बिजुर में श्रीमद् भागवत कथा जी का आयोजन | Bijur main shrimad bhagwat katha ji ka ayojan

बिजुर में श्रीमद् भागवत कथा जी का आयोजन

बिजुर में श्रीमद् भागवत कथा जी का आयोजन

केसूर (अनिल परमार) - ग्राम बिजुर में आयोजित सात दिवसीय श्रीमद भागवत कथा के पहले दिन भव्य कलश यात्रा निकाली गई। दर्जनों की संख्या में महिलाएं सिर पर कलश धारणकर शामिल हुई। भक्ति गीतों के बीच  आकर्षण का केंद्र रहा। विभिन्न मार्गों से होकर गुजरी शोभायात्रा में लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। भागवत कथा मे पं जितेंद्र पाठक भागवत आचार्य पाल काँकरिया वाले ने कहा कि धर्म और संस्कृति की रक्षा के लिए भगवतप्रेमियों के बीच सत्संग जरूरी है। 

बिजुर में श्रीमद् भागवत कथा जी का आयोजन

आचार्य ने कहा कि भागवत कथा की कथाएं अनंत है। जिसके सुनने के लिए हमारा जीवन भी कम पड़ जाएगा इस मौके पर आस पास के गाँव के तमाम लोग मौजूद रहे।

इस मौके पर आस पास के गाँव के केशुर सादलपुर  पेमलपुर कलमेर चांदेर सगडोद के तमाम लोग मौजूद रहे।

धार क्षेत्र ग्राम बिजुर में श्रीमद् भागवत कथा जी का आयोजन 

कथा आरंभ के पूर्व निकली शोभायात्रा 

सैकड़ों की संख्या में भक्तगण हो रहे शामिल

पंडित जितेंद्र पाठक सुना रहे हैं भक्तों को कथा

सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन

बिजुर में श्रीमद् भागवत कथा जी का आयोजन

ग्राम बिजुर के जागेश्वर शिव मंदिर  पास में इन दिनों सात दिवसीय श्रीमद भागवत ज्ञान यज्ञ सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है कथा आरंभ के पूर्व नगर में विशाल शोभायात्रा निकाली गई यहां  भागवत ज्ञाता पंडित जितेंद्र पाठक भक्तों को  7 दिनों तक श्रीमद् भागवत कथा का रसपान कराएंगे ।

कथा के पहले दिन सोमवार को व्यासपीठ का पूजन  करके समस्त गांव वासियों  द्वारा बैंड बाजे एवं भगवान कृष्ण के भजन  के साथ  गांव की मातृशक्ति द्वारा लाल वस्त्र धारण करके  सिर पर कलश लेकर गांव में चल समारोह निकाला गया! चल समारोह का बिजुर गांव के विभिन्न मार्गों पर स्वागत किया गया ! भागवत कथा वाचक  पं जितेंद्र पाठक भागवत आचार्य पाल काँकरिया वाले की मधुर वाणी से भक्तों को कथा का रसपान कराया जा रहा है। कथा के पहले दिन कथावाचक श्री पाठक ने भक्तों को कथा के माध्यम से धर्म के प्रति जागरूक किया ! उन्होंने कहा की धर्म और संस्कृति की रक्षा के लिए भगवतप्रेमियों के बीच सत्संग जरूरी है। 

आचार्य ने कहा कि भागवत कथा की कथाएं अनंत है। जिसके सुनने के लिए हमारा जीवन भी कम पड़ जाएगा  ! इस मौके आसपास के गांव के भक्तगण काफी संख्या में पधारे वही बिजुर नगर वासियों ने  सभी श्रद्धालुओं से भागवत कथा में शामिल होने की अपील की है।

Post a Comment

0 Comments