भगवान राम ने मर्यादा का पाठ पढ़ाया था, विपदा का यह समय मर्यादा में रहने का है | Bhagwan raam ne maryada ka path padhaya tha

भगवान राम ने मर्यादा का पाठ पढ़ाया था,  विपदा का यह समय मर्यादा में रहने का है 

यशुदास एंड मुकेश फैंस क्लब की राज्यस्तरीय सुगम संगीत प्रतियोगिता मैं मुख्य अतिथि विश्वदीप मिश्रा ने कहा 

भगवान राम ने मर्यादा का पाठ पढ़ाया था,  विपदा का यह समय मर्यादा में रहने का है

मनावर (पवन प्रजापत) - भगवान श्री राम का पूरा जीवन चरित्र मर्यादा से परिपूर्ण था। कोरोना महामारी के विपदा के इस समय हमें पूरी तरह अपनी मर्यादा का ध्यान रखकर कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना है। मर्यादा के पालन से ही हम कोरोना संक्रमण से बच सकते हैं। गीत संगीत तनाव को दूर करने का श्रेष्ठ माध्यम है । उक्त संबोधन रामनवमी के उपलक्ष्य में यशुदास एंड मुकेश फैंस क्लब द्वारा कोरोना जागरूकता को लेकर आयोजित ऑनलाइन राज्य स्तरीय संगीत प्रतियोगिता में मुख्य अतिथि स्वच्छता ब्रांड एंबेसडर नपा मनावर व सामाजिक कार्यकर्ता विश्वदीप मिश्रा ने दिए ।

कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि विश्वदीप मिश्र, किशोर कुमार बागेश्वर और जुगल किशोर निरवेल ने दीप प्रज्ज्वलित कर की । अतिथियों का स्वागत ओम धुले,समीर खान, प्रफुल्ल सोनी और राजा पाठक ने किया । मुख्य अतिथि मिश्रा ने सभी से कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाने के साथ 2 गज की दूरी मास्क और सैनिटाइजर के उपयोग की बात कही।

कार्यक्रम में गायक कलाकारों ने एक से बढ़कर एक उम्दा गीतों की प्रस्तुति देकर कोरोना के तनाव को दूर करने का प्रयास किया।निर्णायक मंडल के हेमराज पिपलाद,सुनील खारोल, अनिल मांडगे, भूपेंद्र डोंगरे, तथा गणेश कुशवाह ने मोहिनी जोशी सेंधवा , आनंद सिंह सोलंकी अमझेरा को प्रथम, एडवोकेट प्रवीण शर्मा राजगढ़ का द्वितीय व तृतीय स्थान पर राकेश अत्रे सिंघाना का चयन किया । कार्यक्रम में , कैलाश काग अजंदा, , डॉ मनीष सेन मनावर, मुकेश मेहता सिंघाना, सागर सक्सेना मनावर,दीपनयन बोर्डिया, अनिल जायसवाल पलसूद आदि ने भी उत्कृष्ट प्रस्तुति दी । प्रतियोगिता के विजेताओं को ट्राफी देकर सम्मानित किया जाएगा।  आभार क्लब के गणेश शिंदे ने माना ।

Post a Comment

0 Comments