संत सिंगाजी पावर परियोजना का ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने किया औचक निरीक्षण | Sant singaji pawar pariyojna ka urja mantri pradhyuman singh tomar ne kiya ochak nirikshan

संत सिंगाजी पावर परियोजना का ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने किया औचक निरीक्षण

नायक फिल्म के अनिल कपूर की तरह बगेर लाव लश्कर के रात मे मारी एंट्री परियोजना मे मचा हड़कंप

महीनो से विद्युत इकाइयां बंद होने पर कंपनी को 2836करोड़ 12 लाख 17 हजार 915 रुपये की उत्पादन हानि हुई ।

24 मार्च को किया जाना था इकाई नंबर 4 का लाइटअप वाटर केमेस्ट्री एवं पंप मे आई खराबी से नही हो रहा था लाइटअप

शनिवार रात को मंत्री के निर्देश पर किया गया लाइटअप रविवार सुबह चिमनी ने छोड़ा धुंआ

संत सिंगाजी पावर परियोजना का ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने  किया औचक निरीक्षण

बीड/खंडवा (सतीश गम्बरे) - संत सिंगाजी पावर परियोजना मे शुक्रवार रात करीब 10 बजे प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने एकाएक नायक फिल्म के अनिल कपूर की तरह परियोजना के मेन गेट से एंट्री मारी और सीधे कोल हेंडलिंग प्लांट पहुचे अपनी कर्मठता एवं कार्यशैली के अनुरूप वे मजदूरो को लेकर रेल की पटरियों पर बैठ गए । अपना परिचय देकर मजदूरो से  चर्चा कर उनकी समस्या पूछी । परियोजना के अधिकारीयो जैसे ही खबर मिली दौडे दौडे मंत्री जी के पास पहुचे रात 2 बजे तक परियोजना का निरीक्षण किया वे परियोजना मे करीब 24 घंटे से भी ज्यादा रुके एम पी पी जी सी एल एवं एल एंड टी पावर कंपनी के साथ शनिवार रात को मीटिंग की कड़क लहजे मे एल एंड टी के अधिकारियो को हिदायत दी  कहा की हमारा यह पहला सुपर क्रिटिकल प्लांट था हमे कम जानकारी थी आपने तो कई परियोजना का निर्माण किया है जब पूरी मशीने लगी नही थी तो इकाई से बिजली उत्पादन जल्दबाजी मे क्यो शुरू किया अब ऐसी गलती दोबारा मत करना वही सात महीने से बंद पड़ी इकाई नंबर चार का लाइटअप 23 मार्च को प्रस्तावित था लेकिन वाटर केमेस्ट्री एवं पंप मे आई खराबी को लेकर यूनिट चालू नही की जा रही थी जिसे शनिवार रात 12 बजकर 22 मिनट पर लाइटअप कराकर ही मंत्री वापस लौटे परियोजना के वरिष्ठ अधिकारियो ने कहा की वर्षो से नौकरी कर रहे हे लेकिन ऐसा मंत्री अब तक नही देखा जिसने इतना समय देकर बारीकी से सभी पहलुओ को समझा मंत्री जी के साथ  पूरा दिन क्षेत्रीय  विधायक नारायण पटेल भी मौजूद रहे ॥

संत सिंगाजी पावर परियोजना का ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने  किया औचक निरीक्षण

    विदित होकी नव निर्मित परियोजना की 1320 मेगावाट की इकाई नंबर तीन एवं चार की टरबाइन टूटने से इकाइयां करीब सात माह से बंद पड़ी थी जिसका मामला विधान सभा मे भी उठ चुका है जिनके बंद रहने से एम पी पी जी सी एल को अब तक करीब  दो हजार  आठ सौ छहत्तीस करोड़ बारह लाख सत्रह हजार नौ सौ पंद्रह रुपये की उत्पादन हानि उठानी पड़ी वही विद्युत नियामक आयोग द्वारा दिए गए टारगेट से परियोजना आधा ही उत्पादन कर सकी और परियोजना का पी एल एफ मात्र 47 प्रतिशत ही रहा और पूरी कंपनी ने इस वर्ष पिछले वर्ष की तुलना मे कम बिजली उत्पादन किया  ॥

मंत्री जी के जाते ही रविवार को सी एच पी के स्क्रेप यार्ड मे लगी आग

ऊर्जा मंत्री के परियोजना से रवाना होते ही रविवार दोपहर को अचानक अज्ञात कारणो से  कोल हेंडलिंग प्लांट के स्रेप यार्ड मे आग लग गई जिसमे रखे गेर बाक्स .बेल्ट सहित कई कीमती समान जलकर राख हो गया सूत्रो के अनुसार नया सामान भी जला है जो कुछ दिनो पूर्व ही आया है  आग इतनी भीषण थी की फायर फाईटर को भी 2 घंटे से ज्यादा समय लगा आग पर काबू पाने के लिए गौरतलब है की आग कैसे लगी अब इसकी भी जांच चलेगी जबसे प्लांट बना है स्क्रेप की रिपोर्ट मुख्यालय भेजी ही नही जाती अब कितना जला और कितना एडजस्ट किया  इसकी जांच कौन करेगा ॥ ॥ ॥ ॥

Post a Comment

0 Comments