटिव। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन कार्यक्रम को जारी रखा जाए ताकि अधिक से अधिक लोग वैक्सीनेशन करवा सके।


शहर विधायक श्री चेतन्य काश्यप ने कहा कि वार्ड में भर्ती मरीजों को परेशानी संबंधी शिकायतों का निवारण किया जाए। जो डॉक्टर राउंड पर है उसकी जानकारी भी मरीजों को दी जाए ताकि मरीजों को डॉक्टर से किसी तरह की सलाह की आवश्यकता है या कोई तकलीफ है तो उन्हें तत्काल बता सके। उन्होंने कहा कि मरीज से परिजन नहीं मिल पा रहा है इससे अधिक परेशानी होती है इसलिए व्यवस्था को इस प्रकार सुनिश्चित करें कि परिजनों को पीड़ित से संबंधित पूर्ण जानकारी मिल सके।


जावरा विधायक डॉक्टर पांडे ने कहा कि मरीज वार्ड में अपने आपको अकेला ना समझें इसके लिए ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर, नर्स, वार्ड बॉय, लगातार राउंड पर रहे। जहां जिस मरीज को जैसी आवश्यकता हो उसका समाधान किया जाए।


          विधायक रतलाम ग्रामीण श्री दिलीप मकवाना ने कहा कि मेडिकल कॉलेज में मरीजों को बेहतर उपचार मिले और भर्ती होने के तुरंत बाद उनका इलाज सुनिश्चित हो यह व्यवस्था बहुत जरूरी है।


          बैठक में मौजूद मेडिकल कॉलेज डीन डॉ. शशि गांधी, अधीक्षक डॉ. जितेंद्र गुप्ता, सीएमएचओ डॉक्टर प्रभाकर ननावरे को समस्त व्यवस्थाएं 2 दिन में पूर्ण करने के निर्देश दिए गए। प्रारंभ में रतलाम जिले में कोविड-19 के तहत अब तक किए गए कार्यों की जानकारी दी गई।

Post a Comment

0 Comments