शिव बारात में सारा शहर भक्ति में जय कारे के नारे लगाकर शिवजी की बारात निकाली गई | Shiv barat main sara shahar bhakti main jay kare ke nare lagakar shivji ki barat nikali gai

शिव बारात में सारा शहर भक्ति में जय कारे के नारे लगाकर शिवजी की बारात निकाली गई

शिव बारात में सारा शहर भक्ति में जय कारे के नारे लगाकर शिवजी की बारात निकाली गई

बालाघाट (देवेंद्र खरे) - हर साल की तरह इस वर्ष भी शिवभक्तों द्वारा महाशिवरात्रि की पूर्व संध्या पर शिव बारात निकाली गई. हनुमान चौक में पुराने श्रीराम मंदिर और नवेगांव से निकाली शिवबारात के संगम उपरांत हनुमान चौक से शिवबारात शहर के मुख्य मार्ग से होते हुए शंकरघाट भगवान शंकर के मंदिर पहुंची. जहां विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमो का आयोजन किया गया. शिवबारात में देश की अलग-अलग संस्कृतियों के रंग झांकियों के रूप में नजर आयें. इसके अलावा शहर के विभिन्न स्थानों से निकाली गई शिवबारात, विशाल शिवबारात का हिस्सा बनी. शिवबारात में शिवभक्त समाजसेवी संयोग कोचर, डाली दमाहे, विजय कोठारी, अंजु कसार, मलंग बाबा, हितेश माहुले सहित अन्य युवा साथी और शहर के शिवभक्त युवा, पुरूष, महिलायें, युवती और बुजुर्ग बड़ी संख्या में शिव बारात में बाराती बने नाचते हुए शिवभक्ति में डूबे नजर आये.  

शिव बारात में सारा शहर भक्ति में जय कारे के नारे लगाकर शिवजी की बारात निकाली गई

महाशिवरात्रि की पूर्व संध्या पर भगवान शिव की बारात नगर के पुराने श्रीराम मंदिर से पालकी में भगवान भोलेनाथ की शोभायात्रा के साथ निकाली गई. जो पूर्व वर्षो की तरह ही अपने गंतव्य मार्ग से हनुमान चौक पहुंची. जहां नवेगांव मंदिर से आने वाली शिव बारात का संगम होने के उपरांत एकस्वरूप होकर शिव बारात शहर के नया सराफा चौक, नावेल्टी हाउस चौक, सुभाष चौक, महावीर चौक, राजघाट चौक, काली पुतली चौक, जयस्तंभ चौक, रानी अवंतीबाई चौक से होकर वैनगंगा नदी के तट के शंकरघाट स्थित शिवमंदिर में पहुंची. जहां देश और प्रदेश की सुख, शांति और कोरोना महामारी से मुक्ति की भगवान भोलेनाथ से प्रार्थना की गई.

Post a Comment

0 Comments